S M L

आईपीएल प्लेयर रिटेंशन: जानिए क्या हैं प्लेयर रिटेंशन के पूरे नियम

हर आईपीएल फ्रैंचाइजी सिर्फ पांच ही खिलाड़ियों को रिटेन कर सकती है, जिसमें राईट टू मैच से भी खिलड़ियों को रिटेन किया जाएगा

FP Staff Updated On: Jan 04, 2018 04:12 PM IST

0
आईपीएल प्लेयर रिटेंशन: जानिए क्या हैं प्लेयर रिटेंशन के पूरे नियम

आईपीएल के नए सीजन के के लिए अब मंच सजने लगा है. बोर्ड ने नए नियमों के तहत हर टीम दो या तीन खिलाड़ियों को अपने साथ बरकरार रख सकती हैं. कौन सा खिलाड़ी किस टीम के साथ ही रहेगा इसका फैसला चार जनवरी यानी गुरूवार को होगा. हर टीम के पास पांच खिलाड़ियों को रिटेन करने का मौका होगा. गुरुवार को रिटेन हुए खिलड़ियों के अलावा टीमें ऑक्शन में राईट टू मैच कार्ड से भी खिलाड़ियों को टीम के साथ जोड़ सकती हैं. इस पॉलिसी को लेकर लोगों के दिमाग में बहुत से सवाल बने हुए हैं. जानिए कैसे काम करती है यह रिटेसन पॉलिसी क्या है राईट टू मैच कार्ड.

बढ़ गया है नीलामी का कोटा

आईपीएल टीमों को खिलाड़ियों को खरीदने के लिए खर्च होने वाले राशि इस साल 66 करोड़ रुपए से बढ़कर 80 करोड़ रुपए हो गई है. 2019 में ये रकम बढ़ाकर 82 करोड़ रुपए कर दी जाएगी वहीं 2020 में ये रकम 85 करोड़ रुपए हो जाएगी. हर टीम को अपने कोटे में कम से कम 75 प्रतिशत खर्च करना होगा.

2018 आईपीएल ऑक्शन में किसी भी खिलाड़ी की सबसे कम बोली 40 लाख रुपए तय की गई है. हर फ्रेंचाइजी अधिकतम 25 खिलाड़‍ियों को टीम में शामिल कर सकती है. टीम में अधिकतम 8 विदेशी खिलाड़ी हो सकते है. टीम में कम से कम 18 खिलाड़ी होना अनिवार्य है.

क्या है रिटेन करने के नियम

एक टीम केवल पांच ही खिलाड़ियों को रिटेनशन पॉलिसी और ‘राइट टू मैच’ कैटेगरी से रिटेन कर सकती है. टीमें दोनों में किसी भी कैटेगरी में तीन से ज्यादा खिलाड़ियों को रिटेन नहीं कर सकती. अगर दो खिलड़ी रिटेन पॉलिसी के तहत टीम में शामिल किए जाते हैं तो तीन राइच टू मैच से या तीन राइट टू मैच कार्ड से लिए जाते हैं तो टीमें बस दो ही खिलाड़ियों को रिटेनशन से शामिल कर पाएगी. राइट टू मैच से लिए जाने वाले खिलाड़ियों की घोषणा ऑक्शन के समय होगी.

अगर कोई टीम एक भी खिलाड़ी को रिटेन नहीं करती है तब भी नीलामी के वक्त उसके पास बस तीन खिलाड़ियों को राइट टू मैच के जरिए अपने साथ जोड़ने का मौका होगा.

क्या है राइट टू मैच?

'राइट टू मैच' के तहत किसी भी खिलाड़ी की जो सर्वाधिक बोली लगी हो उसके बराबर की कीमत चुका कर फ्रेंचाइजी उसे अपने साथ वापस जोड़ सकती है.

यदि फ्रेंचाइजी तीन खिलाड़ियों को रिटेन करती है तो सैलेरी कैप इस तरह होगी

पहला खिलाड़ी- 15 करोड़

दूसरा खिलाड़ी- 11 करोड़

तीसरा खिलाड़ी- 7 करोड़

यदि फ्रेंचाइजी दो प्लेयर्स को रिटेन करता है

पहला खिलाड़ी- 15 करोड़

दूसरा खिलाड़ी - 8.5 करोड़

अगर फ्रेंचाइजी एक ही खिलाड़ी को रिटेन करने का फैसला लेती है तो रिटेन हुए खिलाड़ी को अधिकतम 12.5 करोड़ रुपए मिल सकते हैं.

फ्रेंचाइजी रिटेन  किए गए खिलाड़ियो में तीन ही भारत के लिए खेल चुके खिलाड़ियों को खुद के साथ जोड़ सकती है. इसके साथ दो विदेशी खिलाड़ी और दो अनकैप्ड भारतीय खिलाड़ी ही रख सकती है.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi