S M L

IPL 2018, CSK vs MI: चेन्‍नई पर जीत ही रोहित शर्मा की मुंबई इंडियंस को बचा सकती है मुश्किलों से

मुंबई इंडियंस शनिवार को महेन्‍द्र सिंह धोनी की आगुवाई वाली टीम चेन्‍नई सुपर किंग्‍स के खिलाफ उतरेगी

FP Staff Updated On: Apr 28, 2018 05:17 PM IST

0
IPL 2018, CSK vs MI: चेन्‍नई पर जीत ही रोहित शर्मा की मुंबई इंडियंस को बचा सकती है मुश्किलों से

मुश्किल में घिरी मुंबई इंडियंस शनिवार को चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ जीत दर्ज करने के इरादे से उतरेगी, हालांकि इसके लिए उसे प्रतिद्वंद्वी टीम के लाइन अप और खिलाड़ियों की फार्म की चुनौती से पार पाना होगा.टूर्नामेंट के पहले मैच में ही चेन्‍नई सुपर किंग्‍स से एक विकेट की हार से अपने अभियान  का आगाज करने वाली मुंबई इंडियंंस के पास उस हार का हिसाब चुकता करने का मौका होगा.  मुंबई इंडियंस की टीम लगातार दो मैचों में हार के बाद विजयी लय में लौटने को बेताब होगी.

मुंबई को अब तक छह मैचों में केवल एक ही जीत मिली है, जबकि महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई वाली टीम ने छह में से पांच मैच अपने नाम किए हैं. वहीं चेन्नई को अपने मूल घरेलू मैदान से हटना पड़ा, लेकिन इसका असर उन पर नहीं पड़ा क्योंकि उन्होंने पुणे में अपना पहला मैच जीत लिया था.

टूर्नामेंट में बने रहने के लिए मुंबई के लिए जीत जरूरी    

मुंबई को अगर टूर्नामेंट में बने रहना है तो उन्हें इस मुकाबले में जीत दर्ज करनी ही होगी. सूर्यकुमार यादव को छोड़कर मुंबई के बल्लेबाज को टूर्नामेंट में रन बनाने में परेशानी हो रही है. कप्तान रोहित शर्मा भी छह में से पांच में चलने में असफल रहे और कीरोन पोलार्ड का भी यही हाल रहा है.लेकिन अगर रोहित, पोलार्ड, सूर्य, इविन लुईस और हार्दिक पंड्या एक साथ बल्लेबाजी में चल जाए तो मुंबई की टीम बड़ा स्कोर बना सकती है और बड़े लक्ष्य का भी पीछा कर सकती है.

20 रन से आगे नहीं बढ़ पाए रोहित  

राॅॅयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ 94 रन की मैच विजेता पारी को छोड़ दें तो रोहित पांच मैचों में 20 रन से आगे बढ़ने में असफल रहे. लेकिन अब वह भी कुछ रन जुटाना चाहेंगे. रोहित का बल्लेबाजी में क्रम भी अहम होगा और मुंबई इंडियंस उन्हें पारी का आगाज कराने को कह सकती है और सूर्य को चौथे नंबर पर उतार सकती है. गेंदबाजी के लिहाज से भी मुंबई इंडियंस इकाई के रूप में प्रदर्शन करने में विफल रही है. जब एक गेंदबाज ने अच्छा प्रदर्शन किया तो उसे दूसरे छोर से सहयोग नहीं मिला.

डेथ ओवर्स में उम्‍मीदों पर खरा नहीं उतर रहे बुमराह 

बीस वर्षीय लेग स्पिनर मयंक मार्कंडेय मुंबई की खोज रहे, उन्होंने अभी तक छह मैचों में 10 विकेट अपने नाम किए हैं. लेकिन अन्य गेंदबाज जैसे ‘डेथ ओवरों’ के विशेषज्ञ जसप्रीत बुमराह और बांग्‍लादेश के तेज गेंदबाज मुस्तफिजुर रहमान भी उम्मीदों पर खरा नहीं उतर सके हैं. अगर स्टार खिलाड़ियों से सुसज्जित चेन्नई सुपरकिंग्स के बल्लेबाजी क्रम को रोके रखना है तो इन दोनों को अपनी भूमिका बेहतर ढंग से निभानी होगी. मुंबई की टीम न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज एडम मिल्‍ने को हमवतन मिशेल मैक्लेनाघन की जगह उतार सकती है क्योंकि वह काफी रन लुटा रहे हैं, विशेषकर अंत में.

चेन्‍नई के बल्‍लेबाज फॉर्म में

वहीं दूसरी ओर चेन्नई की टीम पिछली जीत से आत्मविश्वास से भरी होगी, जिसमें धोनी ने शानदार पारी खेलकर राॅयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ 206 रन के विशाल लक्ष्य को हासिल कराने में मदद की. चेन्नई की टीम अपने ज्यादातर बल्लेबाजों  आॅस्ट्रेलिया के  शेन वाटसन, अम्बाती रायुडू, ड्वेन ब्रावो और धोनी के प्रदर्शन से खुश है जो फार्म में हैं. केवल सुरेश रैना ही फार्म में नहीं है और वह भी रन जुटाने के लिए बेताब होंगे.

शार्दुल ठाकुर की अगुवाई वाली चेन्नई की गेंदबाजी भी अभी तक अच्छी रही है जिसमें इमरान ताहिर और दीपक चाहर ने भी सहयोग किया है. मुंबई की टीम पर जहां जीत दर्ज करने का दबाव होगा तो चेन्नई की टीम एक और जीत से तालिका में अपना स्थान मजबूत कर लेगी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi