S M L

IPL 2018: यूं ही नहीं पहुंचे सातवें आसमान पर, कई वर्षों की मेहनत का नतीजा है- धोनी

हैदराबाद सनराइजर्स को दो विकेट से मात देकर सातवीं बार आईपीएल के फाइनल में पहुंची है चैन्नई सुपरकिंग्स

Updated On: May 23, 2018 11:55 AM IST

FP Staff

0
IPL 2018: यूं ही नहीं पहुंचे सातवें आसमान पर, कई वर्षों की मेहनत का नतीजा है- धोनी

मुंबई के वानखेडे स्टेडियम में खेले गए पहले क्वालिफायर में चेन्नई सुपरकिंग्स ने रोमांचक मुकाबले में हैदराबाद सनराइजर्स को दो विकेट से मात देकर सातवीं बार टी20 लीग  के फाइनल में एंट्री की है. स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में फंस कर दो साल की पाबंदी झेल कर वापस लौटी धोनी की इस टीम की इस वापसी को शानदार कहा जा सकता है. सीएसके सात बार बार आईपीएल के और दो बार चैंपियंस लीग के फाइनल में पहुंची है.

क्वालिफायर मुकाबले में एक वक्त ऐसा लग रहा था जब सीएसके मुकाबला हारने की राह पर जा चुकी थी लेकिन इसके बावजूद इस टीम ने जीत का बेहतरीन जज्बा दिखाते हुए फाइनल में एंट्री ली. चेन्नई के इस शानदार शो का क्रेडिट कप्तान धोनी अपने ड्रैसिंग रूम के उस माहौल को देते है जिसमें हर खिलाड़ी अपना स्वभाविक खेल दिखान के लिए तैयार रहता है.

मैच के बाद कप्तान धोनी की कहना था, ‘अगर ड्रैंसिंग रूम का माहौल ठीक नहीं हो तो फिर मैदान पर प्रदर्शन करना मुश्किल हो जाता है. हमने सालों की मेहनत से ऐसा ड्रैसिंग रूम तैयार किया है जहां किसी भी खिलाड़ी को टीम के हित मे सोचने के लिए प्रेरित किया जा सकता है.’

धोनी के इस बयान से साफ है कि आईपीएल के मौजूदा सीजन में चेन्नई की टीम के फाइनल में एंट्री कोई इत्तेफाक या तुक्का नहीं बल्कि टीम की बेहतर प्लानिंग और उसके लिए बनाए गए माहौल को अमल में लाने का ही नतीजा है. सीएसके दो बार आईपीएल का खिताब जीत चुकी है और देखना होगा कि क्या इस बार वह खिताब जीत कर मुंबई इंडियंस की तीन खिताबी जीत के रिकॉर्ड को बराबर कर पाती है या नहीं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi