S M L

IPL 2018, KXIP VS DD : अपने घर में भी हार का सिलसिला नहीं तोड़ सकी दिल्ली डेयरडेविल्स

किंग्स इलेवन पंजाब ने दिल्ली डेयरडेविल्स को चार रन से हराकर आईपीएल अंकतालिका में फिर से शीर्ष स्थान हासिल किया

Updated On: Apr 24, 2018 12:18 AM IST

FP Staff

0
IPL 2018, KXIP VS DD : अपने घर में भी हार का सिलसिला नहीं तोड़ सकी दिल्ली डेयरडेविल्स

दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान गौतम गंभीर ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैच में सोमवार को टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी और उनके गेंदबाजों ने किंग्स इलेवन पंजाब को 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 143 रनों पर ही रोक दिया. लग रहा था दिल्ली आसानी से यह लक्ष्य हासिल कर लेगी और फिरोज शाह कोटला मैदान पर अपने घरेलू अभियान की शुरुआत जीत के साथ करेगी, लेकिन हुआ इससे उलटा. दिल्ली 20 ओवरों में आठ विकेट के नुकसान पर 139 रन ही बना सकी. जिस दिल्ली के लिए गेंदबाजों ने जीत की नींव रख दी थी उसके बल्लेबाजों ने निराश किया. कम स्कोर वाले रोमांचक मैच में किंग्स इलेवन पंजाब ने दिल्ली डेयरडेविल्स को चार रन से हराकर अंकतालिका में फिर से शीर्ष स्थान हासिल किया.

श्रेयस अय्यर (57) और राहुल तेवतिया (24) ने छठे विकेट के लिए 47 रनों की साझेदारी कर दिल्ली को जीत दिलाने के लिए बेहद संघर्ष किया, लेकिन सफल नहीं हो सके. अय्यर ने 45 गेंदों में पांच चौके और एक छक्के की मदद से अर्धशतकीय पारी खेली. आखिरी ओवर में दिल्ली को 17 रनों की दरकार थी. अय्यर ने इस ओवर में एक छक्का और एक चौका लगाया. आखिरी गेंद पर दिल्ली को पांच रनों की जरूरत थी. अय्यर ने कोशिश तो पूरी की, लेकिन उनका शॉट सीधे एरोन फिंच के हाथों में गया ओर दिल्ली मैच हार गई. दिल्ली के सामने हार का क्रम तोड़ने का बेहतरीन मौका था, लेकिन उसकी पारी शुरू में लड़खड़ा गई. दिल्ली की टीम इस तरह से आठ विकेट पर 139 रन तक ही पहुंच पाई. दिल्ली की यह पांचवीं हार है, जबकि पंजाब की इतने ही मैचों में पांचवीं जीत है और वह दस अंक लेकर अंकतालिका में शीर्ष पर पहुंच गया है.

किंग्स इलेवन ने पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने पर आठ विकेट पर 143 रन बनाए. उसके चार बल्लेबाज करुण नायर (34), डेविड मिलर (26), केएल राहुल (23) और मयंक अग्रवाल (21) ने 20 की रन संख्या पार की लेकिन कोई भी बड़ी पारी नहीं खेल पाया. दिल्ली की तरफ से प्लंकेट ने 17 रन देकर तीन जबकि तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट और आवेश खान ने दो-दो विकेट लिए.

क्रिस गेल के ना खेलने से दर्शक हुए निराश

डेयरडेविल्स और विशेषकर फिरोजशाह कोटला में हमेशा अच्छा प्रदर्शन करने वाले क्रिस गेल के चोट की वजह से बाहर होने से गौतम गंभीर एंड कंपनी को राहत मिली. पिच पर अच्छा उछाल था और ऐसे में दर्शकों और पंजाब की टीम जरूर निराश हुई होगी. स्वाभाविक है कि दोनों को गेल की कमी खली, जिन्होंने पिछले तीन मैचों में एक शतक और दो अर्धशतक जमाए थे.

दिल्ली के गेंदबाजों ने किया अच्छा प्रदर्शन

दिल्ली के गेंदबाजों की तारीफ करनी होगी, जिन्होंने बल्लेबाजों को खुलकर नहीं खेलने दिया. पंजाब की टीम 15वें ओवर में तिहरे अंक में पहुंची और इस बीच उसने चार विकेट गंवाए. इसके बाद भी स्थिति नहीं सुधरी और अगले पांच ओवर में भी 43 रन ही बन पाए और इस बीच चार विकेट गिरे. दिल्ली का क्षेत्ररक्षण अच्छा होता तो पंजाब की स्थिति और खराब होती.

आवेश और प्लंकेट ने दिलाई शुरुआती सफलता

गेल की अनुपस्थिति में एरोन फिंच ने पारी का आगाज किया, लेकिन अपनी तेजी से प्रभावित करने वाले युवा तेज गेंदबाज आवेश खान ने उन्हें पारी के दूसरे ओवर में ही आसान कैच देने के लिए मजबूर किया. गेल के साथ पिछले तीन मैचों में टीम को बेहतरीन शुरुआत देने वाले राहुल ने आवेश की 145 किमी से अधिक रफ्तार से की गई गेंद को दिशा देकर फाइन लेग पर खूबसूरत छक्का जमाया. पंजाब की यह खुशी हालांकि जल्द ही काफूर हो गई. पुल करने में माहिर राहुल और अग्रवाल परिस्थितियों का फायदा नहीं उठा पाए. राहुल ने लियम प्लंकेट की ऑफ कटर पर स्कूप करने के प्रयास में गेंद हवा में लहरा दी जिसे आवेश ने शार्ट फाइन लेग पर खूबसूरती से कैच में बदला. प्लंकेट इसके बाद छोर बदलकर गेंदबाजी के लिए आए और उन्होंने अग्रवाल के विकेटों को थर्रा दिया.

डेथ ओवरों में अच्छा स्कोर खड़ा नहीं कर सके

युवराज शुरू से रन बनाने के लिए जूझते रहे. वर्तमान सत्र में तीन पारियों में 36 रन बनाने वाले बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने आवेश की रफ्तार वाली गेंद पर पुल करने के प्रयास में विकेट के पीछे कैच दिया. उन्होंने 17 गेंदों पर 14 रन बनाए. डेविड मिलर को भी छह और दस रन के निजी योग पर दो जीवनदान मिले. धीमी रन गति के कारण बल्लेबाज दबाव में थे. नायर ने ऐसे में प्लंकेट की गेंद पर लांग ऑन पर कैच थमा दिया. डेनिएल क्रिश्चियन ने अगले ओवर में मिलर को भी पवेलियन भेज दिया, जिससे पंजाब की डेथ ओवरों में अच्छा स्कोर खड़ा करने की उम्मीदें भी समाप्त हो गईं.

लगातार विकेट खोने के बाद उबर नहीं सकी दिल्ली

144 रनों से आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी दिल्ली को पदार्पण कर रहे युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने अच्छी शुरुआत दी. उन्होंने तेजी से 10 गेंदों में चार चौकों की मदद से 22 रन बनाए. इससे आगे वह जा पाते उससे पहले ही अंकित राजपूत ने उन्हें बोल्ड कर दिया. यहां से दिल्ली संभल नहीं पाई और लगातार विकेट खोने लगी. गौतम गंभीर (4), ग्लेन मैक्सवेल (12), ऋषभ पंत (4), डेनिएल क्रिस्टियन (6) जल्दी-जल्दी पवेलियन लौट लिए. दिल्ली ने 76 रनों पर ही अपने पांच विकेट खो दिए थे. यहां से अय्यर और तेवतिया ने संघर्ष किया और टीम के जीत के करीब ले जाने लगे. 123 के कुल स्कोर पर तेवतिया को एंड्रयू टाई ने पवेलियन भेज दिया. पंजाब एक बार फिर मैच में आ गया था. अंत में अय्यर का संघर्ष जाया गया और दिल्ली अपने घर में खेल रहे पहले मैच में जीत हासिल नहीं कर सकी.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi