S M L

IPL 2018 : दबाव में खेलने की चुनौती का लुत्फ उठाते हैं नीतीश राणा

राणा ने कहा कि उनकी योजना अंत तक बल्लेबाजी करने की थी

FP Staff Updated On: Apr 17, 2018 06:07 PM IST

0
IPL 2018 : दबाव में खेलने की चुनौती का लुत्फ उठाते हैं नीतीश राणा

कोलकाता नाइट राइडर्स के बल्लेबाज नीतीश राणा का मानना है कि दबाव में अच्छा प्रदर्शन करने में उन्हें लुत्फ आता है. राणा ने सोमवार को कोलकाता में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण के एक मुकाबले में दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 35 गेंदों पर 59 रन की तेज तर्रार पारी खेली. राणा और आंद्रे रसेल के 12 गेंदों पर बनाए गए 41 रन की विस्फोटक पारी की बदौलत कोलकाता ने दिल्ली को 71 रन से हरा दिया.

खुश हूं कि दबाव में अच्छा प्रदर्शन किया 

मैन आफ द मैच बने नीतीश राणा ने कहा, ‘यह हमारे लिए महत्वपूर्ण मैच था क्योंकि हमने पिछले दो मैच गंवाए थे. दबाव में मेरा प्रदर्शन बेहतर होता है. मुझे दबाव में खेलना पसंद है. यहां पर भी दबाव था और खुश हूं कि मैंने दबाव में अच्छा प्रदर्शन किया.’ मैच में पारी के बारे में पूछने पर राणा ने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि मैंने इतनी बड़ी भूमिका निभाई,  दर किसी को कोई ना कोई जिम्मेदारी दी गई है. मुझे सिर्फ इसे पूरा करना था और बाकी लोगों को भी.’

पारी को अंत तक लेकर जाना चाहता था

दिल्ली के रहने वाले राणा ने कहा कि उनकी योजना अंत तक बल्लेबाजी करने की थी. वह पारी के 19वें ओवर में आउट हुए. राणा ने कहा, ' बॉल अच्छी तरह बल्ले पर आ रही थी और मुझे पता था कि मैं अच्छी बल्लेबाजी कर सकता हूं. मेरे दिमाग में यही था कि मैं अच्छी लय में हूं और मुझे पारी को अंत तक लेकर जाना चाहिए. मुझे पता था कि जब स्पिनर गेंदबाजी करने के लिए आएंगे तो खेलना और आसान होगा. मैंने उनका इंतजार किया.'

डेयरडेविल्स के कोच श्रीराम ने कहा, काफी रन लुटाए 

नाइट राइडर्स के आंद्रे रसेल ने सिर्फ 12 गेंद में 41 रन की पारी खेली और डेयरडेविल्स के बल्लेबाजी कोच श्रीधरन श्रीराम ने कहा कि उनकी टीम ने काफी रन लुटाए और 170-180 का स्कोर प्रतिस्पर्धी होता. उन्होंने कहा, ‘उसकी पारी नीतीश राणा की पारी पर हावी रही. अगर रसेल जल्दी आउट होते तो हम उन्हें 160 से कम के स्कोर पर रोक सकते थे. रसेल ने जो किया उसकी तुलना में राणा अधिक खतरनाक नहीं होते.’ श्रीराम को मलाल है कि उनके क्षेत्ररक्षकों ने मोहम्मद शमी की गेंद पर रसेल का कैच टपकाया, जबकि वह सिर्फ सात रन बनाकर खेल रहे थे.

 

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
FIRST TAKE: जनभावना पर फांसी की सजा जायज?

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi