S M L

IPL 2018: इन पांच खिलाड़ियों ने पहली बार संभाली थी कप्‍तानी और एक ने तो खिताब के करीब पहुंचा दिया

दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के कप्‍तान श्रेयस अय्यर ने सबको अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया

FP Staff Updated On: May 27, 2018 11:04 PM IST

0
IPL 2018: इन पांच खिलाड़ियों ने पहली बार संभाली थी कप्‍तानी और एक ने तो खिताब के करीब पहुंचा दिया

आईपीएल के खिताब के लिए कुल 51 दिनों में 8 टीमें आमने-सामने हुई. हर टीम हर तरफ से मजबूत थी. टीम में विस्‍फोटक बल्‍लेबाज, आक्रामक गेंदबाज और शानदार फील्‍डर्स मौजूद थे, इसके बाद सिर्फ 4 टीमें ही क्‍वालीफाई कर पाईं और बाद में सिर्फ दो टीम के बीच खिताबी मुकाबला खेला गया. टीम को आगे तक पहुंचाने की जिम्‍मेदारी टीम के बाकी सदस्‍यों से कहीं ज्‍यादा कप्‍तान के कंधों पर होती है. जो अपनी सूझ बूझ से टीम को आगे तक ले जाते हैं. आईपीएल के इस सीजन में 8 में से 5 कप्‍तान नए थे और तीन अनुभवी थे. अनुभवी कप्‍तानों ने पूरे सीजन में अपना अनुभव दिखाया, लेकिन आईपीएल में पहली बार बतौर कप्‍तान उतरे खिलाडि़यों ने भी अपनी सूझ बूझ से सबको प्रभावित किया. रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के विराट कोहली, चेन्‍नई सुपर किंग्‍स के महेंद्र सिंह धोनी और मुंबई इंडियंस के रोहित शर्मा के पास आईपीएल में कप्‍तानी का काफी अनुभव है, वहीं राजस्‍थान रॉयल्‍स के अजिंक्‍य रहाणे, किंग्‍स इलेवन पंजाब के आर अश्चिन, दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के श्रेयस अय्यर, कोलकाता नाइट राइडर्स के दिनेश कार्तिक बतौर कप्‍तान पहली बार आईपीएल में उतरे और अपनी कप्‍तानी से सभी को प्रभावित करने में भी सफल रहे.

केन विलियमसन

न्‍यूजीलैंड के केन विलियमसन ने अपनी टीम सनराइजर्स हैदराबाद शीर्ष पायदान के साथ पहले क्‍वालीफायर में फिर फाइनल तक पहुंचाया, लेकिन अपनी टीम को सबसे मजबूत टीम बनाना उनके लिए आसान नहीं था. उतार चढ़ाव वाले कई अहम मुकाबलों में उन्‍होंने अपनी बेहतरीन समझ का प्रदर्शन किया. ग्रुप मैच में केन की अगुआई में हैदराबाद ने सबसे पहले क्वालीफाइ किया था. ग्रुप मैच में हैदराबाद ने 14 में से 9 में जीत और 5 में हार नसीब हुई थी. आईपीएल शुरू होने से पहले ही सनराइजर्स हैदराबाद को बड़ा झटका लग गया था, जब उनके कप्‍तान ऑस्‍ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर पर बॉल टेंपरिंग के कारण एक साल का प्रतिबंध लग गया और इस कारण उन्‍हें आईपीएल से भी बाहर होना पड़ा. आईपीएल शुरू होने से कुछ दिन पहले ही लगे इस बड़े झटके बाद हैदराबाद ने न्‍यूजीलैंड के केन विलियमसन को नया कप्‍तान बनाया गया.

अजिंक्‍य रहाणे

विश्‍व के बेहतरीन बल्‍लेबाजों में शामिल ऑस्‍ट्रेलिया के स्‍टीव स्मिथ के हाथों में पहले राजस्‍थान रॉयल्‍स की कप्‍तानी थी, लेकिन बॉल टेंपरिंग में फंसने के कारण एक साल का प्रतिबंध लगने पर आईपीएल के इस सीजन से भी उन्‍हें बाहर होना पड़ा और ऐसे में राजस्‍थान रॉयल्‍स को नए कप्‍तान के रूप में अजिंक्‍य रहाणे दिखाई दिए. शायद रहाणे इस जिम्‍मेदारी के लिए पूरी तरह से तैयार नहीं थे, लेकिन फिर भी बतौर कप्‍तान उन्‍होंने अपनी टीम को ग्रुप मैच से आगे तक पहुंचा दिया. जीत के साथ इस सीजन में अपने अभियान का आगाज करने वाली राजस्‍थान ने उसके बाद लगातार तीन मैच गंवाए, लेकिन उसके बाद रहाणे ने अपना कौशल दिखाया और लगातार तीन मैच जिताकर राजस्‍थान रॉयल्‍स की उम्‍मीदों को प्‍लेऑफ के लिए बरकरार रखा. रहाणे की अगुआई में राजस्‍थान एलिमिनेटर राउंड तक पहुंची, हालांकि वहां कोलकाता नाइट राइडर्स के हाथों शिकस्‍त झेलनी पड़ी. राजस्‍थान ने ग्रुप मैच में 14 में से 7 में जीत दर्ज की तो 7 में हार मिली और 14 अंकों के साथ वह इस सीजन में चौथे स्‍थान पर रही.

दिनेश कार्तिक

अपनी कप्‍तानी में कोलकाता नाइट राइडर्स को चैंपियन बनाने वाले गौतम गंभीर इस सीजन में दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के खेमे में चल गए और ऐसे में केकेआर को अपना नया कप्‍तान चुनना पड़ा, जिम्‍मेदारी आई दिनेश कार्तिक के कंधों पर और उन्‍होंने मैदान पर कप्‍तान के रूप में खुद के चयन को सही साबित भी किया. टीम को क्‍वालीफायर तक ले गए. हालांकि क्‍वालीफायर दो में केकेआर को सनराइजर्स हैदराबाद के हाथों हार झेलनी पड़ी, लेकिन कार्तिक की अगुआई में केकेआर ने शानदार किया.

Kolkata Knight Riders captain Dinesh Karthik plays a shot during the 2018 Indian Premier League (IPL) Twenty20 cricket match between Kolkata Knight Riders and Royal Challengers Bangalore at The Eden Gardens Cricket Stadium in Kolkata on April 8, 2018. / AFP PHOTO / Dibyangshu SARKAR / ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / GETTYOUT

टीम ने अपने अभियान की शुरुआत भले ही दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के खिलाफ हार से की हो, लेकिन इसके बाद केकेआर की टीम ने अपने प्रदर्शन में काफी सुधार करते हुए कभी उलटफेर करने वाली टीम बनी. कार्तिक ने इस नई जिम्‍मेदारी का असर किसी भी तरह से अपने प्रदर्शन पर नकारात्‍मक नहीं पड़ने दिया और ज्‍यादातर मैचों में कप्‍तानी पारी खेली. 16 मैचों में कार्तिक ने कुल 498 रन बनाए, जिसमें उनका सर्वश्रेष्‍ठ 52 है. कार्तिे ने इस सीजन में दो अर्धशतक जड़े. केकेआर ने ग्रुप मैचों में 14 में से 8 में जीत दर्ज की और 6 में हार मिली और कुल 16 अंकों के साथ तीसरे पायदान पर रहे.

आर अश्विन

चेन्‍नई सुपर किंग्‍स के अहम खिलाड़ी रहे आर अश्विन को किंग्‍स इलेवन पंजाब ने इस सीजन अपनी साथ शामिल किया और टीम की कमान सौंपी. अश्विन के लिए आईपीएल में यह अब तक का सबसे नया अनुभव था, लेकिन उन्‍होंने बेहतरीन तरीके से अपनी टीम का नेतृत्‍व किया और कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ जीत के साथ इस सीजन में अपने अभियान का आगाज किया. दिल्‍ली के खिलाफ पंजाब ने लगातार दूसरी जीत दर्ज की. शुरुआती दो जीत के बाद पंजाब अपनी लय से भटक गई थी और इसके बाद का सफर पंजाब के लिए मिला जुला रहा. अश्विन की आगुवाई में पंजाब ने ग्रुप मैच में 14 में से 6 में जीत और 8 में हार मिली और नीचे से दूसरे पायदान पर रही.

श्रेयस अय्यर

आईपीएल के इस सीजन में अगर किसी नए कप्‍तान ने सबसे ज्‍यादा प्रभावित किया है तो वह दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के कप्‍तान श्रेयस अय्यर ने. भले ही इनकी दिल्‍ली आईपीएल के इस सीजन में सबसे आखिरी पायदान पर रही, लेकिन अय्यर की कप्‍तानी का सबसे दबदबा माना. दिल्‍ली के आईपीएल के इस सीजन के लिए कोलकाता को अपनी कप्‍तानी में चैंपियन बनाने वाले गौतम गंभीर को कप्‍तान बनाया, लेकिन टीम उनके नेतृत्‍व में कुछ खास नहीं कर पा रही थी, यहीं नहीं गंभीर भी लय में नहीं दिखे. दिल्‍ली ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और किंग्‍स इलेवन पंजाब के खिलाफ अपने शुरुआती दो मुकाबले गंवा दिए और इससे निराश होकर गंभीर ने कप्‍तानी छोड़ दी और इसके बाद कमान आई अय्यर के हाथों में. अय्यर के नेतृत्‍व में टीम में एक नया जोश दिखाई दिया और अय्सर ने अपनी कप्‍तानी ने केकेआर के खिलाफ दिल्‍ली को इस सीजन की पहली जीत दिलाई. इस मैच में अय्यर ने नाबाद 93 रन और पृथ्‍वी शॉ ने 62 रन बनाए थे. गेंदबाजों में भी एक नई उर्जा दिखी और दिल्‍ली ने 55 रन के बड़े अंतर से इस मुकाबले को जीता. 23 साल के अय्यर की कप्‍तानी ने दिल्‍ली ने इसके बाद काफी कड़े मुकाबले खेले और मजबूत टीम को कड़ी चुनौती दी. अय्यर इस पूरे सीजन ही फॉर्म में रहे और 14 मैचों में 411 रन बनाए. जिसमें चार अर्धशतक शामिल है. नाबाद 93 रन की पारी इस सीजन में उनकी सर्वश्रेष्‍ठ पारी है. हालांकि दिल्‍ली ने आखिरी स्‍थान पर रहकर इस सीजन में अपने सफर का अंत किया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi