S M L

IPL 2018, DD vs MI: दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स ने तोड़ा मुंबई इंडियंस का सपना, दिखाया बाहर का रास्‍ता

दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स ने मुंबई को 11 रन से हराकर उनके प्‍लेऑफ में जाने की उम्‍मीदों पर भी पानी फेर दिया.

Updated On: May 20, 2018 09:20 PM IST

FP Staff

0
IPL 2018, DD vs MI: दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स ने तोड़ा मुंबई इंडियंस का सपना, दिखाया बाहर का रास्‍ता

दिल्ली डेयरडेविल्स ने ऋषभ पंत के अर्धशतक के बाद गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर मुंबई इंडियंस को 11 रन से हराकर आईपीएल के इसी सीजन के प्लेऑफ में जगह बनाने का सपना तोड़ दिया. दिल्ली ने पंत की 44 गेंद में चार चौके और चार छक्के जड़ित 64 रन की पारी की बदौलत चार विकेट पर 174 रन का स्कोर खड़ा किया. इसके जवाब में मुंबई इंडियंस की टीम 19.3 ओवर में 163 रन पर सिमट गई. उसके लिए सलामी बल्लेबाज एविन लुईस ने सर्वाधिक 48 रन जोड़े.

दिल्ली डेयरडेविल्स के अनुभवी गेंदबाज अमित मिश्रा, 17 वर्षीय संदीप लमिछने और हर्षल पटेल ने तीन-तीन विकेट झटके. ट्रेंट बोल्ट को एक विकेट मिला. मुंबई इंडियंस इस मैच में जीत से राजस्थान रॉयल्‍स और किंग्स इलेवन को पछाड़कर प्‍लेऑफ में पहुंचने वाली चौथी टीम बन सकती थी, क्योंकि उसका नेट रन रेट काफी अच्छा था.

कमजोर रही मुंबई इंडियंस की शुरुआत

मुंबई इंडियंस की शुरुआत कमजोर रही और पहले ही ओवर में फार्म में चल रहे सलामी बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव (12) का विकेट गंवा दिया. यादव ने नेपाल के लमिछने की पहली गेंद पर चौका, फिर दूसरी गेंद पर छक्‍का ज ड़ा. अगली गेंद पर दो रन जोड़े और इसके बाद लॉन्‍ग ऑन्‍ पर कैच आउट हो गए. पावरप्ले में टीम एक विकेट पर 57 रन बना चुकी थी. इसके तुरंत बाद ईशान किशन अमित मिश्रा के पहले ओवर की पहली गेंद को ऊंचा खेल गए और विजय शंकर ने इसे लपक लिया.

दो बार पोलार्ड को मिला जीवनदान

दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स के फील्‍डर्स ने हालांकि कई बार मुंबई इंडियंस के बल्‍लेबाजों को जीवदान दिया, लेकिन बल्‍लेबाज इन मौको को भुना नहीं पाए. काइरन पोलार्ड को भी दो बार जीवनदान मिला. सलामी बल्लेबाज एविन लुईस (48 रन) मिश्रा का दूसरा शिकार बने, जिन्हें विकेटकीपर पंत ने स्टंप किया. संदीप लमिछाने के ओवर में पोलार्ड गेंद को उठा बैठे, जिसे बाउंड्री लाइन पर खड़े मैक्सवेल ने इसे लपकका, लेकिन वह बाउंड्री से बाहर गिर रहे थे जिससे उन्होंने गेंद बोल्ट की ओर फेंक दी, जिन्होंने इसे कैच किया. इसी ओवर में क्रुणाल पंड्या भी पवेलियन लौट गए. इस वजह से मुंबई को स्‍कोर तीन विकेट पर 74 रन से 78 रन पर पांच विकेट हो गया. कप्तान रोहित शर्मा (13) और हार्दिक पंड्या (27) ने छठे विकेट के लिए 43 रन जोड़े, लेकिन टीम को जीत के करीब नहीं ले जा सके.

कटिंग ने की हार टालने की कोशिश

  हाथ से निकल रहे मैच को बचाने के लिए बेन कटिंग ने पूरी जान लगा दी और मैच को रोमांचक मोड़ तक पहुंचा दिया. कटिंग 37 रन ने मयंक मार्कंडेय के साथ मिलकर मैच में मुंबई की उम्‍मीद को बनाए रखे थे. टीम को 12 गेंदों पर 23 रन की जरूरत थी और कटिंग क्रीज पर मौजूद थे. लेकिन अंत में तीन विकेट गंवाने के साथ मुंबई ने मैच भी गंवा दिया.

75 रन पर दिल्‍ली ने गंवा दिए थे तीन विकेट

इससे पहले ऋषभ पंत (64) और विजय शंकर (43*) की बदौलत दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स ने मुंबई इंडियंय के सामने चुनौती पूर्ण स्‍कोर रखने में कामयाब हुई. दिल्‍ली को पहला झटका 30 रन पर पृथ्‍वी शॉ के रूप के लगा. पृथ्वी (12) और ग्लेन मैक्सवेल ने अच्छी लय में रन जुटाना शुरू किया. लेकिन मुस्तफिजुर के पहले ही ओवर में पृथ्वी बहुत आसानी से रन आउट हुए. क्रुणाल ने जब गेंद स्टंप की ओर फेंकी तो उन्होंने क्रीज पर तेजी से पहुंचने की कोशिश नहीं की और आराम से चलते हुए रन आउट हो गए. इसके बाद स्कोर में केवल आठ रन ही जुड़े थे कि मैक्सवेल (22 रन बुमराह की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए. पावरप्ले के छह ओवर में टीम दो विकेट पर 46 रन ही बना सकी. दिल्ली के दर्शकों को तब निराशा मिली जब कप्तान श्रेयस (06 रन) महज 10 गेंदों का सामना करने के बाद पवेलियन लौट गए. वह मार्कंडेय की गुगली को समझ नहीं सके और आसान कैच देकर अपना विकेट गंवा बैठे. दस ओवर के बाद दिल्ली का स्कोर तीन विकेट के नुकसान पर 83 रन था. दिल्ली डेयरडेविल्स ने 12.3 ओवर में 100 रन पूरे किए.

पंत और विजय शंकर ने दिल्‍ली को दिया सहारा

पंत ने 15वें ओवर में मुस्तफिजुर की गेंद को मिड ऑन पर छक्के के लिए भेजने के बाद अगली गेंद में दो रन जुटाए. इसी ओवर में उन्होंने अपना अर्धशतक पूरा किया, जिसके लिए उन्होंने 34 गेंद का सामना करते हुए चार चौके और दो छक्के जमाए. पंत ने इसके बाद आक्रामक होने के प्रयास में अगले ओवर में हार्दिक पंड्या की पहली गेंद को छक्के के लिए भेजा और अगली गेंद में अंपायर ने उन्हें पगबाधा करार दिया, लेकिन उन्होंने रिव्यू का लिया, जिसमें वह नॉट आउट रहे. अगले ही ओवर में उनकी 64 रन की और विजय शंकर के साथ चौथे विकेट के लिये 64 रन की भागीदारी का अंत हुआ जब वह क्रुणाल पंड्या की गेंद पर काइरन पोलार्ड को आसान कैच दे बैठे;

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi