S M L

'अनुशासित' आईपीएल में वाइड बॉल का तिहरा शतक! या खुदा ये माजरा क्या है!

13 मई तक हुए लीग के 47वें मैच तक सिर्फ एक ही मुकाबला रहा जिसमें कोई भी वाइड बॉल नहीं हुई

Updated On: May 14, 2018 12:33 PM IST

Jasvinder Sidhu Jasvinder Sidhu

0
'अनुशासित' आईपीएल में वाइड बॉल का तिहरा शतक! या खुदा ये माजरा क्या है!
Loading...

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) पेशेवरों से भरा ऐसा टूर्नामेंट है जिसमें किसी तरह की गलती की गुंजाइश नहीं है.  हर टीम के पास बल्लेबाजी और बॉलिंग कोच है और अधिकतर विश्व क्रिकेट के बड़े नाम हैं. आईपीएल में हर एक रन के मायने हैं और अनुशासन के बिना मैच जीत पाना मुश्किल है. लेकिन 11 साल पुराना टूर्नामेंट होने के बावजूद आईपीएल में वाइड और नो बॉल की संख्या कई सवाल खड़े करती है.

13 मई तक हुए लीग के 47वें मैच तक सिर्फ एक ही मुकाबला रहा जिसमें कोई भी वाइड बॉल नहीं हुई. इस बार पांच बल्लेबाजों के ही शतक बने हैं जबकि वाइड बॉल से तिहरा शतक पूरा कर लिया है. अब तक हुए मैचों में 346 वाइड बॉल फेंकी जा चुकी हैं और इन पर मिलने वाले रनों की संख्या इससे कहीं अधिक है. दूसरी तरह से देखें तो अभी तक टीमें वाइड बॉल के कारण 57 से ज्यादा अतिरिक्त ओवर डाल चुकी हैं.

अनुभवी गेंदबाजों से भी हो रही है गलती

अनुभवहीन बॉलर को एक बार वाइड बॉल फेंकने के लिए माफ किया जा सकता है. लेकिन कोई टेस्ट क्रिकेटर और अंतरराष्ट्रीय वनडे खेल चुका गेंदबाज अंपायरों को बाजू फैलाने पर मजबूर करे तो थोड़ा हैरानी होना लाजिमी है.

पंजाब किंग्स इलेवन और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच 16वें मैच में पंजाब के गेंदबाजों ने वाइड के दस रन दिए और इसमें चार कप्तान आर अश्विन के नाम थे. 31वें मैच में 10 वाइड बॉल्स से 18 रन मिले और वह विराट कोहली की आरसीबी और रोहित शर्मा की मुंबई इंडियंस के बीच हुए मैच में डाले गए.

इस मैच में आरसीबी के वाशिंगटन सुंदर को छोड़ कर बाकी के बॉलर उमेश यादव (2), टिम साउदी (1), युजवेंद्र चहल (3), मोहम्मद सिराज (3) और कोलिन ग्रांडहोम (1) 1.4 अतिरिक्त ओवर डालकर गए . रोचक पहलू यह है कि जिन टीमों के वाइड बॉल अधिक हैं उनमें से अधिकतर पहले बल्लेबाजी कर चुकी थीं और उसके गेंदबाजों को मजबूत स्थिति में अपने स्कोर को बिना किसी दबाव के मैच बचाना था. पंजाब किंग्स इलेवन और आरसीबी दोनों ने ही अपने मैच जीते.

RCB players celebrate the dismissal of Kings XI Punjab batsman Mayank Agarwal during the 2018 Indian Premier League (IPL) Twenty20 cricket match between Royal Challengers Bangalore and Kings XI Punjab at the M. Chinnaswamy Stadium in Bangalore on April 13, 2018. / AFP PHOTO / Manjunath KIRAN / ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / GETTYOUT

कुछ मुकाबले ऐसे भी रहे, जिन पर वाइड बॉल का असर साफ दिखता है. चेन्नई सुपरकिंग्स और कोलकाता नाइडराइडर्स के बीच 33वां मैच कुछ ऐसा ही रहा.

महेंद्र सिंह धोनी की टीम पहले खेली और 177 रन का लक्ष्य दिया. लेकिन धोनी के गेंदबाजों ने 7 वाइड गेंदों पर 10 रन लुटा दिए. यानी उस मैच में चेन्नई के गेंदबाजों ने एक एक्स्ट्रा ओवर डाला. केकेआर वह मैच 17.4 ओवर में जीत गया.

csk

आईपीएल को एक बेहद की स्पर्धा भरे टाइट टूर्नामेंट के रूप में बेचा जाता है लेकिन 300 से अधिक वाइड बॉल एक अनसुलझा पहलू है. वैसे बल्ले से अभी तक पांच ही शतक बने हैं और वह ऋषभ पंत, अंबाति रायडू, शेन वॉटसन, एबी डिविलियर्स और क्रिस गेल के नाम है. वाइड के अलावा अभी तक करीब 31 नो बॉल फेंकी जा चुकी हैं जबकि 39 बल्लेबाज रन आउट हो चुके हैं.

(फोटो साभार- बीसीसीआई)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi