S M L

आईपीएल 2017: क्या रात दो बजे क्रिकेट खेलने का वक्त है!

शाहरुख ने कहा, प्लेऑफ के लिए रिजर्व दिन होना चाहिए

FP Staff, Bhasha Updated On: May 18, 2017 04:37 PM IST

0
आईपीएल 2017: क्या रात दो बजे क्रिकेट खेलने का वक्त है!

बेंगलुरु में दर्शक इंतजार कर रहे थे. बरसात की हर बूंद उनके इंतजार और निराशा को बढ़ा रही थी. हर किसी के मन में सवाल था कि क्वालिफायर और एलिमिनेटर के लिए रिजर्व दिन क्यों नहीं है. दिलचस्प है कि ये सवाल उस टीम ने भी उठाए हैं, जो जीतकर एलिमिनेट यानी बाहर होने से बच गई है.

कोलकाता नाइटराइजर्स के मालिक और फिल्म अभिनेता शाहरुख खान ने कहा है कि प्लेऑफ के लिए रिजर्व दिन होना चाहिए. केकेआर टीम के तेज गेंदबाज नैथन कूल्टर नाइल का कहना है कि रात के दो बजे का वक्त क्रिकेट खेलने के लिए नहीं होता.

बुधवार देर रात आईपीएल में खेले गए कोलकाता और सनराइजर्स हैदराबाज के बीच हुए एलिमिनेटर मैच में बारिश ने खलल डाला. मैच की दूसरी पारी तकरीबन तीन घंटे से ज्यादा इंतजार के बाद शुरू की गई.

मौजूदा विजेता हैदराबाद ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में सात विकेट खोकर 128 रन बनाए थे. लेकिन पहली पारी के अंत होने तक बारिश ने दस्तक दी जो बाद में तेज हो गई. इसी कारण दूसरी पारी देर से शुरू हुई.

मैच देरी से होने के कारण कोलकाता को छह ओवरों में 48 रनों का संशोधित लक्ष्य मिला. कोलकाता ने इस लक्ष्य को चार गेंद शेष रहते हुए हासिल कर लिया.

शाहरुख मैच के दौरान स्टेडियम में मौजूद थे. उन्होंने मैच के बाद गुरुवार को ट्वीट किया,  ‘आज रात (बुधवार रात) विजेता टीम का हिस्सा बनकर खुश हूं. लेकिन मैच रद्द होने की हालत में प्लेऑफ के लिए एक अतिरिक्त दिन होना चाहिए.’

 

महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने मैच के बाद कहा कि हैदराबाद के पास विश्व का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आक्रमण ही क्यों न होता, फिर भी 10 विकेट होते हुए 48 रन बचाना लगभग नामुमकिन सी बात है.

मैच तड़के एक बजकर 30 मिनट पर खत्म हुआ था. नैथन कूल्टर नाइल ने कहा कि आईपीएल के नियमों पर फिर से गौर करने की जरूरत है. कूल्टर नाइल ने कहा, ‘तब तक कोई नर्वस नहीं था जब वे तड़के 12 बजकर 40 मिनट पर आखिरी बार निरीक्षण के लिए गए. ऐसा लग रहा था कि मैं खेलना नहीं चाहता हूं. समय काफी था और नियमों को इस पर गौर करना चाहिए. मेरे कहने का मतलब है कि सुबह दो बजने वाले थे. आप तड़के दो बजे क्रिकेट नहीं खेल सकते. लेकिन मैं परेशान नहीं था.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi