S M L

आईपीएल 2017: किसी फिल्म से कम नहीं है इस युवा क्रिकेटर की कहानी, पिता है हीरो!

संजू सैमसन ने पुणे के खिलाफ शतक ठोका, पहला टी20 शतक

Updated On: Apr 12, 2017 12:19 PM IST

FP Staff

0
आईपीएल 2017: किसी फिल्म से कम नहीं है इस युवा क्रिकेटर की कहानी, पिता है हीरो!

दिल्ली डेयरडेविल्स और पुणे सुपरजायंट के बीच मंगलवार को खेले गए आईपीएल मुकाबले में दिल्ली के संजू सैमसन ने शानदार शतक जड़ा. इस आईपीएल का यह पहला शतक था, तो वहीं टी-20 में भी सैमसन का पहला शतक था.

आईपीएल-10 का पहला शतक संजू सैमसन के नाम रहा. 63 गेंदों में उनके 102 रनों की बदौलत दिल्ली डेयरडेविल्स ने राइजिंग पुणे सुपरजायंट को 206 रनों का बड़ा लक्ष्य दिया. दिल्ली डेयरडेविल्स की ओर से शतक लगाने वाले सैमसन छठे बल्लेबाज बने. संजू सैमसन ने 41 गेंदों में अपनी फिफ्टी पूरी की थी. अपनी पारी में उन्होंने पांच छक्के उड़ाए.

कभी लगा था अनुशासनहीनता का आरोप

कुछ समय पहले केरल क्रिकेट संघ की अनुशासनात्मक समिति (केसीए) ने मर्यादा में बने रहने की कड़ी चेतावनी के साथ संजू सैमसन को माफी दी थी. केसीए की अनुशासनात्मक समिति पिछले साल रणजी ट्रॉफी में 22 वर्षीय खिलाड़ी संजू के आपत्तिजनक आचरण की जांच कर रही थी.

मैदान पर पिता नहीं आ सकते

इस चेतावनी के साथ केसीए ने संजू के पिता से इस बात को सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि वह अपने बेटे के साथ मैदान पर नहीं आएंगे और न ही क्रिकेट के किसी भी मुद्दे में हस्तक्षेप नहीं करेंगे. पिछले साल दिसंबर में रणजी ट्रॉफी के मैच में संजू ने बेहद आपत्तिजनक व्यवहार किया था. इसके साथ ही उन पर यह आरोप भी लगा था कि वह टीम के साथ होटल में नहीं रुके.

इसके बाद केसीए के अध्यक्ष टी.सी. मैथ्यू के साथ संजू के पिता द्वारा किए गए बुरे रवैये ने इस मामले को और भी गंभीर बना दिया. हाल ही में आई फिल्म दंगल में महावीर फोगाट का रोल कर रहे आमिर खान को भी यहीं सजा मिली थी.

दिल्ली अंडर-13 में संजू का नहीं हो सका था सलेक्शन

संजू के क्रिकेट के लिए उनके पिता विश्वनाथ सैमसन ने दिल्ली पुलिस के कॉन्सटेबल की नौकरी छोड़ दी थी. वे किसी भी कीमत पर संजू को क्रिकटर बनाना चाहते थे. दिल्ली अंडर-13 टी में संजू का सलेक्शन नहीं होने पर उन्होंने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ले ली और परिवार सहित अपने शहर थिरुवनंतपुरम लौट गए. संजू तब दिल्ली के रोजरी सीनियर सेकंडरी स्कूल के स्टूडेंड थे.

द्रविड़ और जहीर को श्रेय

शतक जमाने के बाद संजू सैमसन ने अपनी सफलता का पूरा श्रेय टीम के कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान जहीर खान को दिया. सैमसन पिछले तीन-चार सालों से राहुल द्रविड़ के साथ जुड़े हैं, इससे पहले वे राजस्थान रॉयल्स में भी उनके साथ थे. सैमसन बोले कि प्रैक्टिस के दौरान इन दोनों के सुझाव ने उन्हें काफी मदद की थी.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi