विधानसभा चुनाव | गुजरात | हिमाचल प्रदेश
S M L

आईपीएल 2017: रसेल के बिना भी क्या मजबूत है केकेआर?

2 बार आईपीएल का खिताब जीत चुकी है गंभीर की केकेआर

FP Staff Updated On: Apr 07, 2017 11:11 AM IST

0
आईपीएल 2017: रसेल के बिना भी क्या मजबूत है केकेआर?

गौतम गंभीर की अगुवाई में खेलने वाली कोलकाता नाइट राइडर्स आईपीएल की लोकप्रिय टीमों में से एक है. बात करें आईपीएल के सफर की तो शरूआत के तीन सत्र में यह टीम कुछ खास करने मे नाकाम रही. वही चौथे सत्र में यह टीम चौथे पायदान पर रही. यह टीम दो बार आईपीएल का खिताब भी अपने नाम कर चुकी है.

साल 2012 में खेले गए फाइनल मुकाबले मे चेन्नई सुपर किंग्स को 5 विकेट से हराकर पहली बार इसने आईपीएल का खिताब अपने नाम किया. वहीं 2014 में दूसरी बार आईपीएल जीतने का इसका सपना सच हो सका. जिसमें बेहद ही रोमांचक मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब को 3 विकेट से हराया.

कोलकाता टीम की गेंदबाजी कोच का जिम्मा अभी तक पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम के हाथो में था. लेकिन इस सत्र से अब यह जिम्मेदारी भारतीय टीम के पूर्व गेंदबाज और इसी टीम में खेल चुके लक्ष्मीपति बालाजी के हाथों में है.

बात करते हैं इसके मालिकाना हक की तो शाहरुख खान, जूही चावला , जय मेहता और रेड चिलीज इंटरटेंमेंट इस टीम के मालिक हैं. आईपीएल के इस सत्र में यह टीम प्रबल दावेदारों में से एक है.

मजबूत पक्ष

कोलकाता नाइट राइडर्स का मजबूत पक्ष उसकी बेहतरीन बल्लेबाजी लाइनअप और  गेंदबाजी है.बात करें बल्लेबाजी की तो खुद कप्तान गौतम गंभीर ने अभी तक आइपीएल में 30.53 की औसत से 3634 रन बनाए हैं.

वह आईपीएल में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजो में चौथे स्थान पर हैं. इसके अलावा मनीष पांडे, रॉबिन उथप्पा, सूर्य कुमार यादव, रोमेन पॉवेल और क्रिस लिन जैसे बल्लेबाज भी हैं जो किसी भी परिस्थियों में रन बना सकते हैं.

केकेआर में ऑलराउंडर खिलाड़ियों की भी कमी नही है. यूसुफ पठान, शाकिब अल हसन, क्रिस वोक्स और नाथन कुल्टर नाइल ये ऐसे खिलाड़ी हैं जो गेंद और बल्ले दोनो से कमाल दिखा सकते है.

दूसरी ओर गेंदबाजी में हाल में हुई बिडिंग में केकेआर ने अच्छी खरीदारी की है और फॉर्म में चल रहे तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट को खरीदा है. अगर मोर्ने मोर्केल उपलब्ध नहीं रहते तो बोल्ट उनकी कमी पूरी कर सकते हैं.

वहीं ये देखना दिलचस्प होगा कि कैसे क्रिस वोक्स आंद्रे रसेल की कमी को पूरा करते हैं. वोक्स, रसेल के मुकाबले तो कुछ नहीं है लेकिन उन्हें अगर अपने आपको उसी अंदाज में ढालना है तो कड़ी मेहनत करनी होगी. वह पहली बार आईपीएल में खेल रहे हैं. कुलदीप यादव ने अपने टेस्ट डेब्यू में जलवा बिखेर दिया और अब वह केकेआर को अपनी गेंदबाजी से प्रभावित जरूर करना चाहेंगे.

ईडन गार्डन की पिच को लेकर भी लगातार बातें की जा रही हैं और कहा जा रहा कि ये पिच तेज गेंदबाजों के अनुकूल रहेगी और तेज के साथ उछाल वाली होगी. पिछले कुछ सालों की तरह ये स्लो और नीचे गेंद रहने वाली नहीं होगी. इस बात ने केकेआर के द्वारा तेज गेंदबाजों के झुंड खरीदने को भी सही करार दे दिया है.

कमजोर पक्ष

केकेआर की बड़ी परेशानी ये है कि यह टीम घर के बाहर उतना अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाती जैसा वह अपने होम ग्राउंड पर करती है. वैसे भी कोलकाता की पिच भी इस टीम के लिए नई होगी. अब तक कोलकाता की पिच काफी स्लो होती थी लेकिन शायद अब ऐसा न हो.

आंद्रे रसेल का न होना भी उनके लिए एक झटका है. प्रतिबंधित खिलाड़ी रसेल की जगह न्यूजीलैंड के कोलिन डी ग्रांडहोम को टीम में लिया गया है.

केकेआर टीम – गौतम गंभीर (कप्तान), ट्रेंट बोल्ट, क्रिस वोक्स, ऋषि धवन, नैथन कूल्टर नाइल, सुनील नरायन, कुलदीप यादव, मनीष पांडे, सूर्यकुमार यादव, पीयूष चावला, रॉबिन उथप्पा, शाकिब अल हसन, क्रिस लिन, उमेश यादव, यूसुफ पठान, शेल्डन जैक्सन, अंकित सिंह राजपूत, रोवमन पावेल, आर. संजय यादव, इशांक जग्गी, डैरेन ब्रावो, शयन घोष, कोलिन डी ग्रांडहोम.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi