S M L

आईपीएल 2017 Preview Match 11: केकेआर के घर में जीत की हैट्रिक बना पाएंगे किंग्स?

केकेआर ने 2012 और 2014 में खिताब जीता था और पंजाब के खिलाफ उसका जीत हार का रिकार्ड 13-6 का है

Bhasha Updated On: Apr 13, 2017 05:32 PM IST

0
आईपीएल 2017 Preview Match 11: केकेआर के घर में जीत की हैट्रिक बना पाएंगे किंग्स?

दो बार के चैंपियन कोलकाता नाइट राइडर्स का सामना इंडियन प्रीमियर लीग के मैच में किंग्स इलेवन पंजाब से होगा. केकेआर को अपने घर में खेलना है. जिसने लगातार जीत दर्ज करके सत्र का शानदार आगाज किया है.

गौतम गंभीर की अगुवाई वाले केकेआर ने 2012 और 2014 में खिताब जीता था. पंजाब के खिलाफ उसका जीत हार का रिकार्ड 13-6 का है. लेकिन क्रिस लिन के घायल होने से अभी हालात बदले हुए नजर आ रहे हैं.

ऑस्ट्रेलिया के लिन ने पहले ही मैच में गुजरात लायंस के खिलाफ 41 गेंद में नाबाद 93 रन बनाए थे. उन्होंने गौतम गंभीर के साथ 184 रन की साझेदारी भी की थी, जिसकी मदद से केकेआर ने दस विकेट से पहला मैच जीता.

लिन को मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच के दौरान बाएं कंधे में चोट लगी, जिसमें केकेआर को चार विकेट से पराजय झेलनी पड़ी. लिन ने इसी कंधे का 2014 में ऑपरेशन कराया था. लेकिन इसमें दर्द फिर उभर आया है. उनका गुरुवार को खेलना तय नहीं है. हालांकि भारत के स्टार तेज गेंदबाज उमेश यादव की वापसी से गेंदबाजी मजबूत हुई है.

यादव कूल्हे में सूजन के कारण पहले दो मैच नहीं खेले थे. घरेलू सत्र में उन्होंने 13 में से 12 टेस्ट खेले थे. स्पिनरों की मददगार पिचों पर उन्होंने भारत को महत्वपूर्ण विकेट दिए और आर अश्विन और रवींद्र जडेजा के बाद सत्र में सबसे ज्यादा विकेट अपने नाम किए.

यादव टीम में अंकित राजपूत की जगह लेंगे, जिन्होंने मुंबई के खिलाफ 19वें ओवर में 19 रन दिए. लिन के नहीं खेलने पर गंभीर बांग्लादेश के हरफनमौला शाकिब अल हसन को ट्रेंट बोल्ट या क्रिस वोक्स की जगह शामिल कर सकते हैं. ऐसे में रॉबिन उथप्पा से पारी का आगाज कराना होगा. हालांकि उनकी लंबी खराब फॉर्म चिंता का सबब बनी हुई है. फोकस मनीष पांडे जैसे घरेलू क्रिकेटरों पर होगा, जिसने मुंबई के खिलाफ 47 गेंद में 81 रन बनाए थे.

दूसरी ओर 2014 में फाइनल तक पहुंची पंजाब के पास वीरेंद्र सहवाग जैसा मेंटॉर है. जिनके मार्गदर्शन में टीम ने राइजिंग पुणे सुपरजायंट और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को हराया. सहवाग ने कई साहसिक फैसले भी लिए. इनमें से एक ऑस्ट्रेलियाई हरफनमौला ग्लेन मैक्सवेल को कप्तानी की जिम्मेदारी सौंपना भी था. रांची में भारत के खिलाफ पहला टेस्ट शतक लगाने वाले मैक्सवेल को ऑइन मोर्गन और डेरेन सैमी पर तरजीह दी गई.

मैक्सवेल ने पहले मैच में नाबाद 44 रन बनाए और अगले मैच में 22 गेंद में 43 रन बनाकर नाबाद रहे. सहवाग ने आखिरी मौके पर तेज गेंदबाज इशांत शर्मा को टीम में शामिल किया जो पहले केकेआर में थे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi