S M L

आईपीएल 2018 : फिर उछला मैचों के दौरान पानी की बर्बादी का मामला

एनजीटी ने केंद्र सरकार और बीसीसीआई को नोटिस भेजा. अगली सुनवाई 28 अप्रैल को

Updated On: Mar 14, 2018 10:39 PM IST

FP Staff

0
आईपीएल 2018 : फिर उछला मैचों के दौरान पानी की बर्बादी का मामला

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मैचों के दौरान पानी की बर्बादी का मामला एक बार फिर सामने आया है. रोजाना लाखों लीटर पानी की बर्बादी की वजह से टूर्नामेंट पर प्रतिबंध लगाने की याचिका पर बुधवार को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने केंद्र, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और अन्य से जवाब मांगा है.

जस्टिस जावेद रहीम की अध्यक्षता वाली पीठ ने जल संसाधन मंत्रालय, भारतीय क्रिकेट बोर्ड और उन नौ राज्यों को नोटिस दिए हैं जहां मैच होने हैं. सभी पक्षों को दो सप्ताह के भीतर जवाब देने को कहा गया है. मामले की अगली सुनवाई 28 अप्रैल को है.

अलवर के एक युवा हैदर अली ने आईपीएल के दौरान पानी की बेतहाशा बर्बादी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर याचिका दायर की है. इसमें कहा गया, ‘ संबंधित अधिकारियों को व्यावसायिक उद्देश्यों से इस टूर्नामेंट के आयोजन से रोका जाए जो नौ स्थानों पर होना है.’

2016 में भी उठा था पानी की बर्बादी का मुद्दा

इससे पहले 2016 में भी आईपीएल शुरू होने से पहले पानी की बर्बादी का मामला उठा था. उस समय बीसीसीआई और महाराष्ट्र में उसके सहयोगियों को बांबे हाईकोर्ट ने झटका देते हुए कहा था कि आईपीएल के मैच महाराष्ट्र में अभूतपूर्व जल संकट को देखते हुए यहां से बाहर आयोजित किए जाने चाहिए. हाईकोर्ट खंडपीठ ने सख्ती से कहा था, आप पानी कैसे बर्बाद कर सकते हैं? आपके लिए मैच ज्यादा महत्वपूर्ण हैं या लोग? जब बीसीसीआई की पानी की सप्लाई काट दी जाएगी तब आपको पता चलेगा. आप इतने लापरवाह कैसे हो सकते हैं? कौन इस तरह पानी की बर्बादी कर सकता है. आपको मैच उस राज्य में स्थानांतरित करने चाहिए, जहां पानी अधिक मात्रा में हो." हो सकता है कि 2016 की तरह इस बार भी कुछ मैचों को स्थानांतरित करना पड़े.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi