S M L

भारतीय गेंदबाजों ने जिताई कोहली की कप्तानी में पहली टी20 सीरीज

पूरी सीरीज में भारतीय गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी की

Lakshya Sharma Updated On: Feb 03, 2017 11:15 AM IST

0
भारतीय गेंदबाजों ने जिताई कोहली की कप्तानी में पहली टी20 सीरीज

कुछ समय पहले तक भारतीय गेंदबाजों के प्रदर्शन पर अंगुली उठती रही है. हर समय भारत की कमजोर गेंदबाजी के बारे में बात होती थी. सीमित ओवर्स के क्रिकेट में डेथ बॉलिंग पर हमेशा सवालिया निशान होता था. लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ टी20 सीरीज में भारतीय गेंदबाजों ने अपने आलोचकों को करारा जवाब दिया. पूरी टी20 सीरीज के दौरान हर गेंदबाज ने अपनी जिम्मेदारी निभाई और भारत की जीत में अहम योगदान दिया.

सबसे पहले बात करते हैं 37 साल के आशीष नेहरा की. नेहरा ने इस सीरीज में अपनी पूरी जिम्मेदारी निभाई. जिस रोल के लिए उन्हे टीम में शामिल किया गया था, वह उन्होंने बखूबी निभाया. 3 टी20 सीरीज में नेहरा ने विकेट तो 3 ही लिए लेकिन कई अहम मौकों पर उन्होंने अपनी टीम की मैच में वापसी कराई.

Cricket - India v England - Second T20 International - Vidarbha Cricket Association Stadium, Nagpur, India - 29/01/17. India's Ashish Nehra (L) celebrates the wicket of England's Sam Billings (R). REUTERS/Danish Siddiqui - RTSXWWQ

दूसरे टी20 में तो उन्होंने 3 विकेट लेकर अंग्रेजों के बल्लेबाजी क्रम की कमर तोड़ दी थी. इस सीरीज में उन्होंने 8.30 की अच्छी इकॉनमी से गेंदबाजी की. भारत की सपाट पिचों पर इसे अच्छा ही प्रदर्शन कहा जाएगा.

सबसे उम्रदराज गेंदबाज के बाद बात करते हैं सबसे युवा स्पिनर युजर्वेंद्र चहल की. चहल को इस सीरीज की खोज कहा जाए तो गलत नहीं होगा. इस सीरीज में उन्होंने न केवल सबसे ज्यादा विकेट लिए बल्कि इंग्लैंड के बल्लेबाजों को बांधे भी रखा.

chahel

चहल ने इस सीरीज के 3 मैचों में 10.62 की शानदार औसत से 8 विकेट लिए. इस दौरान उनकी इकोनॉमी रेट भी 7 के करीब की रही. जो बेहद अच्छा है. चहल की तारीफ इसलिए भी होनी चाहिए क्योंकि उन्होंने पावरप्ले में भी गेंदबाजी की थी. आखिरी मैच में 6 विकेट को कौन भूल सकता है. इसी प्रदर्शन के कारण उन्हे मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज का अवॉर्ड दिया गया.

अब बात जसप्रीत बुमराह की...इस गेंदबाज की जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है. सीरीज में हर अहम मौकों पर कप्तान ने इस गेंदबाज की तरफ देखा और हर बार उन्होंने अपने कप्तान के फैसले को सही साबित किया.

Cricket - India v England - Second T20 International - Vidarbha Cricket Association Stadium, Nagpur, India - 29/01/17. India's Jasprit Bumrah celebrates after winning the match. REUTERS/Danish Siddiqui - RTSXXCV

दूसरे टी20 मैच में आखिरी ओवर की गेंदबाजी ने ही भारत को सीरीज जितवाई. अगर बुमराह उस ओवर में करिश्मा नहीं करते तो भारत सीरीज हार जाता. इस पूरी सीरीज में उन्होंने 6 विकेट लिए. 3 टी20 मैचों में बुमराह की इकोनॉमी 6.20 की रही.

भारत की तरफ से टी20 मैचों में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले अमित मिश्रा को इस सीरीज में विकेट तो 2 ही मिले लेकिन उनका प्रदर्शन किसी दूसरे गेंदबाज से कम नहीं मान सकते. इस सीरीज में उन्होंने 2 मैच खेले. और इन दो मैचों में मिश्रा की इकोनॉमी केवल 6 की रही.

amit

इंग्लिश बल्लेबाजों को उन्होंने कभी भी खुलकर खेलने का मौका नहीं दिया. तीसरे टी20 मैच में तो उनकी कजूंस गेंदबाजी ने ही भारत की वापसी कराई थी. रैना के एक ओवर में 22 रन देने के बाद मिश्रा ने अगले ओवर में केवल चार रन ही दिए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi