S M L

मैच के बाद कोहली ने की हार्दिक की जमकर की तारीफ

66 गेंदों में 5 चौकों और 5 छक्कों की मदद से पांड्या ने 83 रन बनाए और मैच की जीत के सूत्रधार बनें

Updated On: Sep 18, 2017 12:18 PM IST

FP Staff

0
मैच के बाद कोहली ने की हार्दिक की जमकर की तारीफ

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले वनडे में मिली जीत के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने हार्दिक पंड्या की जमकर तारीफ की. कोहली ने कहा कि पंड्या की तेजतर्रार अर्धशतकीय पारी ने मैच को पूरी तरह से बदल दिया. हम उन्हें पाकर भाग्यशाली महसूस कर रहे हैं'. भारत ने बारिश से प्रभावित इस मैच में ऑस्ट्रेलिया को डकवर्थ लुइस पद्धति से 26 रन से हरा दिया और सीरीज में 1-0 की बढत बना ली.

कोहली पहले भी कह चुके हैं कि पांड्या में बेन स्टोक्स जैसी सभी खुबियां हैं और वह भारत के लिए अहम ऑलराउंडर हैं. जब भी जरूरत होती है वह मैदान पर उतरकर अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाते हैं.

23 वर्षीय पांड्‍या ने इस दौरान अपने वनडे करियर की सबसे बड़ी पारी खेली. इनके बल्ले से यह पारी उस वक्त निकली जब टीम को इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी. वे 66 गेंदों में 5 चौकों और 5 छक्कों की मदद से 83 रन बनाकर एडम जाम्पा के शिकार बने. पांड्‍या ने इसी ऑस्ट्रेलिेयाई गेंदबाज की जमकर धुनाई करते हुए लगातार तीन छक्के लगाए थे.

Dharamsala : India's Hardik Pandya celebrates with team mate Virat Kohli the dismissal of New Zealand batsman L Ronchi in the first ODI match in Dharamsala on Sunday. PTI Photo by Shirish Shete (PTI10_16_2016_000136B) *** Local Caption ***

87 पर 5 विकेट की विषम स्थिति में धोनी का साथ देने पांड्‍या क्रीज पर उतरे और शुरू में उन्होंने कोई जोखिम नहीं उठाया. पांड्‍या ने संभलकर बल्लेबाजी करते हुए पिच का मिजाज भांपा. एक बार जमने के बाद उन्होंने लंबे छक्के लगाने शुरू किए। जाम्पा द्वारा डाले गए पारी के 37वें ओवर में पांड्‍या ने 3 छक्के और 1 चौका लगाया. इस ओवर में कुल 24 रन बने.

लगातार तीन छक्के लगाए उन्होंने जंपा के इस ओवर में, वनडे क्रिकेट में उन्होंने ये कारनामा तीसरी बार किया है. इससे पहले इस साल चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान उन्होंने पाकिस्तानी स्पिनरों शादाब खान और इमाद वसीम के खिलाफ भी तीन गेंदों में लगातार तीन छक्के जड़कर सुर्खियां बटोरी थीं.

चैंपियंस ट्रॉफी में उन्होनें दो बार तीन छक्के लगा चुके हैं. पहली बार पाकिस्तान के खिलाफ इमाद वसीम के ओवर में उन्होंने लगातार तीन छक्के लगाए थे. इसके बाद चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में उन्होंने शादाब खान के ओवर में लगातार छक्के लगाए थे.

अपनी पारी पर बात करते हुए हुए पंड्या ने कहा, जिस समय मैं बल्लेबाजी के लिए मैदान पर पहुंचा, हम दबाव में थे. ऐसे में हमारे लिए जरूरी था कि कुछ समय विकेट पर बिताया जाए. खराब गेंदों का इंतजार किया. बीच-बीच में धोनी ने मुझे विकेट पर टिकने की हिदायत दी. हम 230 रन तक पहुंचने की सोच रहे थे."

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi