S M L

विश्व कप जिताने वाले गैरी कर्स्टन देंगे महिला क्रिकेट टीम के कोच पद के लिए इंटरव्यू

नए कोच की नियुक्ति के लिए गुरुवार को मुंबई में बीसीसीआई का चयन पैनल इंटरव्यू लेगा

Updated On: Dec 19, 2018 07:00 PM IST

FP Staff

0
विश्व कप जिताने वाले गैरी कर्स्टन देंगे महिला क्रिकेट टीम के कोच पद के लिए इंटरव्यू

साउथ अफ्रीका के पूर्व बल्लेबाज गैरी कर्स्टन एक बार टीम इंडिया के कोच बन सकते हैं. फर्क इतना है कि इस बार वह भारतीय महिला क्रिकेट टीम को कोचिंग दे सकते हैं. वह कोच की रेस में सबसे आगे हैं. कर्स्टन के कोच रहते टीम इंडिया 2011 वर्ल्ड कप में चैंपियन बनी थी. अब वह महिला टीम के कोच बनना चाहते हैं और इसके लिए इंटरव्यू देंगे. महिला टीम के लिए ये बड़ी बात है. नए कोच की नियुक्ति के लिए गुरुवार को मुंबई में बीसीसीआई का चयन पैनल इंटरव्यू लेगा.

इस पद के लिए 28 उम्मीदवारों ने आवेदन किया था और जिन दावेदारों को इंटरव्यू के लिए छांटा गया है उनमें कर्स्टन, हर्शल गिब्स और रमेश पोवार के अलावा डब्ल्यूवी रमन, वेंकटेश प्रसाद, मनोज प्रभाकर, ट्रेंट जानस्टन, दिमित्री मास्करेंहास, ब्रैड हाग  और  कल्पना वेंकट चर मिल हैं. इन सभी दावेदारों का इंटरव्यू एक एडहॉक कमेटी लेगी, जिसमें पूर्व भारतीय खिलाड़ियों कपिल देव, अंशुमन गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी को शामिल किया गया है.

ये भी पढ़ें- तो क्या गैरी कर्स्टन फिर से टीम इंडिया के कोच बनने वाले हैं!

स्काइप के जरिए प्रस्तुतिकरण देंगे विदेशी कोच

पता चला है कि अधिकांश विदेशी कोच स्काइप के जरिए अपना प्रस्तुतिकरण देंगे, जबकि पोवार जैसे स्थानीय दावेदार निजी तौर पर पहुंचेंगे. बीसीसीआई के एक अधिकारी ने बताया, ‘एडहॉक कमेटी में प्रतिष्ठित पूर्व खिलाड़ी शामिल हैं. मुझे इसमें कोई संदेह नहीं कि वे सर्वश्रेष्ठ उम्मीदवार को चुनेंगे.’

कोच चयन प्रक्रिया पर प्रशासकों की समिति एक राय नहीं

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त विनोद राय और डायना एडुलजी की प्रशासकों की समिति कोच चयन प्रक्रिया पर विभाजित है. एडुलजी चाहती थीं कि पोवार कम से कम अगले महीने होने वाले न्यूजीलैंड दौरे के लिए कोच बने रहें जबकि राय ने बीसीसीआई के शीर्ष अधिकारियों को निर्देश दिया था कि वे इस पद के लिए आवेदन आमंत्रित करें.

धोनी की टीम को मिली कामयाबियों में कर्स्टन की अहम भूमिका

गैरी कर्स्टन साल 2008 में टीम इंडिया के कोच बने थे. कर्स्टन ने उस वक्त टीम इंडिया के हेड कोच का काम संभाला था जब भारतीय टीम कंगारू कोच ग्रेग चैपल के विवाद से उबरने की कोशिश कर रही थी. एमएस धोनी की कप्तानी वाली टीम इंडिया को उस मिली तमाम कामयबियों में गैरी कर्स्टन की भी अहम भूमिका मानी जाती है. 2011 में मिली वर्ल्ड कप जीत के बाद कर्स्टन ने निजी वजहों से भारतीय कोच का पद छोड़ दिया था. और अब उनके भी आवेदन करने के बाद वह महिला टीम के इंडिया के कोच की रेस में सबसे आगे हो गए हैं.

ये भी पढ़ें-  हरमनप्रीत और मंधाना को निराश नहीं करना चाहते पोवार, फिर किया कोच पद के लिए आवेदन

मिताली राज और पोवार के बीच मतभेद बने सुर्खियां

पोवार का विवादास्पद अंतरिम कार्यकाल 30 नवंबर को खत्म हुआ था. एकदिवसीय कप्तान और सीनियर खिलाड़ी मिताली राज के साथ चयन मुद्दों को लेकर उनके मतभेद थे जो सुर्खियां बने. बोर्ड ने अब इंटरव्यू की प्रक्रिया पर आगे बढ़ने का फैसला किया है. टी-20 कप्तान हरमनप्रीत कौर और उप कप्तान स्मृति मंधाना के समर्थन के बाद भारत के पूर्व स्पिनर पोवार ने इस पद के लिए फिर आवेदन करने का फैसला किया.

ये भी पढ़ें- जिस पर प्रभाकर ने लगाए थे फिक्सिंग के आरोप, अब वही तय करेगा उनका भविष्‍य!

पोवार के खिलाफ जा सकते हैं विवाद

इंटरव्यू से पहले हुए विवाद हालांकि पोवार के खिलाफ जा सकते हैं. पोवार और हरमनप्रीत सहित टीम प्रबंधन के अन्य सदस्यों ने टी-20 विश्व कप सेमीफाइनल में मिताली को अंतिम एकादश से बाहर रखने का फैसला किया था. भारत सेमीफाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ आठ विकेट से हार गया था. वेस्टइंडीज से लौटने के बाद मिताली ने पोवार और एडुलजी पर उनके करियर को बर्बाद करने और भेदभाव करने का आरोप लगाया था. पोवार ने आरोप लगाया था कि सलामी बल्लेबाज की भूमिका नहीं देने पर मिताली ने टी-20 विश्व कप के बीच में संन्यास लेने की धमकी दी और टीम में अराजकता फैलाई.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi