S M L

India Women vs England Women, Semi-Final 2 : पहली बार फाइनल में जगह बना पाएगा भारत!

भारतीय महिला क्रिकेट टीम के सामने सेमीफाइनल में उस इंग्लैंड की चुनौती होगी, जिसने एक साल पहले भारत को वनडे विश्व कप का खिताब जीतने से रोका था

Updated On: Nov 21, 2018 09:09 PM IST

FP Staff

0
India Women vs England Women, Semi-Final 2 : पहली बार फाइनल में जगह बना पाएगा भारत!

अभी तक हर मैच में एकतरफा प्रदर्शन करने वाली भारतीय महिला क्रिकेट टीम के सामने टी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में उस इंग्लैंड की चुनौती होगी, जिसने एक साल पहले भारत को वनडे विश्व कप का खिताब जीतने से रोका था. भारत अगर जीतता है तो वह पहली बार विश्व कप के फाइनल में जगह बनाएगा. भारतीय समयानुसार ये मैच शुक्रवार की सुबह खेला जाएगा.

भारत की कोशिश पिछले साल विश्व कप फाइनल में मिली हार की कड़वी यादों को खत्म करने की भी होगी. इंग्लैंड ने 50 ओवरों के विश्व कप के रोमांचक फाइनल में भारतीय टीम को नौ रन से हराया था. इस टूर्नामेंट से हालांकि भारत में महिला क्रिकेट के एक नए युग की शुरुआत हुई.

भारतीय महिला टीम ने भी विश्व टी-20 में अब तक अपने प्रशंसकों को निराश नहीं किया तथा अजेय रहते हुए सेमीफाइनल में जगह बनाई. भारत ने न्यूजीलैंड की मजबूत टीम को 34 रन से और फिर ऑस्ट्रेलिया को 48 रन से हराया. इस तरह से वह लीग चरण में अपने सभी मैच जीतने में सफल रहा.

कप्तान हरमनप्रीत निभाएंगी अहम भूमिका

लेकिन मौजूदा विश्व वनडे चैंपियन इंग्लैंड की टीम काफी मजबूत है तथा पिछले साल लॉर्ड्स में मिली हार भारतीय महिला टीम की दो दिग्गजों मिताली राज और हरमनप्रीत कौर के दिमाग में रहेगी. कप्तान हरमनप्रीत का प्रदर्शन भारत की सफलता में अहम भूमिका निभाएगा क्योंकि उन्होंने जरूरत पड़ने पर अच्छा खेल दिखाया है. मोगा में जन्मी यह खिलाड़ी बड़े मैचों में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए जानी जाती है. यहां तक कि वर्तमान विश्व टी-20 में भी उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है. न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्होंने शतक जमाया जबकि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 43 रन की तेजतर्रार पारी खेली. उन्होंने टूर्नामेंट में अब तक चार मैचों में सर्वाधिक 167 रन बनाए हैं और उनका स्ट्राइक रेट 177 है. भारत की एक अन्य बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने 144 रन बनाए हैं और वह सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में चौथे स्थान पर हैं.

मिताली राज पर होगा दारोमदार

इंग्लैंड के खिलाफ भारत अपनी सबसे अनुभवी खिलाड़ी मिताली को अंतिम एकादश में रखेगा. उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंतिम लीग मैच में विश्राम दिया गया था. आयरलैंड के खिलाफ क्षेत्ररक्षण के दौरान वह चोटिल हो गई थीं. उन्हें स्पिनर अनुजा पाटिल की जगह टीम में रखा जाएगा. मिताली का शीर्ष क्रम में प्रदर्शन काफी अहम साबित होगा. रमेश पोवार की कोचिंग में टीम का एक तेज गेंदबाज के साथ खेलने की रणनीति अब तक कारगर साबित हुई है क्योंकि भारतीय स्पिनरों ने अपनी भूमिका अच्छी तरह से निभाई है.

पूनम और राधा यादव ने की है कसी गेंदबाजी

लेग स्पिनर पूनम यादव (आठ विकेट) और बायें हाथ की स्पिनर राधा यादव (सात विकेट) ने लगातार अच्छा खेल दिखाया है. ऑफ स्पिनर दीप्ति शर्मा (चार विकेट) और दयालन हेमलता (पांच विकेट) ने भी कसी हुई गेंदबाजी की है. भारत की तेज गेंदबाजों अरुंधती रेड्डी (दस ओवर) और मानसी जोशी (तीन ओवर) ने अब तक चार मैचों में केवल 13 ओवर किए हैं. भारत ने हालांकि लीग चरण के अपने मैच एक ही स्थान प्रोविडेंस (गयाना) में खेले थे और अब उसे अलग स्थान पर डे-नाइट मैच खेलना होगा.

तेज गेंदबाजी आक्रमण होगा इंग्लैंड की ताकत

इंग्लैंड का ध्यान अपने तेज गेंदबाजी आक्रमण पर रहेगा जिसमें अन्या श्रबसोले (सात विकेट) और नताली साइवर (चार विकेट) शामिल हैं. इन दोनों ने काफी कसी हुई गेंदबाजी की है तथा बांग्लादेश और दक्षिण अफ्रीका को 100 रन तक भी नहीं पहुंचने दिया. बल्लेबाजी में डेनी वॉट (तीन मैचों में 28 रन) और कप्तान हीथर नाइट (तीन मैचों में 31 रन) को अभी तक खास मौका नहीं मिला है. केवल वेस्टइंडीज के खिलाफ उसकी सभी बल्लेबाजों को अवसर मिला, लेकिन टीम आठ विकेट पर 115 रन ही बना पाई और चार विकेट से मैच हार गई.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi