S M L

India vs WestIndies, Rajkot Test: टीम इंडिया की ताकत के सामने कितना टिक पाएगी वेस्टइंडीज!

भारत-वेस्टइंडीज के बीच दो टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मुकाबला गुरुवार से खेला जाएगा

Updated On: Oct 03, 2018 09:41 PM IST

FP Staff

0
India vs WestIndies, Rajkot Test: टीम इंडिया की ताकत के सामने कितना टिक पाएगी वेस्टइंडीज!

इंग्लैड में हार के बाद भारतीय टीम अब अब स्वदेश में अपना दबदबा कायम रखते हुए विजयी राह पर लौटने और ऑस्ट्रेलिया के कड़े दौरे से पहले सही टीम कॉम्बिनेशन हासिल करने के लए अनुभवहीन वेस्टइंडीज के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की श्रृंखला का पहला मैच खेलने के लिये उतरेगी.

भारत को पिछले नौ महीनों में साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड में हार का सामना करना पड़ा लेकिन तब भी टेस्ट मैचों में दुनिया की नंबर एक टीम बना हुआ है.

ऐसे समय में वेस्टइंडीज पर बड़ी जीत से विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम का मनोबल बढ़ेगा जिसे नवंबर में शुरू होने वाले ऑस्ट्रेलियाई दौरे में फिर से कड़ी परीक्षा से गुजरना है.

भारत में जीत अब वेस्टइंडीज के लिए हैं ख्वाब

भारत को आठवें नंबर की वेस्टइंडीज के खिलाफ जीत से बहुत कुछ हासिल नहीं होगा लेकिन कैरेबियाई टीम अपना प्रभाव छोड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी. उसे भारत के खिलाफ 2002 के बाद अपनी पहली जीत का इंतजार है जबकि भारतीय सरजमीं पर उसने 1994 के बाद कोई मैच नहीं जीता है.

भारतीय टीम को इंग्लैंड दौरे में कई बदलाव करने के कारण आलोचना झेलनी पड़ी और इसके बाद सलामी बल्लेबाज मुरली विजय और शिखर धवन को अपनी जगह गंवानी पड़ी. यहां तक कि इंग्लैंड दौरे में बेंच पर बैठे रहने वाले करुण नायर को बाहर किये जाने भी टीम चयन पर सवाल उठे हैं.

यह तय है कि भारत इस मैच में नयी सलामी जोड़ी के साथ मैदान पर उतरेगा. केएल राहुल प्रतिभाशाली पृथ्वी शॉ के साथ मिलकर पारी का आगाज करेंगे.

फिरकी ही करेगी आक्रमण

गेंदबाजी विभाग की बात करें तो यहां भारत का तीन स्पिनरों - आर अश्विन, रविंद्र जडेजा और कुलदीप यादव के साथ खेलना तय है. भारतीय टीम अक्सर अपनी सरजमी पर फिरकी के सहारे ही उतरती रही है. जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को विश्राम देने तथा इशांत शर्मा के चोटिल होने के बाद उमेश यादव और मोहम्मद शमी तेज गेंदबाजी आक्रमण को लीड करेंगे.

ऋषभ पंत पर भी निगाह टिकी रहेगी जिन्होंने ओवल में 114 रन की पारी खेलकर टीम में अपनी जगह सुरक्षित रखी है. ओवल में अपने डेब्यू मुकाबले 56 रन बनाने वाले हनुमा विहारी को प्लेइंग इलेवन में नहीं मिल पाएगी क्योंकि टीम पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों को उतारना चाहती है.

भारत की यह सबसे दमदार टीम नहीं है लेकिन तब भी वह अनुभवहीन वेस्टइंडीज पर दबदबा बनाने में सक्षम है. कैरेबियाई टीम में प्रतिभा की कमी नहीं है लेकिन उन्हें भारत में खेलने का खास अनुभव नहीं है.

(Input - Bhasha)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi