S M L

अगर श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप हुई तो बनेंगे ये रिकॉर्ड्स

बतौर कप्तान विराट कोहली के पास है सौरव गांगुली को पीछे छोड़ने का मौका, घरेलू धरती पर जीत का शतक पूरा कर सकती है टीम इंडिया

Bhasha Updated On: Nov 10, 2017 03:48 PM IST

0
अगर श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज में क्लीन स्वीप हुई तो बनेंगे ये रिकॉर्ड्स

श्रीलंका के खिलाफ इसी महीने से शुरू होने वाली तीन टेस्‍ट की सीरीज में टीम इंडिया के पास एक बड़ा रिकॉर्ड बनाने का मौका है. भारत अगर तीन टेस्ट मैचों की इस सीरीज में अपने इस प्रतिद्वंद्वी पर दबदबा बनाकर क्लीन स्वीप करता है तो वह स्वदेश में जीत का सैकड़ा पूरा करने वाला तीसरा देश बन जाएगा. यही नहीं, इससे विराट कोहली भारत के सबसे सफल कप्तानों की सूची में दूसरे स्थान पर भी काबिज हो जाएंगे.

टीम इंडिया ने इस साल जुलाई-अगस्त में श्रीलंका को तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 3-0 से हराया था और 16 नवंबर से कोलकाता में शुरू होने वाली आगामी सीरीज में भी कोहली की अगुवाई वाली टीम को जीत का दावेदार माना जा रहा है. वर्तमान परिस्थितियां ही नहीं रिकॉर्ड भी भारत के पक्ष में है. भारतीय टीम ने अब तक श्रीलंका से अपनी सरजमीं पर एक भी टेस्ट मैच नहीं गंवाया है और एक बार पहले भी वह श्रीलंका के खिलाफ स्वदेश में क्लीन स्वीप (1993-94 में) कर चुका है.

100 वीं टेस्ट जीत हासिल करने का है मौका

भारत अगर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में फिर से श्रीलंका का सूपड़ा साफ करने में सफल रहता है तो उसकी घरेलू सरजमीं पर जीत की संख्या 100 पर पहुंच जाएगी और यह उपलब्धि हासिल करने वाला वह ऑस्ट्रेलिया (234) और इंग्लैंड (212) के बाद केवल तीसरा देश होगा. भारत ने अब तक अपनी सरजमीं पर 261 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें से 97 में उसे जीत और 52 में हार मिली है जबकि 111 मैच ड्रॉ और एक टाई रहा है. अभी स्वदेश में सर्वाधिक जीत के रिकॉर्ड के मामले में भारत चौथे स्थान पर है. दक्षिण अफ्रीका ने अपनी सरजमीं पर 98 जीत दर्ज की हैं लेकिन उसे दिसंबर के आखिरी सप्ताह तक अपनी धरती पर कोई टेस्ट मैच नहीं खेलना है.

श्रीलंका के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का पहला मैच 16 नवंबर से कोलकाता में शुरू होगा जबकि अगले दो मैच नागपुर और नई दिल्ली में खेले जाएंगे. श्रीलंका अब तक भारत में एक भी टेस्ट मैच नहीं जीता है. उसने भारतीय सरजमीं पर 17 टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें से भारत ने दस में जीत दर्ज की जबकि बाकी सात ड्रॉ रहे.

बतौर कप्तान गांगुली को पीछे छोड़ सकते हैं कोहली

विराट कोहली भी कप्तान के रूप में आगामी सीरीज में एक नई उपलब्धि हासिल कर सकते हैं. अगर उनकी अगुवाई में टीम क्लीन स्वीप करती है तो वह भारत के सबसे सफल कप्तानों की सूची में महेंद्र सिंह धोनी के बाद दूसरे स्थान पर काबिज हो जाएंगे. कोहली की कप्तानी में भारत ने अब तक 29 टेस्ट मैचों में से 19 में जीत दर्ज की तथा वह धोनी (60 टेस्ट में 27 जीत) और सौरव गांगुली (47 टेस्ट में 21 जीत) के बाद तीसरे नंबर पर हैं. इसके अलावा कोहली 20 या अधिक टेस्ट मैचों में जीत दर्ज करने वाले दुनिया के 19वें कप्तान भी बन जाएंगे. उन्हें हालांकि दक्षिण अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ (109 टेस्ट में 53 जीत) के रिकॉर्ड तक पहुंचने के लिये अभी लंबा रास्ता तय करना होगा. यही नहीं, कोहली के पास भारतीय सरजमीं पर भी सर्वाधिक टेस्ट जीतने वाले कप्तानों की सूची में भी दूसरे स्थान पर पहुंचने का मौका रहेगा. अभी धोनी (30 मैचों में 21 जीत) और मोहम्मद अजहरुद्दीन (20 मैचों में 13 जीत) उनसे आगे हैं. कोहली के नेतृत्व में भारत ने स्वदेश में 16 टेस्ट मैचों में से 12 में जीत दर्ज की है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Social Media Star में इस बार Rajkumar Rao और Bhuvan Bam

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi