S M L

भारत बनाम श्रीलंका, धर्मशाला वनडे: क्या कोहली की गैरमौजूदगी में हासिल होगा नंबर वन का ताज!

धर्मशाला वनडे में टीम इंडिया की कप्तानी करने वाले 24 वें क्रिकेटर बन जाएंगे रोहित शर्मा, रहाणे पर होगा खोई फॉर्म को वापस पाने का दबाव

Sumit Kumar Dubey Sumit Kumar Dubey Updated On: Dec 09, 2017 04:45 PM IST

0
भारत बनाम श्रीलंका, धर्मशाला वनडे: क्या कोहली की गैरमौजूदगी में हासिल होगा नंबर वन का ताज!

टेस्ट सीरीज में श्रीलंका के ऊपर जीत दर्ज करने के बाद अब टीम इंडिया की नजरें अब वनडे सीरीज पर हैं. धर्मशाला में तीन वनडे मुकाबलों के पहले मौच के लिए जब रोहित शर्मा की अगुआई में टीम इंडिया मैदान पर उतरेगी तो उसकी निगाहें इस मुकाबले को जीतने के साथ-साथ श्रीलंका का क्लीन स्वीप करने के उस अभियान पर होंगी जिसकी कामयाबी उसे वनडे रैंकिंग में भी आईसीसी की रैंकिंग में नंबर वन की पोजिशन दिला सकती है.

आईसीसी की मौजूदा रैंकिंग में भारत और साउथ अफ्रीका, दोनों ही टीमों के 120 पॉइंट्स हैं. लेकिन दशमलव गणना के हिसाब से भारत साउथ अफ्रीका से पीछे है. अगर भारत इस सीरीज में क्लीन स्वीप करता है तो फिर वह नंबर वन की पोजिशन पर पहुंच सकता है. इसकी शुरुआत टीम इंडिया पहले वनडे से ही करना चाहेगी.

नए कप्तानों की अगुआई में होगा मुकाबला

टोनों ही टीमें इस सीरीज की शुरुआत नए कप्तान की अगुआई में करेंगी. कोहली की गैरमौजूदगी में भारत की कमान रोहित शर्मा को सौंपी गई है. धर्मशाला में बतौर कप्तान जब रोहित शर्मा टॉस करने उतरेंगे तो वह वनडे क्रिकेट में टीम इंडिया कप्तानी करने वाले 24वें क्रिकेटर बन जाएंगे. वहीं दूसरी ओर श्रीलंका की कमान तिसारा परेरा के हाथ में है. तिसारा भी इस वनडे के टॉस के साथ ही अपनी टीम की कप्तानी करने वाले 22वें खिलाड़ी बन जाएंगे.

अपनी कप्तानी में आईपीएल में मुंबई इंडियंस को तीन बार खिताब जिताने वाले रोहित के लिए टीम इंडिया की कप्तानी करने एक बड़ी परीक्षा होगी. कोहली ने अपनी कप्तानी में जो मानक स्थापित किए हैं उनकी बराबरी करने का रोहित के ऊपर निश्चित रूप से दबाव होगा.

आंकड़े हैं भारत के पक्ष में

हालांकि रोहित के लिए अच्छी बात यह है कि उन्हें एक ऐसी टीम के खिलाफ कप्तानी की शुरूआत करने का मौका मिल रहा है जो हाल फिलहाल के वक्त में टीम इंडिया के सामने कहीं भी नहीं ठहरती है.

साल 2007 के बाद भारत और श्रीलंका के बीच सात द्विपक्षीय वनडे सीरीज खेली गई हैं और भारत ने वो सातों सीरीज जीती हैं. इस दौरान दोनों टीमों के बीत 34 वनडे खेले गए हैं जिनमें से भारत ने 26 मैच जीते हैं जबकि महज 6 मुकाबलों में ही उसे हार का सामना करना पड़ा है. दो मुकाबले बेनतीजा रहे हैं.

रोहित के साथ-साथ यह वनडे सीरीज भारतीय बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे के लिए भी अपनी खोई फॉर्म को वापस पाने के बेहतरीन मौका है. इसी टीम के खिलफ टेस्ट सीरीज में वह बुरी तरह से फ्लॉप साबित हुए हैं. साउथ अफ्रीका के महत्वपूर्ण दौरे से पहले उनके खोए आत्मविश्वास को वापस लाने के इरादे से दिल्ली टेस्ट की दूसरी पारी में उन्हें तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा गया था. लेकिन वहां भी वह नाकाम रहे.

यूं तो वनडे क्रिकेट में रहाणे का उच्चतम स्कोर 111 रन श्रीलंका के ही खिलाफ है लेकिन इस पारी के अलावा श्रीलंका के सामने रहाणे हमेशा संघर्ष करते नजर आए हैं. इस पारी के अलावा रहाणे ने श्रीलंका के खिलाफ सात मुकाबलों में महज 15 की औसत से 105 रन ही बनाए हैं. ऐसे में यह सीरीज रहाणे के लिए भी एक बड़ा मौका है.

वहीं सिद्धार्थ कौल और श्रेयस अय़्यर जैसे नए क्रिकेटर भी श्रीलंका के खिलाफ अपनी छाप छोड़ने की कोशिश करेंगे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi