S M L

भारत बनाम श्रीलंका, दूसरा टेस्ट : भारतीय गेंदबाजों के नाम रहा पहला दिन

भारत ने श्रीलंका को 205 रन पर समेटा, मेजबान ने भी गंवाया 11 रन पर एक विकेट

FP Staff Updated On: Nov 24, 2017 06:19 PM IST

0
भारत बनाम श्रीलंका, दूसरा टेस्ट : भारतीय गेंदबाजों के नाम रहा पहला दिन

टॉस भले ही श्रीलंकाई कप्तान दिनेश चंडीमल ने जीता. लेकिन नागपुर में दूसरे टेस्ट के पहले दिन शुक्रवार को सब कुछ मेजबान कप्तान विराट कोहली के मनमाफिक हुआ. सिवाय भारत की संक्षिप्त पारी में सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल का विकेट गंवाने के. मेजबान गेंदबाजों ने शुरू से ही मेहमान टीम के बल्लेबाजों पर दबाव बनाए रखा और नियमित अंतराल पर विकेट चटकाए. इसकी बदौलत भारत ने श्रीलंका को 205 रन पर समेटकर अपना पलड़ा भारी रखा. मेहमान टीम की ओर से कप्तान दिनेश चंडीमल (57) और दिमुथ करुणारत्ने (51) ही 50 रन के आंकड़े को पार कर पाए. दोनों ने चौथे विकेट के लिए 62 रन भी जोड़े जो पारी की सबसे बड़ी साझेदारी रही.

भारत ने इसके जवाब में पहले दिन का खेल खत्म होने तक आठ ओवर में एक विकेट पर 11 रन बनाए. चेतेश्वर पुजारा और मुरली विजय दोनों दो-दो रन बनाकर क्रीज डटे हुए हैं. भारत ने शुक्रवार को एकमात्र विकेट लोकेश राहुल (07) का गंवाया. राहुल को चौथे ओवर में लाहिरू गमागे ने बोल्ड कर दिया. गमागे की ऑफ साइड से बाहर जाती गेंद पर शॉट लगाने की कोशिश में राहुल इसे विकेटों पर खेल गए. विजय ने इस बीच काफी सतर्कता के साथ बल्लेबाजी की और अपना पहला रन 16वीं गेंद पर बनाया.

दूसरे दिन का पहला सत्र महत्वपूर्ण 

भारतीय टीम अभी श्रीलंका ने 194 रन पीछे है. मेजबान टीम के लिए दूसरे दिन का पहला सत्र काफी महत्वपूर्ण होगा. शनिवार की सुबह चेतेश्वर पुजारा और मुरली विजय के साथ अन्य बल्लेबाजों का खेल तय करेगा कि इस मैच में ऊंट किस करवट बैठेगा. वैसे खेल पर अभी तक भारत का दबदबा रहा है, लेकिन एक खराब सत्र उसका मजा किरकिरा भी कर सकता है. इसके लिए ज्यादा दूर जाने की जरूरत नहीं है. केवल पिछले टेस्ट पर नजर दौड़ाइए. कोलकाता में किस तरह सत्र दर सत्र मैच अपना रुख बदलता रहा.

पहले सत्र में गंवाए विकेट 

वीसीए स्टेडियम जामठा की पिच पर गेंदबाजों को अच्छा उछाल मिल रहा था जिसके कारण श्रीलंका के बल्लेबाजों ने रक्षात्मक रवैया अपनाते हुए विकेट बचाने को तरजीह दी. इसके बावजूद टीम ने पहले सत्र में सलामी बल्लेबाज सदीरा समरविक्रमा (13) और लाहिरू तिरिमाने (09) के विकेट गंवाए और इस दौरान 27 ओवर में सिर्फ 47 रन जोड़े. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज के बाद पहला टेस्ट खेल रहे इशांत ने समरविक्रमा को स्लिप में पुजारा के हाथों कैच कराके भारत को पहली सफलता दिलाई. पुजारा ने अपनी बायीं ओर नीचा कैच लपका. अनुभवी तिरिमाने 58 गेंद की अपनी पारी के दौरान शुरू से ही बेहद रक्षात्मक होकर खेले, लेकिन अश्विन की गेंद को स्वीप करने के प्रयास में बोल्ड हो गए.

सलामी बल्लेबाज करुणारत्ने को पहले सत्र में भाग्य का सहारा मिला. भारतीय क्षेत्ररक्षकों ने एक बार करुणारत्ने का कैच टपकाया, जबकि वह एक बार नोबॉल पर स्टंप भी हुए. लंच के बाद तीसरे ओवर में ही जडेजा ने एंजेलो मैथ्यूज (10) को एलबीडब्ल्यू किया. मैथ्यूज ने डीआरएस का सहारा लिया, लेकिन तीसरे अंपायर ने मैदानी अंपायर के फैसले को सही करार दिया.

चंडीमल के 3000 टेस्ट रन पूरे

चंडीमल ने अश्विन की गेंद पर पारी का पहला छक्का जड़ा और करुणारत्ने के साथ मिलकर 45वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया. चंडीमल ने उमेश यादव के इसी ओवर में चौके के साथ 3000 टेस्ट रन पूरे किए. वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले श्रीलंका के 13वें बल्लेबाज हैं.

करुणारत्ने ने इशांत की गेंद पर एक रन के साथ 132 गेंद में 14वां अर्धशतक पूरा किया. इशांत ने हालांकि इसके बाद इस सलामी बल्लेबाज को एलबीडब्ल्यू कर दिया. उन्होंने 147 गेंद का सामना करते हुए छह चौके जड़े. करुणारत्ने इस पारी के दौरान 2017 में 1000 रन पूरे करने वाले दूसरे बल्लेबाज बने. इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के डीन एल्गर ही इस साल यह उपलब्धि हासिल कर पाए हैं.

तीसरे सत्र में गंवाए छह विकेट 

चाय तक श्रीलंका का स्कोर चार विकेट पर 151 रन था. टीम ने दूसरे सत्र में 32 ओवर में 104 रन जोड़कर दो विकेट गंवाए. श्रीलंका ने तीसरे सत्र में छह विकेट  गंवाए. चाय के बाद चंडीमल ने जडेजा की गेंद पर एक रन के साथ 97 गेंद पर अर्धशतक पूरा किया. लेकिन बाएं हाथ के इस स्पिनर की अगली गेंद को निरोशन डिकवेला (24) हवा में लहरा गए और इशांत ने आसान कैच लपका. अश्विन ने इसके बाद दासुन शनाका (02) को बोल्ड किया. दिलरुवान परेरा (15) को अंपायर ने जडेजा की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट कर दिया, लेकिन डीआरएस पर तीसरे अंपायर ने इस फैसले को पलट दिया. परेरा ने जडेजा पर छक्का जड़ा. जडेजा ने अपने अगले ओवर में फिर परेरा को एलबीडब्ल्यू किया और इस बल्लेबाज ने एक बार फिर डीआरएस लिया, लेकिन इस बार फैसला गेंदबाज के पक्ष में आया.

अगले ओवर में अश्विन ने चंडीमल के खिलाफ एलबीडब्ल्यू की विश्वसनीय अपील की जिसे अंपायर ने ठुकरा दिया. भारतीय कप्तान विराट कोहली ने डीआरएस लिया और तीसरे अंपायर ने श्रीलंका के कप्तान को आउट करार दिया. चंडीमल ने 122 गेंद का सामना करते हुए चार चौके और एक छक्का जड़ा. इशांत ने इसके बाद सुरंगा लकमल (17) को पवेलियन भेजा, जबकि अश्विन ने रंगना हेराथ (04) को अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच कराके श्रीलंका की पारी का अंत किया. अश्विन ने 67 रन पर चार विकेट झटके.  इशांत शर्मा ने 37 रन जबकि रवींद्र जडेजा ने 56 रन देकर तीन-तीन विकेट लिए.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Test Ride: Royal Enfield की दमदार Thunderbird 500X

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi