live
S M L

पिंक वनडे देखने के लिए टिकट का जुगाड़ तक नहीं कर पाए थे क्लासन, जानें फिर कैसे बन गए जीत के हीरो

क्लासन जोहानसबर्ग वनडे के मैन आॅफ द मैच रहे, लेकिन दो सप्ताह तक उनके पास इस मैच को देखने के लिए टिकट तक नहीं था

Updated On: Feb 12, 2018 12:01 PM IST

FP Staff

0
पिंक वनडे देखने के लिए टिकट का जुगाड़ तक नहीं कर पाए थे क्लासन, जानें फिर कैसे बन गए  जीत के हीरो

भारत के खिलाफ साउथ अफ्रीका ने पिंक और चौथा वनडे जीतकर सीरीज में अपनी उम्मीदें कायक रखी हुई है और उनकी उम्मीदों को कायम रखने वाले हैं अपना दूसरा अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले हेनरिक क्लासन, जिन्होंने विजयी पारी खेलकर मेजबान की मरी हुई उम्मीदों को जिंदा कर दिया. क्लासन ने अपना अंतरराष्ट्रीय मैच 7 फरवरी को और दूसरा 10 फरवरी को खेला. हालांकि उन्हें उम्मीद नहीं थी कि वे अपना डेब्यू मैच भारत के खिलाफ हीं खेलने वाले हैं, तभी तो वे पिंक वनडे देखने के लिए टिकट का जुगाड़ कर रहे थे, लेकिन उन्हें इस खास वनडे मैच के लिए टिकट हीं नहीं मिल पाया.

अब आप सोच रहे होंगे कि कुछ दिन पहले तक दर्शक दीर्घा में बैठकर मैच देखने की आस लगाए हुए क्लासन आखिर कैसे पिंक वनडे के जीत के हीरो बन गए. जोहानसबर्ग के चौथा वनडे जीतने के बाद क्लासन ने खुद ही इसका खुलासा किया था कि करीब दो सप्ताह पहले तक (जब वे टीम का हिस्सा नहीं थे) वे पिंक वनडे देखने के लिए टिकट तक मैनेज नहीं पाए थे. उन्होंने कहा कि वे भाग्यशाली है कि साउथ अफ्रीकन टीम का हिस्सा बने और कहा कि पिछले कुछ सप्ताह में उनका ये सफर किसी सपने से कम नहीं रहा. चोटिल क्विंटन डी कॉक की जगह शामिल किए गए क्लासन ने इस मैच में 27 गेंदों पर 43 रन की अहम पारी खेली थी.

उन्होंने कहा कि मेरे लिए विश्वास न करने वाला अनुभव है. मैनें हमेशा ही इसका सपना देखा था। क्लासन ने कहा कि दो सप्ताह पहले उन्होंने अपनी पत्नी को कहा था कि उनके पास इस मैच के टिकट नहीं है. उन्होंने दर्शको के बारे में कहा कि इससे पहले उन्हें कभी ऐसा अनुभव नहीं हुआ

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi