S M L

भारत बनाम साउथ अफ्रीका, पहला टेस्ट: क्या हो सकती है भारत की प्लेइंग इलेवन

नंबर छह की पोजिशन पर कोहली को करनी पड़ेगी माथापच्ची, रोहित-पांड्या में से किसी एक को ही मिलेगा मौका

Sumit Kumar Dubey Sumit Kumar Dubey Updated On: Jan 05, 2018 10:18 AM IST

0
भारत बनाम साउथ अफ्रीका, पहला टेस्ट: क्या हो सकती है भारत की प्लेइंग इलेवन

कप्तान कोहली की अगुआई में टेस्ट क्रिकेट में नंबर वन के रुतबे के साथ साउथ अफ्रीका में टेस्ट सीरीज खेलने पहुंची टीम इंडिया शुक्रवार से अपने अभियान का आगाज करने वाली है. केपटाउन में पहले टेस्ट के साथ ही टीम इंडिया के लिए खुद को विदेशी धरती पर भी अव्वल नंबर साबित करने का टेस्ट शुरू हो जाएगा. साउथ अफ्रीका की धरती पर टीम इंडिया का रिकॉर्ड बेहद खराब है ऐसे में सवाल है कि कोहली और उनका मैनेजमेंट उन कौन से 11 खिलाड़ियों को चुनेगा जिनके कंधों पर इतिहास को बदलने की जिम्मेदारी होगी.

बल्लेबाजी ऑर्डर चुनने में नहीं है परेशानी

जहां तक बल्लेबाजी की बात है तो इस दौरे से शुरू होने से पहले ही शिखर धवन के चखने की चोट ने कप्तान कोहली की मुश्किलें बढ़ा दी थी लेकिन फिर खबर आई कि धवन पहले टेस्ट के लिए फिट हो गए हैं. इस दौरान मुरली विजय और धवन के अलावा टीम में मौजूद केएल राहुल ने भी जमकर अभ्यास किया है.

मुरली विजय का तो प्लेइंग इलेवन में स्थान पक्का है और धवन अगर वाकई में पूरे फिट हैं तो फिर विजय के साथ पारी की शुरूआत करके साउथ अफ्रीकी पेस बैटरी का सामना करने का जिम्मा धवन को ही सौंपा जा सकता है.

तीसरे नंबर की पोजिशन किसी भी टीम के बैटिंग ऑर्डर के लिए बेहद अहम होती है. टीम के की यह खुशकिस्मती है कि उसके पास इस पोजिशन के लिए चेतेश्वर पुजारा जैसा बल्लेबाज मौजूद है जो इससे पहले भी दो बार साउथ अफ्रीका का दौरा कर चुके हैं. चौथे नंबर पर कप्तान कोहली का आना तय है. पिछले कुछ वक्त से पूरी दुनिया को अपनी बल्लेबाजी का मुरीद बना चुके कोहली के लिए केपटाउन में खुद को साबित करके टीम इंडिया के लिए कप्तानी पारी खेलने की जिम्मेदारी होगी.

पांचवीं पोजिशन के लिए अजिंक्य रहाणे का टीम में आना तय है. हालांकि घेरलू धरती पर श्रीलंका जैसी कमजोर टीम के खिलाफ भी रहाणे कुछ खास कमाल नहीं दिखा सके थे लेकिन रहाणे की काबिलियत पर किसी को शक नहीं है और उम्मीद है कि वह साउथ अफ्रीका दौरे के इस पहले टेस्ट में अपनी बल्लेबाजी के जरिए खुद पर बने दबाव को खत्म करने में कामयाब होंगे.

नंबर छह पर फंसा है पेंच

प्लेइंग इलेवन के लिए टीम मैनेजमेंट को असली माथापच्ची छठी पोजिशन के लिए करनी होगी. विकल्प के तौर पर कप्तान कोहली के पास एक ओर तो घरेलू सीजन में धमाल मचा चुके रोहित शर्मा है तो दूसरी ओर ऑल राउंडर हार्दिक पांड्या हैं. अगर कोहली छह बल्लेबाज और पांच गेंदबाजों के कॉम्बिनेशन के साथ उतरने का मन बनाते हैं तो फिर पांड्या की प्लेइंग इलेवन में जगह बन सकती है. मध्यम गति के गेंदबाज पांड्या टीम इंडिया को एक अतिरिक्त गेंदबाज का विकल्प मुहैया करा सकते है लेकिन सवाल यह है क्या कप्तान कोहली महज तीन टेस्ट खेलने वाले पांड्या को साउथ अफ्रीका की पेस बैटरी के सामने छठे नंबर पर उतारने का रिस्क लेंगे वह भी तब जबकि उनके पास शानदार फॉर्म में चल रहे रोहित शर्मा का विकल्प मौजूद हो.

अगर फिट हुए तो जडेजा को मिलेगा मौका

सातवें नंबर पर रिद्धिमान साहा मौजूद रहेंगे. रवींद्र जडेजा वायरल से पीड़ित है. उनके और अश्विन के बीच में से किसी एक फिरकी गेंदबाज को ही प्लेइंग इलेवन में जगह मिल सकती है. साउथ अफ्रीकी टीम में महज दो बल्लेबाज ही बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं लिहाज अगर जडेजा मैच से पहले फिट हो जाते हैं तो उनकी जगह प्लेइंग इलेवन में बन सकती है.

इस सीरीज में भारत के लिए सबसे अहम उसाक तेज गेंदबाजी डिपार्टमेंट है. इशांत शर्मा को साउथ अफ्रीका में खेलने का अनुभव है लिहाजा उनके साथ मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार को टीम इंडिया में जगह मिल सकती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
SACRED GAMES: Anurag Kashyap और Nawazuddin Siddiqui से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi