S M L

भारत बनाम साउथ अफ्रीका दूसरा वनडे : 20 ओवर में ही टीम इंडिया ने जीत लिया सेंचुरियन

युजवेंद्र चहल ने झटके पांच विकेट, धवन ने खेली अर्धशतकीय पारी, भारत को मिली बड़ी जीत

Updated On: Feb 04, 2018 06:57 PM IST

FP Staff

0
भारत बनाम साउथ अफ्रीका दूसरा वनडे : 20 ओवर में ही टीम इंडिया ने जीत लिया सेंचुरियन

पहली बार वनडे में साउथ अफ्रीका की कप्तानी कर रहे 23 वर्षीय एडेन मार्करम की ख्वाहिश अपने घरेलू मैदान पर जोरदार जीत दिलाने की थी, लेकिन सेंचुरियन में दूसरा वनडे अंतरराष्ट्रीय मैच उनके लिए बुरा स्वप्न साबित हुआ. रविवार को उनके लिए शुरू से कुछ भी अच्छा नहीं रहा. पहले वह टॉस हार गए और उनकी टीम अपनी सरजमीं पर अब तक के अपने सबसे न्यूनतम स्कोर 118 रन पर आउट हो गई. फिर उनके गेंदबाज भी कोई चुनौती पेश नहीं कर सके. भारत ने केवल 20.3 ओवर में एक विकेट पर 119 रन बनाकर नौ विकेट से जीत दर्ज की और छह मैचों की सीरीज में 2-0 से बढ़त बनाई.

युजवेंद्र चहल ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया और कलाइयों के दूसरे गेंदबाज कुलदीप यादव के सहयोग से फिर से साउथ अफ्रीका पर कहर बरपाया. चहल ने 22 रन देकर पांच विकेट लिए, जबकि कुलदीप ने 20 रन देकर तीन विकेट चटकाए. पिच काफी शुष्क थी और डरबन में खेले गये पहले मैच की तरह इस मैच में भारत के कलाइयों के दोनों स्पिनरों ने पर्याप्त टर्न हासिल किया और साउथ अफ्रीका को 32.2 ओवर में ढेर करने में मुख्य भूमिका निभाई.

धवन और कोहली के बीच 93 रन की अटूट साझेदारी

भारत की तरफ से सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (नाबाद 51) और कप्तान विराट कोहली (नाबाद 46) ने दूसरे विकेट के लिए 93 रन की अटूट साझेदारी की. साउथ अफ्रीकी पारी जल्द समाप्त होने के कारण भारत को तुरंत ही अपनी पारी शुरू करनी पड़ी, लेकिन तब अजीबोगरीब स्थिति पैदा हो गयी जब अंपायरों ने नियमों के तहत उस समय लंच घोषित कर दिया जब भारतीय टीम लक्ष्य से केवल दो रन दूर थी. भारत ने आखिर में 177 गेंद शेष रहते हुए जीत हासिल की जो उसकी शेष गेंदों के हिसाब से भारत से बाहर किसी टेस्ट खेलने वाले देश पर सबसे बड़ी जीत है. इस लिहाज से यह साउथ अफ्रीका की अपनी सरजमीं पर सबसे बड़ी हार है.

चहल बने साउथ अफ्रीकी सरजमीं पर पांच विकेट लेने वाले दूसरे भारतीय

चहल का प्रदर्शन साउथ अफ्रीका में किसी भारतीय स्पिनर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. इससे पहले युवराज सिंह ने 2003 में पीटरमैरित्जबर्ग में छह रन देकर चार विकेट लिए थे. चहल साउथ अफ्रीकी सरजमीं पर पांच विकेट लेने वाले दूसरे भारतीय गेंदबाज भी हैं. उनसे पहले आशीष नेहरा ने 2003 में पोर्ट एलिजाबेथ में इंग्लैंड के खिलाफ 23 रन देकर छह विकेट लिए थे.

आखिरी छह विकेट 19 रन के अंदर गंवाए साउथ अफ्रीका ने

अनुभवी एबी डिविलियर्स और कप्तान फाफ ड्यू प्लेसी के चोटिल होने से पंगु बनी साउथ अफ्रीकी टीम के पांच बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे, लेकिन कोई भी 25 से अधिक रन नहीं बना पाया. साउथ अफ्रीका ने अपने आखिरी छह विकेट 19 रन के अंदर गंवाए. इससे पहले उसका अपनी धरती पर न्यूनतम स्कोर 119 रन था जो उसने इंग्लैंड के खिलाफ 2009 में पोर्ट एलिजाबेथ में बनाया था. यह इस मैदान पर किसी भी टीम का न्यूनतम स्कोर है. इससे पहले जिम्बाब्वे ने 2009 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ यहां 119 रन बनाए थे.

भारत ने गंवाया सिर्फ रोहित का विकेट

भारतीय बल्लेबाजों को इस तरह की कोई परेशानी नहीं हुई. रोहित शर्मा (15) ने मोर्ने मोर्केल के पहले ओवर में ही छक्का जड़कर अपने इरादे जतला दिए थे. वह हालांकि लगातार दूसरे मैच में देर तक नहीं टिक पाए और कैगिसो रबाडा के बाउंसर पर हुक करके फाइन लेग पर कैच दे बैठे. इसके बाद धवन और कोहली ने सहजता से रन बटोरे. कोहली ने पिछले मैच की अपनी शतकीय पारी को ही आगे बढ़ाया. रबाडा की उठती गेंद को उन्होंने फाइन लेग पर छह रन के लिए भी भेजा.

धवन ने लगाया 24वां वनडे अर्धशतक

साउथ अफ्रीका के स्पिनर इमरान ताहिर और तबरेज शम्सी प्रभावित नहीं कर पाए. धवन और कोहली ने आसानी से उनके सामने रन बटोरे. बायें हाथ के बल्लेबाज धवन ने 49 गेंदों पर अपना 24वां वनडे अर्धशतक पूरा किया. उन्होंने 56 गेंदें खेली तथा नौ चौके लगाए. कोहली की 50 गेंद की पारी में चार चौके और एक छक्का शामिल है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi