S M L

Ind vs NZ, 4TH ODI: आंकड़ों के लिहाज से भी बेहद शर्मनाक है भारत की यह हार

फॉर्म में चल रही भारतीय टीम 3-0 से सीरीज जीतने के बाद इस तरह से चौथे वनडे में फ्लॉप रहेगी इसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी

Updated On: Jan 31, 2019 02:43 PM IST

FP Staff

0
Ind vs NZ, 4TH ODI: आंकड़ों के लिहाज से भी बेहद शर्मनाक है भारत की यह हार

न्यूजीलैंड के खिलाफ चौथे वनडे में शर्मनाक हार के बाद भारतीय टीम पर सवाल उठाए जा रहे हैं. फॉर्म में चल रही भारतीय टीम 3-0 से सीरीज जीतने के बाद इस तरह से चौथे वनडे में फ्लॉप रहेगी इसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी. भारत को हैम्लिटन में सबसे बड़ी हार का सामना करना पड़ा. रिकॉर्ड के हिसाब से भी यह हार भारत के लिए बेहद निराशाजनक रही है.

ट्रेंट बोल्ट की शानादर गेंदबाजी के सामने भारतीय टीम टिक नहीं पाई और महज 30 ओवर में 92 रन पर ऑलआउट हो गई. 92 रनों का यह स्कोर भारत का सातवां सबसे छोटा स्कोर है. साल 2000 में शारजाह के खिलाफ 54 रनों का स्कोर भारत का सबसे छोटा स्कोर हैं. वहीं न्यूजीलैंड के खिलाफ की बात करें तो .ह भारत को दूसरा सबसे छोटा स्कोर है. साल 2010 में भारतीय टीम को न्यूजीलैंड ने 88 रनों के स्कोर पर ऑलआउट कर दिया था.

वहीं गेंदे शेष रहने के लिहाज से यह भारत की सबसे बड़ी हार है. न्यूजीलैंड ने 92 रनों के लक्ष्य को दो विकेट खोकर 14.4 ओवर में ही हासिल कर लिया. मैच में उस समय 212 गेंदें फेंके जाना बाकी थी.

न्यूजीलैंड के खिलाफ हैमिल्टन में चौथे वनडे में ट्रेंट बोल्ट ने भारतीय टीम को ऐसे झटके दिए जिससे भारतीय बल्लेबाजी अंत तक संभव ही नहीं पाई. भारतीय टीम 92 रनों पर ऑलआउट हो गई. भारत को इस छोटे से स्कोर में सीमित करने में सबसे अहम रोल निभाया ट्रेंट बोल्ट ने. बोल्ट ने अपने 10 ओवर में केवल 21 रन देकर पांच विकेट झटके. इसके साथ ही बोल्ट ने न्यूजीलैंड के लिए वनडे में सबसे ज्यादा बार पांच विकेट लेने के रिचर्ड हैडली के रिकॉर्ड की बराबरी की

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi