S M L

India vs New Zealand, 1st T20 at Wellington : वर्ल्ड कप से पहले विदेश में एक और सीरीज जीतना चाहेगी भारतीय टीम

भारत और न्यूजीलैंड के बीच पहला टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच बुधवार को वेलिंगटन में खेला जाएगा

Updated On: Feb 05, 2019 06:20 PM IST

FP Staff

0
India vs New Zealand, 1st T20 at Wellington : वर्ल्ड कप से पहले विदेश में एक और सीरीज जीतना चाहेगी भारतीय टीम

भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ न्यूजीलैंड में केवल दो टी-20 मैच खेले हैं और दोनों मैच गंवाए हैं. यह 2009 की बात है. इसके लगभग एक दशक बाद भारत के पास न्यूजीलैंड में उसके खिलाफ ना केवल टी-20 मैच बल्कि सीरीज जीतने का भी मौका है. भारत और न्यूजीलैंड के बीच पहला टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच बुधवार को वेलिंगटन में खेला जाएगा. हालांकि दोनों टीमों के टी-20 मैचों के आंकड़े न्यूजीलैंड के पक्ष में हैं. ब्लैक कैप्स ने अब तक जो आठ मैच खेले गए हैं उसमें छह में जीत हासिल की है. न्यूजीलैंड और भारत के बीच टी-20 में आखिरी भिड़ंत 2017 में तिरुवनंतपुरम में हुई थी जिसमें मेहमान टीम ने छह रन से बाजी मारी थी.

इस दौरे में टीम इंडिया की एक और सीरीज जीत उसके मुकुट में एक और नगीने को बढ़ाएगी. हालांकि इस दौरे की शुरुआत भारत के लिए अच्छी नहीं रही थी जब उसे पिछले साल 21 नवंबर को पहले टी-20 मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डकवर्थ लुइस आधार पर दिल तोड़ने वाली चार रन की हार का सामना करना पड़ा था. लेकिन बाद में टीम इंडिया टी-20 सीरीज का परिणाम 1-1 रखने में सफल रही थी. एक मैच बारिश के कारण धुलने के कारण भारतीय टीम तीन मैचों की ये सीरीज अपने नाम करने में असफल रही. उसके बाद टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया में अपनी पहली टेस्ट सीरीज और वनडे सीरीज जीतने में सफल रही.

दो सीरीज जीतने के बाद भारतीय टीम ने तस्मान सागर पार कर  न्यूजीलैंड का रुख किया और 4-1 के बड़े अंतर से वनडे सीरीज जीतने का कमाल कर दिखाया. अब मेहमान टीम के निशाने पर लगातार चौथी सीरीज जीत है और वो भी तीन माह के अंतराल में. इस दौरे का समापन दस फरवरी को तीसरे और अंतिम टी-20 मैच के साथ होगा.

ये भी पढ़ें- Ind vs NZ: तो इस वजह से धोनी को प्लेइंग इलेवन में नहीं देखना चाहते सुनील गावस्कर

कोई कसर नहीं छोड़ेगी टीम इंडिया

अब जब दौरा अपने अंत की ओर है, लेकिन आक्रामक भारतीय टीम ने कुछ नए खिलाड़ियों को जोड़ा है ताकि वो नई सीरीज की शुरुआत बुधवार को वेस्ट पैक स्टेडियम में जोरदार तरीके से कर सके. नियमित कप्तान विराट कोहली को आराम दिए जाने की स्थिति में रोहित शर्मा की अगुआई वाली टीम न्यूजीलैंड में पहली बार टी-20 सीरीज जीतने में कोई कसर नहीं उठा रखेगी. वो भी वनडे सीरीज में 4-1 के रिकॉर्ड अंतर और ऑस्ट्रेलिया के ऐतिहासिक दौरे के बाद.

सफलता के लिए भूखे होंगे ऋषभ पंत 

आउटलुक के अनुसार वनडे सीरीज के दौरान टीम इंडिया विश्व कप के लिए 15 खिलाड़ियों को चुने जाने की पहेली सुलझाने में काफी हद तक सफल रहा है. लेकिन जिन कुछ स्थानों पर अभी अनिश्चितता है उसे ठीक करने के लिए टीम प्रबंधन की मदद ये टी-20 सीरीज करेगी. वनडे विश्व कप मई-जून में इंग्लैंड में खेला जाएगा. वनडे टीम का हिस्सा नहीं रहे युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत की टी-20 टीम में वापसी हुई है और वह सफलता के लिए भूखे होंगे. ये सीरीज उनके लिए विश्व कप टीम में स्थान हासिल करने के लिए सुनहरा मौका है. अनुभवी महेंद्र सिंह धोनी की भी टी-20 टीम में वापसी हुई है. उन्हें पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में मौका नहीं दिया गया था. इसलिए उनके प्रदर्शन पर भी सबकी निगाह होगी. उन्होंने अपना आखिरी टी-20 मैच पिछले साल जुलाई में खेला था.

बल्लेबाजी में दारोमदार रोहित पर

रोहित भारतीय टीम में कोहली के बाद सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज माने जाते हैं. ऐसे में टीम की जिम्मेदारी उन पर है. टी-20 में रोहित का जलवा हमेशा देखने को मिला है, लेकिन विदेशी जमीन पर रोहित की परेशानी जगजाहिर है. रोहित को इस पर ध्यान देना होगा. रोहित के अलावा उनके सलामी जोड़ीदार शिखर धवन भी टी-20 में अच्छा करते आए हैं.

क्या शुभमन गिल को मिलेगा फिर मौका

वनडे में कोहली की गैरमौजूदगी में युवा बल्लेबाज शुभमन गिल को तीसरे नंबर भेजा गया था. वह हालांकि दोनों मैचों में विफल रहे थे. देखना होगा कि क्या गिल को टीम प्रबंधन टी-20 पदार्पण का मौका देता है. वनडे टीम में अंबाती रायुडू टीम का हिस्सा थे, लेकिन टी-20 में वह नहीं हैं. उनके स्थान पर युवा बल्लेबाज ऋषभ पंत अंतिम एकादश में आ सकते हैं. वहीं केदार जाधव का खेलना तय है.

ये भी पढ़ें- जन्मदिन विशेष: भुवी के खास दिन पर जानें उनके कुछ 'खास' रिकॉर्ड

भुवनेश्वर कुमार संभालेंगे गेंदबाजी की जिम्मेदारी

गेंदबाजी में एक बार फिर भुवनेश्वर कुमार पर जिम्मेदारी होगी. यहां उन्हें पहले से ज्यादा सतर्क और रहना होगा क्योंकि उनके साथ सिद्धार्थ कौल और खलील अहमद जैसे युवा तेज गेंदबाज हैं. इन दोनों में से कौन  खेलेगा यह मैच के दिन ही पता चलेगा. भुवनेश्वर को हालांकि हार्दिक पांड्या का भी साथ मिलेगा. युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव ने वनडे के अलावा टी-20 में भी अहम रोल निभाया है. इन दोनों के अलावा क्रुणाल पांड्या के रूप में रोहित के पास एक और स्पिन गेंदबाजी विकल्प हैं. क्रुणाल अंत में बल्ले से बड़े शॉट भी खेल सकते हैं और इस लिहाज से वह इलेवन में तय माने जा रहे हैं. अब देखना होगा कि चहल और कुलदीप दोनों में से कौन उनके साथ जाता है.

मार्टिन गप्टिल के न होने से झटका लगा है कीवी टीम को 

वहीं कीवी टीम की बात की जाए तो उसे मार्टिन गप्टिल के न होने से बड़ा झटका लगा है, लेकिन उसके पास कॉलिन मनरो जैसा टी-20 का खतरनाक बल्लेबाज है. वहीं कप्तान केन विलियमसन के अलावा रॉस टेलर भी टी-20 में किसी भी गेंदबाजी आक्रमण के खिलाफ खतरनाक साबित हो सकते हैं. गेंदबाजी में एक बार फिर ट्रेंट बोल्ट और टिम साउथी को जिम्मे भारतीय बल्लेबाजों को रोकने का भार होगा. मिचेल सेंटनर इस सीरीज में कीवी टीम के लिए अहम रोल निभा सकते हैं.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi