S M L

India vs New Zealand: कितनी शिद्दत से हार्दिक पांड्या को याद कर रहे हैं कप्तान कोहली!

करण जौहर के शो कॉफी विद करण में अपने विवादास्पद बयानों के चलते टीम इंडिया से सस्पेंड हो चुके हैं हार्दिक पांड्या

Updated On: Jan 22, 2019 04:08 PM IST

Bhasha

0
India vs New Zealand: कितनी शिद्दत से हार्दिक पांड्या को याद कर रहे हैं कप्तान कोहली!

टीवी शो कॉफी बिद करण में विवादास्पद बयानबाजी करने वाले ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या के भविष्य को लेकर बीसीसीआई अभी तक कोई फैसला नहीं कर सकी लेकिन टीम इंडिया को न्यूजीलैंड मे उनकी कमी शिद्दत के साथ मसूस हो रही है.

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने विश्व कप में आदर्श गेंदबाजी संयोजन के लिए टीम में पांड्या की मौजूदगी पर जोर देते हुए अपनी मजबूरियां गिनाईं. बुधवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरू हो रही पांच एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों की सीरीज से पहले भारत को तीसरे विशेषज्ञ तेज गेंदबाज को लेकर परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

यह भी पढ़ें: India vs New Zealand 1st ODI: क्या न्यूजीलैंड में भी दौड़ेगा भारत की जीत का घोड़ा!

हार्दिक के विकल्प के तौर पर खेले खलील अहमद और मोहम्मद सिराज के खिलाफ ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने पहले दो एकदिवसीय मैचों में आसानी से रन बटोरे थे जबकि विजय शंकर ने मेलबर्न में निर्णायक मैच में छह ओवर किफायती गेंदबाजी की. आदर्श गेंदबाजी संयोजन के बारे में पूछने पर कप्तान ने कहा, ‘ईमानदारी से कहूं तो यह ऑलराउंडर पर निर्भर करता है. अगर आप दुनिया की सबसे मजबूत टीमों को देखें तो उनके पास कम से कम दो आलराउंडर हैं, किसी टीम में तीन भी, इससे आपको काफी गेंदबाजी विकल्प मिलते हैं.’  कोहली ने कहा कि तीसरा तेज गेंदबाज तभी विकल्प है जब विशेषज्ञ ऑलराउंडर उपलब्ध नहीं हो.

कोहली ने मैकलीन पार्क में होने वाले पहले वनडे मैच से पूर्व कहा, ‘अगर विजय शंकर या हार्दिक जैसा खिलाड़ी नहीं खेलता है तभी तीन गेंदबाजों के साथ उतरना समझदारी भरा लगता है. क्योंकि अगर कोई ऑलराउंडर तेज गेंदबाजी के कुछ ओवर फेंक देता है तो जरूरी नहीं कि तीसरे गेंदबाज के रूप में आपको ऐसे गेंदबाज की जरूरत हो जो 140 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से गेंदबाजी कर सकता हो.’

हार्दिक की अनुपस्थिति पर कोहली ने कहा, ‘मेरे तीन गेंदबाजों का समर्थन करना हो या एशिया कप, ऐसा तभी हुआ जब हार्दिक उपलब्ध नहीं था. हमें तीन तेज गेंदबाजों को खिलाना पड़ा. जब भी ऑलराउंडर उपलब्ध होता है आप तीसरे तेज गेंदबाज के बारे में नहीं सोचते जब तक कि हालात पूरी तरह से स्पिन गेंदबाजी के खिलाफ नहीं हों.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi