S M L

India vs Hong Kong, Asia Cup 2018 : अंतिम ओवरों में भारतीय गेंदबाजों ने दिखाया दम, वरना हॉन्ग कॉन्ग ने ...

भारत को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ महत्वपूर्ण मुकाबले से पहले कमजोर हॉन्ग कॉन्ग पर जीत दर्ज करने के लिये पसीना बहाना पड़ा

Updated On: Sep 19, 2018 01:57 AM IST

FP Staff

0
India vs Hong Kong, Asia Cup 2018 : अंतिम ओवरों में भारतीय गेंदबाजों ने दिखाया दम, वरना हॉन्ग कॉन्ग ने ...

हॉन्ग कॉन्ग के निजाकत खान (92) और कप्तान अंशुमन रथ (73) ने पहले विकेट के लिए 174 रन की शतकीय साझेदारी कर दुबई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में मंगलवार को करोड़ों क्रिकेट प्रशंसकों का दिल जीत लिया. दोनों के बीच रिकॉर्ड साझेदारी ने भारतीय क्रिकेट प्रेमियों के माथे पर बल ला दिए थे, लेकिन उसके बल्लेबाजों की अनुभवहीनता और अंतिम 15 ओवरों में भारतीय गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन ने ये तय कर दिया कि हॉन्ग कॉन्ग एशिया कप-2018 के ग्रुप-ए के अपने दूसरे मैच में बड़ा उलटफेर नहीं कर सकेगा. हॉन्ग कॉन्ग को भारत के हाथों 26 रन से हार का सामना करना पड़ा.

शिखर धवन की शतकीय पारी से चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचने के बावजूद भारत को चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ महत्वपूर्ण मुकाबले से पहले कमजोर हॉन्ग कॉन्ग पर जीत दर्ज करने के लिये पसीना बहाना पड़ा. इंग्लैंड दौरे में नाकाम रहे धवन ने 120 गेंदों पर 127 रन की पारी खेली जो उनके वनडे करियर का 14वां शतक है. उन्होंने 15 चौके और दो छक्के लगाए तथा टीम में वापसी करने वाले अंबाती रायुडू (60) के साथ दूसरे विकेट के लिए 116 रन की साझेदारी भी की. हॉन्ग कॉन्ग ने हालांकि भारत को सात विकेट पर 285 रन ही बनाने दिए.

Dubai : Hong Kong's captain Anshuman Rath, right, and Nizakat Khan run between the wickets during the one day international cricket match of Asia Cup between India and Hong Kong in Dubai, United Arab Emirates, Tuesday, Sept. 18, 2018.AP/ PTI(AP9_18_2018_000198B)

निजाकत खान और अंशुमन रथ ने पहले विकेट के लिए रिकॉर्ड 174 रन जोड़कर हॉन्ग कॉन्ग को स्वर्णिम शुरुआत दिलाई. हॉन्ग कॉन्ग की तरफ से यह वनडे में किसी भी विकेट के लिए सर्वश्रेष्ठ साझेदारी है. हॉन्ग कॉन्ग के पास बड़ा उलटफेर करने का स्वर्णिम मौका था, लेकिन यहां पर अनुभवहीनता उसके आड़े आई और आखिर में वह आठ विकेट पर 259 रन ही बना पाया.

मौजूदा चैंपियन को जूझना पड़ा

हॉन्ग कॉन्ग की टीम हालांकि बढ़े मनोबल के साथ स्वदेश लौटेगी क्योंकि उसके सामने मौजूदा चैंपियन और दुनिया की नंबर दो टीम को जीत के लिए संघर्ष करना पड़ा. निजाकत और अंशुमन ने जिस धैर्य और आत्मविश्वास के साथ भारत के तेज और स्पिन गेंदबाजों का सामना किया उससे रोहित शर्मा और उनके साथियों की पेशानी पर बल पड़ गए थे. पहले दस ओवरों में जब तीनों तेज गेंदबाज नहीं चले तो रोहित ने युजवेंद्र चहल (3/46) के रूप में स्पिन आक्रमण लगाया. उन्होंने अपनी ही गेंद पर अंशुमन का कैच छोड़ा. चहल और कुलदीप यादव (2/42) के अलावा केदार जाधव ने बीच के ओवरों में रनों पर जरूर अंकुश लगाया. कुलदीप ने मैच के दौरान वनडे में 50 विकेट भी पूरे किए.

Dubai : India's Yuzvendra Chahal, right, interacts with teammate Mahendra Singh Dhoni, center, as Hong Kong's Nizakat Khan, left, prepares to bat during the one day international cricket match of Asia Cup between India and Hong Kong in Dubai, United Arab Emirates, Tuesday, Sept. 18, 2018. AP/ PTI(AP9_18_2018_000209B)

निजाकत और अंशुमन ने जड़े अर्धशतक

निजाकत ने शार्दुल ठाकुर पर छक्के से अपना अर्धशतक पूरा किया, जबकि अंशुमन ने इसके लिए 75 गेंदें खेलीं. इन दोनों की भागीदारी पिछले एक साल में भारत के खिलाफ पहले विकेट के लिए पहली शतकीय साझेदारी है. हॉन्ग कॉन्ग की तरफ से पहली बार आईसीसी के किसी पूर्णकालिक सदस्य देश के खिलाफ शतकीय साझेदारी निभाई गई.

35वें ओवर में मिली पहली सफलता

भारत को आखिर में 35वें ओवर में जाकर सफलता मिली जब अंशुमन ने कुलदीप की गेंद पर लाफ्टेड ड्राइव खेलकर रोहित को कैच दिया. अपना पहला वनडे खेल रहे बाएं हाथ के तेज गेंदबाज खलील अहमद (3/48) ने अगले ओवर में निजाकत को एलबीडब्ल्यू आउट करके उन्हें अपना पहला शतक पूरा नहीं करने दिया. इसके बाद बाबर हयात (18), किचिंत शाह (17), एहसान खान (22) और तनवीर अफजल (नाबाद 12) भी दोहरे अंकों में पहुंचे लेकिन हॉन्ग कॉन्ग बड़ा उलटफेर नहीं कर पाया.

अंतिम दस ओवरों में 48 रन बनाए भारत ने

इससे पहले भारत ने 40 ओवर के बाद दो विकेट पर 237 रन बनाए थे और लग रहा था कि वह 300 से अधिक का स्कोर बनाने में सफल रहेगा, लेकिन अंतिम दस ओवरों में वह 48 रन ही बना पाया और इस बीच उसने पांच विकेट भी गंवाए. इन ओवरों में भारत ने केवल एक चौका और एक छक्का लगाया. हॉन्ग कॉन्ग की तरफ से ऑफ स्पिनर किंचित शाह ने 39 रन देकर तीन, जबकि एहसान खान ने 65 रन देकर दो विकेट लिए.

रायुडू ने अपनी दावेदारी मजबूत की

रोहित से पाकिस्तान के खिलाफ मैच से पहले बड़ी पारी की उम्मीद थी, लेकिन विराट कोहली की अनुपस्थिति में कप्तानी का दायित्व संभाल रहा मुंबई का यह बल्लेबाज केवल 23 रन बना पाया और ऑफ स्पिनर एहसान खान की गेंद पर ‘क्रास बैट’ से शॉट खेलकर मिडआफ पर कैच दे बैठे. लेकिन धवन और यो-यो टेस्ट में नाकाम रहने के कारण इंग्लैंड दौरे पर नहीं जा पाने वाले रायुडू ने सहजता से रन बटोरे. रायुडू ने 70 गेंदों की अपनी पारी में तीन चौके और दो छक्के लगाकर शीर्ष मध्यक्रम में एक स्थान के लिए अपनी दावेदारी मजबूत की, लेकिन चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए आये दिनेश कार्तिक (33) अच्छी शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल पाए.

धोनी नहीं खोल सके खाता

भारत ने 40 ओवर के बाद 12 गेंदों के अंदर तीन विकेट गंवाए, जिसमें धवन और कार्तिक के अलावा महेंद्र सिंह धोनी (00) का विकेट भी शामिल था. पिछली बार हॉन्ग कॉन्ग के खिलाफ शतक जड़ने वाले धोनी ने एहसान खान की गेंद पर लेट कट करने के प्रयास में विकेटकीपर स्कॉट मैकेनी को कैच दिया. दर्शक धोनी के आउट होने से सबसे अधिक निराश दिखे. मैकेनी ने इससे पहले रायुडू का भी खूबसूरत कैच लिया था.

105 गेंदों पर शतक पूरा किया धवन ने

धवन ने पारी के 36वें ओवर में 105 गेंदों पर अपना शतक पूरा किया. उन्होंने अपने दोनों छक्के शतक पूरा करने के बाद लगाए और दोनों अवसरों पर गेंदबाज एहसान खान थे. ऑफ स्पिनर किंचित शाह की गेंद भी सीमा रेखा पार पहुंचाने के प्रयास में उन्होंने मिडविकेट पर कैच थमाया. अंतिम ओवरों में तेजी से रन बनाने की जिम्मेदारी केदार जाधव की थी, लेकिन चोट से उबरने के बाद वापसी करने वाला यह बल्लेबाज 27 गेंदों पर नाबाद 28 रन ही बना पाया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi