S M L

कहीं अगस्त में विराट कोहली की ‘ग्रेजुएशन’ में अड़ंगा तो नहीं लगाएगा जिम्मी

इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में विराट कोहली के लिए सबसे बड़ी चुनौती तेज गेंदबाज एंडरसन होंगे जिनके खिलाफ उनके रिकॉर्ड शानदार नहीं हैं

Updated On: Jul 28, 2018 12:56 PM IST

Jasvinder Sidhu Jasvinder Sidhu

0
कहीं अगस्त में विराट कोहली की ‘ग्रेजुएशन’ में अड़ंगा तो नहीं लगाएगा जिम्मी

पिछले कुछ दिनों से इंग्लैंड के बाकी शहरों की तरह बर्मिंघम का मौसम भी गर्म है. वैसे मौसम विभाग के कंप्यूटर पर पहली अगस्त से शुरू हो रहे टेस्ट मैच से पहले बारिश दिखाई दे रही है.

ऐसा कयास है कि गर्म मौसम का फायदा भारतीय टीम को मिल सकता है क्योंकि संभव है मौसम के कारण कि पिच पर ज्यादा घास न हो और बॉल को ज्यादा स्विंग न मिले.

कप्तान विराट कोहली जबरदस्त फॉर्म के साथ इंग्लैंड पहुंचे हैं. यह दौरा उनके लिए ग्रेजुएशन पूरी करने जैसा है क्योंकि उनकी रिकॉर्ड बुक में इंग्लैंड में ना कोई शतक है और ना ही कोई अर्धशतक.

सिर्फ इंग्लैंड व बांग्लादेश ही हैं जहां विराट को सेंचुरी मारने के बाद जश्न मनाने का सौभाग्य प्राप्त नहीं हुआ है. वैसे बाग्लादेश में विराट एक ही मैच खेले हैं जबकि इंग्लैंड में पांच टेस्ट मैचों की दस पारियों में उनके सिर्फ 134 रन हैं. सिर्फ 288 गेंदों के अपने उस दौरे में वह दो बार जीरो पर आउट हुए थे.

India's Virat Kohli leaves the field after losing his wicket for 1 run during play on day 1 of the first cricket Test match between England and India at Trent Bridge in Nottingham, central England, on July 9, 2014. AFP PHOTO / ANDREW YATES RESTRICTED TO EDITORIAL USE. NO ASSOCIATION WITH DIRECT COMPETITOR OF SPONSOR, PARTNER, OR SUPPLIER OF THE ECB / AFP PHOTO / ANDREW YATES

जैसा कि ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज ग्लेन मैक्ग्रा ने कहा कि भारतीय टीम स्कोर बोर्ड पर खुद को कितना चमका पाती है, यह निर्भर करेगा कि वह इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन की स्विंग को कैसे खेलेगी. बाकी टीम को छोड़ दें, खुद विराट के लिए एंडरसन अभी तक अनसुलझी पहली हैं.

2014 के इंग्लैंड के दौरे पर एंडरसन ने चार बार विराट के साथ खेल कर उन्हें आउट किया था. दूसरे शब्दों में कहें तो विराट को जब चाहे फंसा कर एंडरसन ने विकेटकीपर व स्लिप पर कैच करवाया.

उस सीरीज में एंडरसन को विराट की सिर्फ ऑफ स्टंप ही दिखाई दे रही थी. लॉर्डस टेस्ट की पहली पारी में मुश्किल हालत में 34 बॉल पर 25 रन बना चुके विराट मजबूत लग रहे थे कि एंडरसन की तेजी से अंदर आती बॉल बल्ले के किनारे को चूमते हुए विकेटकीपर के दस्तानों चली गई. साउथैम्पटन टेस्ट की पहली पारी में विराट को बॉल ऑफ स्टंप पर खिलाने के बाद एंडरसन ने छठी को बाहर निकाला और बल्ले से निकला एज पहली स्लिप पर खड़े एलिएस्ट कुक के हाथ में था. मैनचेस्टर टेस्ट की दोनों पारियों में विराट एंडरसन के हाथों आउट हो गए. पहली पारी में गेंद आउटस्विंगर फिर स्लिप पर कुक के हाथ में थी. दूसरी पारी में एंडरसन ने बॉल को जरूरत के हिसाब से ही हवा में हिलाया था और एज दूसरी स्लिप पर इयान बेल के हाथों में था.

रोचक पहलू यह है कि वह सीरीज जुलाई और अगस्त के महीने में खेली गई थी. यकीनन चार सालों में विराट के खेल ने बतौर बल्लेबाज नए मानदंड कायम किए हैं और एक पेसर के रूप में एंडरसन की उम्र में चार साल का इजाफा हो चुका है. लेकिन क्या इंग्लैंड की गर्मी के कारण संभावित सूखी पिचों पर एंडरसन पहले की तरह प्रभावी होंगे!

England's James Anderson celebrates his wicket of Australia's Tim Paine on the third day of the first cricket Ashes Test between England and Australia in Brisbane on November 25, 2017. / AFP PHOTO / SAEED KHAN / -- IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE --

एंडरसन के रिकॉर्ड देखने के बाद लगता नहीं कि विराट या टीम इंडिया उन्हें हल्के में लेने की गलती करने की स्थिति में है. 2016 के अगस्त में एंडरसन ने पाकिस्तान के खिलाफ बर्मिंघम और ओवल में टेस्ट मैच खेला था. बर्मिंघम में उन्हें पाकिस्तान के चार टॉप विकेट मिले और ओवल में एक पारी में एक विकेट उनके नाम था. 2017 के अगस्त और सितंबर के ऐसे ही मौसम में इंग्लैंड साउथ अफ्रीका और वेस्टइंडीज के खिलाफ चार टेस्ट मैच खेले थे. मैनचेस्टर में साउथ अफ्रीका के खिलाफ एंडरसन के सात विकेट थे.

फिर वेस्टइंडीज के खिलाफ बर्मिंघम, लीड्स और लॉर्ड्स टेस्ट मैच में एंडरसन के हाथ में नई बॉल थी और जब सितंबर में सीरीज खत्म हुई तो वह 26 बल्लेबाजों की एक पूरी पलटन को निपटा चुके थे.

भारत को पहला मैच बर्मिंघम में खेलना है और वहां एंडरसन का रिकॉर्ड मैच के नतीजे को प्रभावित करने वाला रहा है.

जाहिर है कि एंडरसन के साथ टीम इंडिया के लिए भी यह अगस्त व सितंबर रोमांचक होगा. खासकर बतौर बल्लेबाज विराट के लिए, क्योंकि कहा जाता है कि बल्लेबाज वही है जो इंग्लैंड की पिचों पर उसके तेज गेंदबाजों के सामने रन बनाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi