S M L

जीत की राह पर वापस लौटेगी विराट एंड कंपनी?

राजकोट से उलट यहां पिच से मिलेगी स्पिनर्स को मदद

Updated On: Nov 21, 2016 01:44 PM IST

FP Staff

0
जीत की राह पर वापस लौटेगी विराट एंड कंपनी?

कोहली की एक छवि रही है कि उन्हें पिच के मिजाज को लेकर कोई खास फिक्र नहीं रहती. लेकिन राजकोट टेस्ट खत्म होने के बाद विशाखापत्तनम में उन्होंने यकीनन पिच को बेहद करीबी नजरों से देखा होगा.

राजकोट की पिच पर भारत के लिहाज से कुछ नहीं था. वह मैच तमाम सवाल छोड़कर गया, जिसका जवाब विशाखापत्तनम लेकर आएगा. वो जगह, जहां पहली बार टेस्ट मैच हो रहा है.

विराट और कोच अनिल कुंबले दोनों ने इस चिंता को बेबुनियाद बता ही दिया था कि हमारे स्पिनर कुछ फीके साबित हुए. इस सवाल को भी खारिज किया गया कि निर्जीव पिच पर आर. अश्विन का असर क्यों नहीं दिखता. अब कम से यह तय है कि पिच मददगार होगी.

भारत में भारत से खेलना वैसे भी हमेशा मुश्किल रहा है. अंदाजा इससे लगा सकते हैं कि करीब तीन साल के बाद विपक्षी टीम का कोई खिलाड़ी भारतीय सरजमीं पर शतक बनाने में कामयाब हुआ. राजकोट में हुई ‘मोरल विक्ट्री’ के जोश से इंग्लैंड को हताश करने का काम स्पिनर ही कर पाएंगे.

अश्विन से उम्मीदें

पिछले कुछ समय में अश्विन सबसे कामयाब गेंदबाज रहे हैं. अब भी आईसीसी रैंकिंग उनकी कामयाबी की दास्तान ही कहती है. राजकोट में उन्हें 230 रन देकर तीन विकेट मिले थे.

अश्विन को लगातार जिस तरह अपनी गेंदबाजी में सुधार के लिए जाना जाता है, उम्मीद है कि इस झटके के बाद उनमें बदलाव नजर आएगा.

कैसी होगी टीम इंडिया

पहले कुंबले और फिर विराट कोहली की बातों से यह तय लग रहा है कि गौतम गंभीर को टीम में जगह नहीं मिल पाएगी. फिट हो चुके केएल राहुल उनकी जगह लेंगे.

विराट ने प्रेस कांफ्रेंस में बहुत साफ तरीके से बता दिया कि कौन खेलने वाला है, ‘हमें इस बात को लेकर कोई संदेह नहीं है कि ओपनिंग के लिए विजय के साथ केएल हमारी नंबर एक पसंद हैं. वो टीम में वापस आए हैं और हम उनके साथ ही शुरुआत करने जा रहे हैं.’

पिछले टेस्ट में विराट कोहली ने अश्विन को ऑलराउंडर की तरह मानकर टीम तय की थी. यानी पांच गेंदबाज और पांच बल्लेबाज. विशाखापत्तनम की विकेट को स्पिनर्स के लिए मुफीद माना जा रहा है. ऐसे में तीन स्पिनरों के साथ विराट फिर से उतरने का फैसला कर सकते हैं.

अगर ऐसा लगा कि विकेट पहले ही दिन टर्न लेने लगेगी, तब जरूर सिर्फ दो स्पिनर काफी हो सकते हैं.

कैसा होगा पिच का मिज़ाज

कुंबले और कोहली दोनों संकेत दे चुके हैं कि दूसरे टेस्ट की पिच राजकोट से अलग होगी. यहां पर घास कम होगी.

बीसीसीआई क्यूरेटर कस्तूरी श्रीराम एजेंसी से बात करते हुए कह चुके हैं कि यहां ज्यादा घास नहीं होगी और दूसरे दिन ही पिच टर्न लेने लगेगी. वह भी लंच के आसपास से.

अगर क्यूरेटर दूसरे दिन की बात कह रहे हैं, तो पहले दिन ही स्पिनरों को मदद मिलना संभव है. श्रीराम ने कहा कि दिन गर्म है. ऐसे में विकेट के पूरी तरह सूखा होने की उम्मीद की जा सकती है.

भारत ने यहां पर न्यूजीलैंड के खिलाफ पिछले दिनों वनडे खेला था. उसमें भी स्पिनर को मदद मिली थी. अमित मिश्रा ने पांच विकेट हासिल किए थे.

वोक्स की फिटनेस पर संदेह

इंग्लैंड के लिए राजकोट में क्रिस वोक्स और स्टुअर्ट ब्रॉड ने अच्छी गेंदबाजी की थी. खासतौर पर वोक्स की गेंदों को अच्छी खासी रफ्तार और उछाल मिली थी.

वोक्स पूरी तरह फिट नहीं हैं. अगर वह मैच की सुबह फिट नहीं होते, तो जेम्स एंडरसन को उनकी जगह मिल सकती है.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi