S M L

मौत के मुंह से निकले थे नायर, अब बने हीरो

तिहरे शतक से खुश पिता ने कहा, बेटे के खून में है क्रिकेट

Updated On: Dec 20, 2016 10:36 AM IST

IANS

0
मौत के मुंह से निकले थे नायर, अब बने हीरो

करुण नायर का नाम इसी साल अपने गृहनगर के करीब श्री पार्थसारथी मंदिर में एक हादसे के दौरान चर्चा में आया था. जिस नाव में वह सफर कर रहे थे वह डूब गई थी. उसमें 100 यात्री सवार थे. स्थानीय लोगों ने नायर तथा अन्य यात्रियों को इस हादसे से बचाया था. उन्हीं करुण नायर ने अब तिहरा शतक जमाया है.

इंग्लैंड के खिलाफ एम.ए. चिदंबरम स्टेडियम में चल रहे पांचवें और अंतिम टेस्ट मैच के चौथे दिन सोमवार को तिहरा शतक उन्होंने लगाया. नायर के पिता कलाधरन नायर ने कहा कि क्रिकेट 10 साल की उम्र से ही उनके खून में दौड़ रहा है. करियर का तीसरा टेस्ट मैच खेल रहे नायर ने 303 रनों की नाबाद पारी खेली.

पिता ने जताई खुशी

अपने बेटे की ऐतिहासिक उपलब्धि से खुश कलाधरन ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा, ‘मैं और मेरी पत्नी ने स्टेडियम में बैठ कर अपने बेटे को खेलते देखा. 10 साल की उम्र से ही क्रिकेट उसके खून में दौड़ने लगा था और उसने कड़ी मेहनत की है. उसने यहां तक पहुंचने से पहले पांच साल प्रथण श्रेणी क्रिकेट और उसके बाद दो साल तक रणजी खेला.‘

नायर सोमवार को टेस्ट करियर के पहले शतक के तौर पर तिहरा शतक लगाने वाले दुनिया के तीसरे और भारत के पहले बल्लेबाज बने. इस सूची में पहले स्थान पर वेस्टइंडीज के पूर्व बल्लेबाज गैरी सोबर्स और दूसरे स्थान पर आस्ट्रेलिया के बॉब सिम्पसन हैं.

मां हुईं भावुक

अपने बेटे के शानदार प्रदर्शन से भावुक नायर की मां ने कहा, ‘नायर का जन्म नौ महीने से कम अवधि में हुआ था और डॉक्टर्स ने हमें उसका अधिक ध्यान देने का सुझाव दिया था. नायर ने कम उम्र से ही गलियों से क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था.‘

मां ने कहा, ‘हम अपनी भावनाओं पर काबू नहीं कर पा रहे. हमारी इच्छा थी कि वह भारत के लिए खेले और उन्होंने ऐसा कर दिखाया. आज हमारी इच्छा थी कि वह शतक लगाएं और उन्होंने वो भी कर दिखाया. इससे अधिक और क्या कहें? हम बहुत गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं.‘

टेस्ट शतक जमाने वाले पहले मलयाली खिलाड़ी

करुण टेस्ट में शतक लगाने वाले पहले मलयाली खिलाड़ी बन गए हैं. वह हालांकि बेंगलुरू में रहते हैं और कर्नाटक के लिए रणजी ट्रॉफी खेलते हैं. लेकिन उनके माता-पिता केरल के अलप्पुड़ा के चेंगानूर के रहने वाले हैं और समय-समय पर वहां जाते रहते हैं.

केरल के रणजी खिलाड़ी सचिन बेबी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि वह नायर के शतक लगाने वाले पहले मलयाली खिलाड़ी बनने की खबर सुनकर काफी खुश हैं.

बेबी ने मीडिया से बात करते हुए कहा, "मैंने उनसे एक रात पहले बात की थी. उन्होंने जो किया उसको लेकर वह आश्वस्त लग रहे थे. उन्होंने कहा था कि उन्हें भरोसा है कि वह शतक लगाएंगे. मैं उनके लिए बेहद खुश हूं."  नायर से पहले केरल से टीनू योहानन और एस. श्रीसंत ही टेस्ट क्रिकेट में भारत का प्रतिनिधित्व कर सके हैं.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi