S M L

Ind vs Eng, 4th Test Day 2 : जज्बे, धैर्य और कौशल की मिसाल है पुजारा का शतक, भारत को दिलाई अहम बढ़त

भारत अपनी पहली पारी में 273 रन बनाकर 27 रन और मनोवैज्ञानिक बढ़त हासिल करने में सफल रहा

Updated On: Aug 31, 2018 11:44 PM IST

FP Staff

0
Ind vs Eng, 4th Test Day 2 : जज्बे, धैर्य और कौशल की मिसाल है पुजारा का शतक, भारत को दिलाई अहम बढ़त
Loading...

कहते हैं कि टेस्ट क्रिकेट आपके जज्बे, धैर्य और कौशल की परीक्षा लेता है. अगर ऐसा है तो इंग्लैंड के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन चेतेश्वर पुजारा सौ फीसदी अंकों से पास हुए. पुजारा ने अपने जज्बे और रणनीतिक बल्लेबाजी करने के कौशल का बेहतरीन नमूना पेश करके शुक्रवार को साउथम्पटन में बेजोड़ शतकीय पारी खेली जिससे भारत मोईन अली के झटकों के बावजूद पहली पारी में बढ़त बनाने में सफल रहा.

पुजारा ने नाबाद 132 रन बनाए जिसमें 16 चौके शामिल हैं. उनकी इस बेहतरीन पारी से भारत अपनी पहली पारी में 273 रन बनाकर 27 रन और मनोवैज्ञानिक बढ़त हासिल करने में सफल रहा. अपनी पहली पारी में 246 रन बनाने वाले इंग्लैंड ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक अपनी दूसरी पारी में बिना किसी नुकसान के छह रन बनाए हैं और वह अभी भारत से 21 रन पीछे है. स्टंप उखड़ने के समय एलिस्टेयर कुक दो और कीटोन जेनिंग्स चार रन पर खेल रहे थे.

पुजारा के इर्द गिर्द घूमती रही भारतीय पारी

पुजारा ने आठवें ओवर में क्रीज पर कदम रखा और इसके बाद भारतीय पारी उन्हीं के इर्द गिर्द घूमती रही. उन्हें दूसरे छोर से कप्तान विराट कोहली (46) का अच्छा सहयोग मिला जिनके साथ उन्होंने तीसरे विकेट के लिए 92 रन जोड़े. इन दोनों के अलावा भारत का कोई भी अन्य बल्लेबाज 25 रन तक नहीं पहुंच पाया.  पुजारा ने बेन स्टोक्स की शॉर्ट पिच गेंद से माथे पर लगी चोट के बावजूद अपने जज्बे, धैर्य और कौशल की अच्छी तस्वीर पेश की तथा न सिर्फ अपना 15वां शतक पूरा किया बल्कि जसप्रीत बुमराह (06) के साथ दसवें विकेट के लिए 46 रन जोड़कर भारत को पहली पारी में बढ़त भी दिलाई.

इंग्लैंड की सरजमीं पर पहला शतक लगाया पुजारा ने

जब लग रहा था कि भारत पहली पारी में पिछड़ जाएगा तब पुजारा ने चतुराई भरी बल्लेबाजी की और अधिकतर स्ट्राइक अपने पास रखकर टीम को महत्वपूर्ण बढ़त दिलाई. बुमराह की भी तारीफ करनी होगी जिन्होंने लगभग 70 मिनट तक पुजारा का साथ दिया.  बुमराह ने जब क्रीज पर कदम रखा तब पुजारा शतक से चार रन दूर थे और भारत इंग्लैंड से 18 रन पीछे था. सौराष्ट्र के इस बल्लेबाज ने मोईन की गेंद पर लांग लेग पर दो रन लेकर इंग्लैंड की सरजमीं पर अपना पहला शतक पूरा किया तथा इसके बाद तेजी दिखाई. जो रूट ने ब्रॉड को गेंद सौंपी जिन पर पुजारा ने लगातार दो चौके लगाए.

63 रन देकर पांच विकेट लिए मोईन ने

भारत को सबसे ज्यादा नुकसान ऑफ स्पिनर मोईन अली ने पहुंचाया. उन्होंने 63 रन देकर पांच विकेट लिए. कुछ बल्लेबाजों ने उनके सामने गैरजिम्मेदाराना शॉट लगाकर भी अपने विकेट गंवाए. मोईन अपने करियर में पांच बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट लेने में सफल रहे. तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने 63 रन देकर तीन विकेट लिए.

नहीं टिक पाए शिखर धवन और केएल राहुल

भारत ने सुबह बिना किसी नुकसान के 19 रन से आगे खेलना शुरू किया. शिखर धवन (23) और केएल राहुल (19) देर तक नहीं टिक पाए. इन दोनों को ब्रॉड ने पवेलियन भेजा. राहुल ने एलबीडब्ल्यू के लिए डीआरएस भी लिया, लेकिन फैसला इंग्लैंड के पक्ष में गया जबकि धवन ने विकेट के पीछे कैच थमाया. इसके बाद पुजारा और कोहली ने जिम्मेदारी संभाली. कोहली ने इस बीच अपना छठा रन पूरा करते ही टेस्ट क्रिकेट में 6000 रन पूरे किए. वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले भारत के दसवें और विश्व के 66वें बल्लेबाज हैं. कोहली ने 119वीं पारी में यह मुकाम हासिल किया और वह सुनील गावस्कर (117) के बाद सबसे कम पारियों में यह उपलब्धि करने वाले बल्लेबाज भी बन गए.

दूसरे सत्र में कोहली सहित तीन विकेट गंवाए

भारत ने दूसरे सत्र में कोहली के अलावा अजिंक्य रहाणे (11) और ऋषभ पंत (00) के विकेट गंवाए. ब्रॉड ने कोहली को परेशानी में रखा, लेकिन भारतीय कप्तान को सैम करन ने पवेलियन भेजा. कोहली उनकी ऑफ स्टंप से बाहर जाती गेंद को छेड़ने से खुद को नहीं रोक पाए. गेंद बल्ले को चूमकर पहली स्लिप में एलिस्टेयर कुक के सुरक्षित हाथों में चली गई. कोहली ने अपनी 71 गेंद की पारी में छह चौके लगाए. बेन स्टोक्स की गेंदबाजी को लेकर संशय था, लेकिन उन्होंने बाकायदा गेंद संभाली और शुरू से जूझ रहे रहाणे को एलबीडब्ल्यू किया. रहाणे ने डीआरएस लिया, लेकिन इससे भी फायदा नहीं मिला जबकि लग रहा था कि स्टोक्स ने नोबॉल की थी.

भारतीय बल्लेबाजी पर कहर बनकर टूटे मोईन

इसके बाद मोईन भारतीय बल्लेबाजी पर कहर बनकर टूटे. उन्होंने चाय के विश्राम से पहले अंतिम ओवर में पंत को एलबीडब्ल्यू आउट किया जो 29 गेंदों का सामना करने के बावजूद भी खाता नहीं खोल पाए थे. मोईन ने तीसरे सत्र में हार्दिक पांड्या (04) को जल्द ही चलता किया, जबकि रविचंद्रन अश्विन (01) और मोहम्मद शमी (00) को लगातार गेंदों पर बोल्ड किया. इशांत शर्मा (14) ने कुछ देर तक पुजारा का साथ दिया तथा नौवें विकेट के लिए 32 रन जोड़े. मोईन ने इशांत के रूप में अपना पांचवां विकेट लिया.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0
Loading...

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
फिल्म Bazaar और Kaashi का Filmy Postmortem

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi