S M L

India vs England, 2nd T20: सीरीज जीतकर मेजबान पर दबाव बनाने के इरादे से उतरेगी भारतीय टीम

भारतीय टीम टी20 क्रिकेट में लगातार छठी सीरीज जीतने की दहलीज पर है.

Updated On: Jul 05, 2018 07:03 PM IST

FP Staff

0
India vs England, 2nd T20:  सीरीज जीतकर मेजबान पर दबाव बनाने के इरादे से उतरेगी भारतीय टीम

पहले मैच में शानदार जीत दर्ज करने वाली भारतीय टीम गुरुवार को जब इंग्‍लैंड के खिलाफ दूसरे टी20 मैच के लिए मैदान पर उतरेगी तो उसकी नजर जीत के साथ तीन मैचों की सीरीज अपने नाम करने की भी होगी. भारत के सबसे कठिन दौरे में एक माना जा रहे इस दौरे की शुरुआत भारतीय टीम ने जीत के साथ की. टी20 सीरीज के पहले मुकाबले में कुलदीप यादव के पांच विकेट और केएल राहुल ने नाबाद शतक के दम पर भारत ने मेजबान को 8 विकेट के बड़े अंतर से हराकर सीरीज में बढ़त बनाई थी.

रैंकिंग पर भी होगा असर

भारतीय टीम टी20 क्रिकेट में लगातार छठी सीरीज जीतने की दहलीज पर है. इस सिलसिले का आगाज नवंबर 2017 में न्यूजीलैंड पर घरेलू सीरीज में मिली जीत के साथ हुआ था. उसके बाद से भारत ने एक भी द्विपक्षीय टी20 सीरीज नहीं गंवाई है. भारत अगर सीरीज 2-0 से जीतता है तो आईसीसी रैंकिंग में दूसरे स्थान पर काबिज ऑस्‍ट्रेलिया से अंतर कम हो जाएगा, जबकि 3 . 0 से जीतने पर वह पाकिस्तान के बाद दूसरे स्थान पर आ जाएगा. दूसरी ओर भारत को ऐसा करने से रोकने के लिए ऑस्‍ट्रेलिया को जिम्बाब्वे में चल रही मौजूदा त्रिकोणीय सीरीज के अगले दो मैचों में जीत दर्ज करनी होगी. दूसरी ओर इंग्लैंड अगर हारता है तो न्यूजीलैंड, साउथ अफ्रीका और वेस्टइंडीज के बाद सातवें स्थान पर आ जाएगा. इंग्लैंड ने पिछले 10 टी20 मैचों में से पांच ही जीते हैं.

चाइनामैन होंगे चिंता का विषय

इंग्लैंड के बल्लेबाजों के लिए सबसे बड़ी चिंता चाइनामैन कुलदीप यादव की गेंदबाजी होगी. पहले मैच में हार के बाद कप्तान ऑइन मोर्गन और बल्लेबाज जोस बटलर ने अपने खिलाड़ियों से क्रीज पर संयम बरतने और गेंद को सावधानी से देखने की अपील की थी. इंग्लैंड खेमा अभ्यास के लिए स्पिन गेंदबाजी मशीन ‘मर्लिन’ का इस्तेमाल करेगा, क्योंकि उसके पास अभ्यास की खातिर कलाई के स्पिन गेंदबाज नहीं है. इससे पहले 2005 एशेज से पहले इंग्लैंड ने इस मशीन का इस्तेमाल किया था, जब ऑस्‍ट्रेलिया के पास शेन वार्न जैसे स्पिनर थे. इंग्लैंड के शीर्षक्रम ने तेज आक्रमण को बखूबी झेला था जो भारत के लिए चिंता का सबब है.

भारत :

विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, के एल राहुल, सुरेश रैना, मनीष पांडे, एमएस धोनी, दिनेश कार्तिक, युजवेंद्र सहल, कुलदीप यादव, कृणाल पंड्या, भुवनेश्वर कुमार, दीपक चहार, हार्दिक पंड्या, सिद्धार्थ कौल, उमेश यादव.

इंग्लैंड : ऑइन मोर्गन (कप्तान), मोईन अली, जॉनी बेयरस्टटाे , जैक बाल, जोस बटलर, सैम कुरेन, एलेक्स हेल्स, क्रिस जोर्डन, लियाम प्लंकेट, आदिल रशीद, जो रूट, जेसन रॉय, डेविड विली, डेविड मालान.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Ganesh Chaturthi 2018: आपके कष्टों को मिटाने आ रहे हैं विघ्नहर्ता

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi