S M L

IND vs AUS: संयोजन नहीं सीरीज जीतना बना कोहली की टीम का मुख्य लक्ष्‍य

पहले लक्ष्‍य विश्‍व कप के लिए संयोजित टीम का चुनना था, लेकिन पिछले दो मैच गंवाने के बाद अब मुख्‍य लक्ष्‍य सीरीज जीत कर रिकॉर्ड को बरकरार रखना बन गया है

Updated On: Mar 12, 2019 01:17 PM IST

FP Staff

0
IND vs AUS: संयोजन नहीं सीरीज जीतना बना कोहली की टीम का मुख्य लक्ष्‍य

पिछले चार मैचों में विश्व कप के लिए टीम संयोजन के समीकरण बनने के बजाय बिगड़ने के बाद अब भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ बुधवार को होने वाले पांचवें और अंतिम वनडे मैच में सीरीज जीतने के लक्ष्य के साथ फिरोजशाह कोटला मैदान पर उतरेगी.

भारत ने जब इस सीरीज में कदम रखा तो तब माना जा रहा था कि इंग्लैंड एवं वेल्स में 30 मई से शुरू होने वाले विश्व कप के लिए उसे केवल दो स्थान तय करने हैं लेकिन पिछले चार मैचों में टीम के कुछ कमजोर पक्ष उभरकर सामने आए, जिससे विश्व कप संयोजन को लेकर थोड़ी अस्पष्टता बन गई है. लेकिन यह अच्छा है कि सही समय पर टीम प्रबंधन को तमाम पहलुओं पर मंथन करने का मौका मिलेगा.

अपने रिकॉर्ड को बरकरार रखने उतरेगी टीम इंडिया

भारत के पास पहले दो मैच जीतने के बाद प्रयोग करने का मौका था लेकिन इसके बाद उसने अगले दोनों मैच गंवा दिए, जिससे पांचवां मैच निर्णायक बन गया है. ऐसे में विराट कोहली एवं टीम का मुख्य लक्ष्य सीरीज जीतना बन गया है क्योंकि वह पिछले तीन वर्षों के अपने शानदार रिकॉर्ड को बरकरार रखने की कोशिश करेगी. भारत ने पिछले तीन वर्ष में जो 13 द्विपक्षीय सीरीज खेली हैं उनमें से 12 में जीत दर्ज की है.

मोहाली में 359 रन का विशाल लक्ष्य हासिल करके रिकॉर्ड बनाने वाली ऑस्ट्रेलिया अब पहले दो मैच गंवाने के बाद पांच मैचों की सीरीज जीतने वाली टीमों की विशिष्ट श्रेणी में शामिल होना चाहेगा. रांची और विशेषकर मोहाली की जीत से उसका मनोबल बढ़ा होगा, लेकिन कोटला के स्पिनरों के लिए अनुकूल माने जाने वाली पिच पर उसके बल्लेबाजों की कड़ी परीक्षा होगी.

13 स्‍थान पक्‍के लग रहे थे

सीरीज से पहले लग रहा था कि भारत की विश्व कप टीम के 13 स्थान पक्के हैं और अब केवल दूसरे सलामी बल्लेबाज और एक गेंदबाज का स्थान तय करना है लेकिन अंबाती रायुडू की नाकामी, ऋषभ पंत का विकेटों के पीछे का लचरपन, केएल राहुल में निरंतरता का अभाव और युजवेंद्र चहल की क्षीण पड़ती मारक क्षमता ने टीम प्रबंधन के लिए चिंता बढ़ा दी है.

तीसरे नंबर पर ही बल्‍लेबाजी करने उतर सकते हैं कोहली

कोहली पिछले मैच में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे थे, लेकिन निर्णायक मैच की नजाकत को देखते हुए वह अपने घरेलू मैदान पर तीसरे नंबर पर ही उतर सकते हैं. राहुल को एक और मौका मिलने की संभावना है और मैच की परिस्थितियों के हिसाब से उनका बल्लेबाजी क्रम तय किया जा सकता है. टीम प्रबंधन हालांकि विश्व कप से पहले इस आखिरी मैच में लगातार निखर रहे विजय शंकर को चौथे नंबर पर आजमा सकता है.

शिखर धवन का फार्म में लौटना भारत के लिए अच्छी खबर है. वैसे धवन को लेकर टीम प्रबंधन पहले भी चिंतित नहीं था. अपने घरेलू मैदान पर अब तक केवल एक बार (टी20, बनाम न्यूजीलैंड 2017) में अपने बल्ले का कमाल दिखाने वाला बाएं हाथ का यह बल्लेबाज मोहाली की लय यहां बरकरार रखना चाहेगा.

शमी को मिल सकता है मौका

भुवनेश्वर कुमार ने पिछले मैच में डेथ ओवर्स में निराश किया. मोहम्मद शमी अगर फिट होते हैं तो टीम प्रबंधन उन्हें इस महत्वपूर्ण मुकाबले के लिए अंतिम एकादश में रख सकता है. ऑस्ट्रेलियाई टीम का प्रदर्शन उतार चढ़ाव वाला रहा लेकिन विश्व कप से पहले वह बेहतर टीम नजर आने लगी है. शीर्ष क्रम में कप्तान एरॉन फिंच और शान मार्श की अनियमित फार्म टीम के लिए चिंता का विषय होगी, लेकिन मध्यक्रम और निचले मध्यक्रम में पीटर हैंड्सकांब, ग्लेन मैक्सवेल और एशटन टर्नर की सकारात्मक बल्लेबाजी से उसका मनोबल बढ़ा है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi