S M L

India vs Australia, Sydney Test : हैंड्सकॉम्ब ने कहा, आत्मसम्मान के लिए ड्रॉ कराने की कोशिश करेंगे

हम सोमवार को मैच ड्रॉ करने के लिए खेलेंगे और इसके बाद आकलन करने की कोशिश करेंगे की हमे कहा सुधार करना है और टीम को किस तरह एकजुट होना है

Updated On: Jan 06, 2019 05:14 PM IST

Bhasha

0
India vs Australia, Sydney Test : हैंड्सकॉम्ब ने कहा, आत्मसम्मान के लिए ड्रॉ कराने की कोशिश करेंगे

ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन देने के बाद टेस्ट सीरीज में भारत की जीत लगभग पक्की हो गई है, लेकिन पीटर हैंड्सकॉम्ब ने रविवार को कहा कि सोमवार को चौथे टेस्ट मैच के आखिरी दिन उनकी टीम आत्मसम्मान के लिए ड्रॉ कराने की कोशिश करेगी. ऑस्ट्रेलिया को घरेलू मैच में 31 साल बाद पहली बार फॉलोऑन का सामना करना पड़ रहा है. भारतीय टीम सीरीज में 2-1 से आगे है.

हैंड्सकॉम्ब  ने बारिश से प्रभावित चौथे दिन के खेल के बाद कहा कि उनके पास मैच ड्रॉ करने का अच्छा मौका है, जिससे भारत की बढ़त को 2-1 पर रोक सकते हैं. ऑस्ट्रेलिया ने चौथे दिन खराब रोशनी के कारण खेल रोके जाने के समय दूसरी पारी में बिना किसी नुकसान के छह रन बना लिए. बारिश और खराब रोशनी के कारण चौथे दिन सिर्फ 25.2 ओवर का खेल हो सका.

ये भी पढ़ें- India vs Australia 4th Test at Sydney: ऐतिहासिक जीत की दहलीज पर टीम इंडिया

हैंड्सकॉम्ब ने कहा, ‘ हम सोमवार को मैच ड्रॉ करने के लिए खेलेंगे और इसके बाद आकलन करने की कोशिश करेंगे की हमे कहा सुधार करना है और टीम को किस तरह एकजुट होना है. बल्लेबाजी इकाई के तौर पर हमें पता है कि अगर सोमवार का दिन निकाल लेते हैं तो हमारा आत्मविश्वास बढ़ेगा. हम अपने देश और दुनिया को दिखा सकते हैं कि हम एक अच्छी टीम बनने से ज्यादा दूर नहीं हैं.’

चाइनामैन स्पिनर कुलदीप यादव (99 रन देकर पांच विकेट) ने ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर पहले ही टेस्ट में पांच विकेट चटकाए जिससे मेजबान टीम पहली पारी में 300 रन पर सिमट गई. कुलदीप ने टेस्ट में दूसरी बार पांच या उससे अधिक विकेट चटकाए हैं. हैंड्सकॉम्ब ने भी उनकी तारीफ करते हुए कहा कि भारतीय गेंदबाजी आक्रमण में कुलदीप और जसप्रीत बुमराह का सामना करना सबसे मुश्किल है.

ये भी पढ़ें- Ind vs Aus: 30 सालों में पहली बार अपनी ही जमीन पर फॉलोऑन खेलेगा ऑस्ट्रेलिया

उन्होंने कहा, ‘जाहिर है दोनों अपने क्षेत्र में विश्व स्तरीय गेंदबाज हैं. बुमराह 150 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से गेंद फेंक सकते हैं और सटीक लाइन व लेंथ से उनका सामना करना काफी मुश्किल हो जाता है. वह गेंद को दोनों ओर स्विंग करा सकते हैं जो ऐेसे एक्शन के साथ उन्हें प्रभावशाली बनाता है.’ हैंड्सकॉम्ब  ने कहा, ‘कुलदीप भी काफी प्रभावशाली है. वह सटीक हैं और उन पर हावी होना मुश्किल है. वह जिस रफ्तार से गेंदबाजी करते हैं, उससे आगे बढ़कर खेलना मुश्किल हो जाता है. उन्होंने पैर के निशान का सही तरीके से इस्तेमाल किया.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi