S M L

Ind vs Aus: भारत की इस 'शानदार' जीत के ये हैं असल 'हीरो'

Updated On: Jan 07, 2019 10:25 AM IST

FP Staff

0
Ind vs Aus: भारत की इस 'शानदार' जीत के ये हैं असल 'हीरो'

चेतेश्वर पुजारा मे इसी सीरीज में अपनी संयम भरी बल्लेबाजी से टीम को मुश्किल हालातों से बाहर निकाला. अपनी सात पारी में उन्होंने 74 की औसत से 521 रन बनाए हैं. रन बनाए जिसमें तीन शतक शामिल है. वह सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे.

चेतेश्वर पुजारा मे इसी सीरीज में अपनी संयम भरी बल्लेबाजी से टीम को मुश्किल हालातों से बाहर निकाला. अपनी सात पारी में उन्होंने 74 की औसत से 521 रन बनाए हैं. रन बनाए जिसमें तीन शतक शामिल है. वह सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे.

गेंदबाजों की बात करें तो जसप्रीत बुमराह ने टीम के लिए अहम योगदान दिया है. उन्होंने इस सीरीज में 2.18 के एकनॉमी रेट से 21 विकेट झटके हैं. उन्होंने मेलबर्न टेस्ट की दूसरी पारी में 33 रन देकर छह विकेट हासिल किए जो टीम की जीत में बेहद अहम रहे. मेलबर्न टेस्ट में नौ विकेट लेने वाले बुमराह ने इस साल 78 विकेट लिए जिसके साथ वह इस साल के कैलेंडर इयर में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले  गेंदबाज गए हैं

गेंदबाजों की बात करें तो जसप्रीत बुमराह ने टीम के लिए अहम योगदान दिया है. उन्होंने इस सीरीज में 2.18 के एकनॉमी रेट से 21 विकेट झटके हैं. उन्होंने मेलबर्न टेस्ट की दूसरी पारी में 33 रन देकर छह विकेट हासिल किए जो टीम की जीत में बेहद अहम रहे. मेलबर्न टेस्ट में नौ विकेट लेने वाले बुमराह ने इस साल 78 विकेट लिए जिसके साथ वह इस साल के कैलेंडर इयर में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज गए हैं

कप्तान विराट कोहली ने भी इस सीरीज में कप्तान और बल्लेबाज की जिम्मेदारी को पूरा तरह से निभाया. कोहली ने सीरीज में 41.44 की औसत से 282 रन बनाए. वहीं उनकी कप्तानी में भारत ने 30 साल में पहली बार ऑस्ट्रेलिया को उसी की जमीन पर फॉलो ऑन खेलने पर मजबूर किया.

कप्तान विराट कोहली ने भी इस सीरीज में कप्तान और बल्लेबाज की जिम्मेदारी को पूरा तरह से निभाया. कोहली ने सीरीज में 41.44 की औसत से 282 रन बनाए. वहीं उनकी कप्तानी में भारत ने 30 साल में पहली बार ऑस्ट्रेलिया को उसी की जमीन पर फॉलो ऑन खेलने पर मजबूर किया.

21 साल के इस विकेटकीपर ने अपनी कीपिंग से कई रिकॉर्ड अपने नाम किए और भारत को जीत दिलाई. चार टेस्ट मैच में 20 कैच लेकर वह टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीय कीपर बने. वहीं उनके बल्ले से सात पारियों में 350 रन निकले और वह दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे

21 साल के इस विकेटकीपर ने अपनी कीपिंग से कई रिकॉर्ड अपने नाम किए और भारत को जीत दिलाई. चार टेस्ट मैच में 20 कैच लेकर वह टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले भारतीय कीपर बने. वहीं उनके बल्ले से सात पारियों में 350 रन निकले और वह दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे

इसी सीरीज में अपना डेब्यू कर रहे मयंक अग्रवाल ने भी टीम के लिए अहम योग्यदान दिया. बतौर ओपनर उन्होंने संयन के साथ पारियां खेली ताकी पुजारा और बाकी बल्लेबाजों को नई गेंद का सामना ना करना पड़ा. उन्होंने तीन पारियों में 195 रन बनाए हैं

इसी सीरीज में अपना डेब्यू कर रहे मयंक अग्रवाल ने भी टीम के लिए अहम योग्यदान दिया. बतौर ओपनर उन्होंने संयन के साथ पारियां खेली ताकी पुजारा और बाकी बल्लेबाजों को नई गेंद का सामना ना करना पड़ा. उन्होंने तीन पारियों में 195 रन बनाए हैं. 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi