S M L

भारत ऑस्ट्रेलिया चौथा टेस्ट: भारत ने जीती बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी

भारत ने ऑस्ट्रेलिया को चौथे टेस्ट मैच में 8 विकेट से हराया

Updated On: Mar 28, 2017 01:45 PM IST

FP Staff

0
भारत ऑस्ट्रेलिया चौथा टेस्ट: भारत ने जीती बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी

भारत ने ऑस्ट्रेलिया को धर्मशाला टेस्ट में 8 विकेट से मात देकर बॉर्डर-गवस्कर सीरीज 2-1 से जीत ली है. सीरीज का पहला टेस्ट पुणे में खेला गया, जहां मेहमान टीम ने 333 रनों से बाजी मारी. भारत ने बेंगलुरु टेस्ट 75 रनों से जीत कर सीरीज में बराबर की. जबकि रांची टेस्ट ड्रॉ रहा था. चौथे और आखिरी टेस्ट के चौथे दिन भारत ने 106 रनों का टारगेट दो विकेट खोकर हासिल कर लिया. लोकेश राहुल ने सीरीज में छठा अर्धशतक जमाया. वे 51 रन बना कर नाबाद रहे. जबकि कप्तान अजिंक्य रहाणे 38 रन पर नाबाद लौटे.

चौथे दिन भारत ने तेजी से हासिल किया लक्ष्य धर्मशाला टेस्ट के चौथे दिन भारत को दो झटका लगे. मुरली विजय (8 रन) को पैट कमिंस ने मैथ्यू वेड के हाथों कैच कराया. वे अपने कल के स्कोर में दो रन ही जोड़ पाए. इसी स्कोर पर भारत को दूसरा झटका लगा. चेतेश्वर पुजारा (0) पर रन आउट हो गए. उधर, लोकेश राहुल ने नाबाद 51 रन बनाए. उन्होंने अपनी पारी में 9 चौके लगाए. कप्तान अजिंक्य रहाणे चार चौके और दो छक्के के साथ नाबाद 38 रन बनाए. उन्होंने पैट कमिंस को लगातार गेंदों पर दो छक्के और दो चौके मारे.

टीम इंडिया को मिला था 106 रनों का टारगेट भारत को बॉर्डर-गावस्कर सीरीज जीतने के लिए 106 रनों का टारगेट मिला था. लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया ने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक बिना किसी नुकसान के 19 रन बना लिए थे. स्टंप्स के समय लोकेश राहुल (13 रन) और मुरली विजय (6 रन) क्रीज पर थे. धर्मशाला टेस्ट के तीसरे दिन ऑस्ट्रेलिया अपनी दूसरी पारी में 137 रनों पर सिमट गया. भारत की स्पिन जोड़ी आर. अश्विन और रवींद्र जडेजा ने 3-3 विकेट चटकाए. जबकि तेज गेंदबाज उमेश यादव ने भी तीन झटके देकर कंगारुओं की कमर तोड़ दी. जबकि एक विकेट भुवनेश्वर कुमार को मिला.

भारतीय गेंदबाजों के आगे ऐसे ढेर हुई मेहमान टीम तीसरे दिन लंच के बाद अपनी दूसरी पारी में उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम को पहला झटका 10 रन के स्कोर पर लगा.उमेश यादव की गेंद पर वॉर्नर (6 रन) को विकेट के पीछे साहा ने लपक लिया. 31 के स्कोर पर कंगारू टीम को दूसरा झटका लगा. कप्तान स्टीव स्मिथ (17 रन) को भुवनेश्वर ने बोल्ड किया. 31 के ही स्कोर पर मैट रैनशॉ (8 रन) भी उमेश यादव की गेंद पर चलते बने.

मैक्सवेल ने कुछ हद तक सामना किया चौथे विकेट के लिए ग्लेन मैक्सवेल और पीटर हैंड्सकॉम्ब ने 56 रन जोड़े. आर. अश्विन ने हैंड्सकॉम्ब (18 रन) को अपना शिकार बनाया. उसी के बाद 92 के स्कोर पर रवींद्र जडेजा ने अपनी फिरकी चलाई और शॉन मार्श (1 रन) को चेतेश्वर पुजारा ने लपक लिया. 106 के स्कोर पर मैक्सवेल 45 रन बना अश्विन का शिकार हुए.

पेस और फिरकी का चला जादू 121 के स्कोर पर कंगारुओं को 7वां झटका लगा. जडेजा ने पैट कमिंस (12 रन ) को लौटाया, रहाणे ने कैच पकड़ा. इसी स्कोर पर स्टीव ओकीफे (0) को जडेजा ने पुजारा के हाथों कैच करा वापस भेजा. ऑस्ट्रेलिया को यह आठवां झटका लगा. उमेश यादव ने 122 के स्कोर पर कंगारुओं को 9वां झटका दिया. नाथन लियोन (0 ) को मुरली विजय ने लपका. 137 के स्कोर पर आखिरी झटका अश्विन ने दिया, जब हेजलवुड (0) एलबीडब्ल्यू हुए. जबकि मैथ्यू वेड 25 रन बनाकर नाबाद रहे.

ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 300 रन बनाए थे. ऑस्ट्रेलिया की तरफ से स्टीवन स्मिथ ने पहली पारी में 111 रन की पारी खेली. इसके बाद भारत ने पहली पारी में केएल राहुल, पुजारा और रवींद्र जडेजा के अर्धशतक के बदौलत 332 रन बनाए. इन सब के अलावा रहाणे ने भी 46, अश्विन 30 और साहा ने 31 रन बनाए. साहा और जडेजा ने 96 रन की साझेदारी की जो मैच का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ.

सातवीं बार जीती बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी

टीम इंडिया ने आखिरी बार बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी साल 2012-13 में 4-0 से जीती थी, लेकिन साल 2014 में ऑस्ट्रेलियाई धरती पर खेली गई सीरीज में उसे 2-0 से हार का सामना करना पड़ा था. इस प्रकार यह ट्रॉफी इस सीरीज से पहले तक कंगारुओं के पास ही थी. इसकी शुरुआत 1996-97 में हुई थी, तब से अब तक 13 सीरीज खेली जा चुकी हैं. इनमें से 7 सीरीज टीम इंडिया ने जीती हैं, तो 5 ऑस्ट्रेलिया के नाम रहीं. 2003-04 की सीरीज ड्रॉ रही थी.

इससे पहले लगातार जीती थी 6 टेस्ट सीरीज

टीम इंडिया ने विराट की कप्तानी में इससे पहले लगातार 6 टेस्ट सीरीज जीतीं थीं. यह सिलसिला श्रीलंका के खिलाफ साल 2015 सीरीज जीत (2-1) से शुरू हुआ था. उसके बाद टीम इंडिया ने दक्षिण अफ्रीका (3-0), वेस्टइंडीज (2-0), न्यूजीलैंड (3-0), इंग्लैंड (4-0) और फिर बांग्लादेश (1-0) को हराया.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi