S M L

भारत-ऑस्ट्रेलिया पहला टेस्ट: दूसरे दिन बने कौन-कौन से रिकॉर्ड

अश्विन से ओ'कीफ और विराट तक कई रिकॉर्ड बने पुणे टेस्ट में

Updated On: Feb 24, 2017 08:01 PM IST

IANS

0
भारत-ऑस्ट्रेलिया पहला टेस्ट: दूसरे दिन बने कौन-कौन से रिकॉर्ड

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन विकेटों के गिरते सिलसिले के बीच रिकॉर्ड्स का सिलसिला भी चला. भारतीय टीम, स्टीवन ओ’कीफ और रविचंद्रन अश्विन ने रिकॉर्ड बुक में अपने नाम दर्ज कराए. पहले दिन नौ विकेट पर 256 रन बनाने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम दूसरे दिन शुक्रवार को पहले ओवर में आखिरी विकेट गंवाकर 260 रनों पर पवेलियन लौट गई.

अश्विन ने घरेलू सत्र में सबसे ज्यादा विकेट का रिकॉर्ड तोड़ा. साथ ही उन्होंने सीजन में (घर और बाहर) सबसे ज्यादा विकेट का भारतीय रिकॉर्ड भी अपने नाम किया. ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में दिन का खेल खत्म होने तक चार विकेट खोकर 146 रन बनाए हैं.

भारतीय टीम पहली पारी में सिर्फ 105 रनों पर ही ढेर हो गई. इसमें ऑस्ट्रेलिया के ओ’कीफ का सबसे बड़ा योगदान रहा. उन्होंने भारत के छह बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई. यह उनका अभी तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. उन्होंने 19 गेंदों के अंदर पांच विकेट लिए. इसी के साथ वह भारत के खिलाफ सबसे कम गेंदों में पांच विकेट लेने वाले दूसरे गेंदबाज बन गए हैं. उनसे आगे इंग्लैंड के स्टुअर्ट ब्रॉड हैं जिन्होंने 2011 में ट्रेंट ब्रिज में 16 गेंदों में छह विकेट लिए थे.

ओ’कीफ ने 35 रन देकर छह विकेट लिए. यह भारत आए किसी भी बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज द्वारा तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. उनसे पहले उनके हमवतन माइकल क्लार्क हैं, जिन्होंने 2004 में मुंबई ने नौ रन देकर छह विकेट लिए थे. इन दोनों से आगे इंग्लैंड के हेडली वेरिटी हैं जिन्होंने 1934 में 49 रन देकर सात विकेट लिए थे.

भारतीय टीम ने इस मैच में अपनी खराब पारी खेली. टीम ने अंतिम 11 रनों पर अपने अंतिम सात विकेट गंवाए. इससे पहले भारत ने 1989-90 में क्राइस्टचर्च में खेले गए टेस्ट मैच में 18 रनों पर अपने अंतिम सात विकेट गंवाए थे.

यह भारत का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथा सबसे कम स्कोर है. गाबा में 1947-48 में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 58 रनों पर समेट दिया था. साथ ही घर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसका यह दूसरा सबसे कम स्कोर है. 2004-05 में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को मुंबई के वानखेडे स्टेडियम में 104 रनों पर पवेलियन भेज दिया.

टीम के कप्तान कोहली इस मैच में खाता भी नहीं खोल पाए। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में तीनों फॉरमेट में वह 104 पारियों के बाद शून्य पर आउट हुए. वह पांचवीं बार शून्य पर आउट हुए हैं. इससे पहले वह 2014 में कार्डिफ में खेले गए एकदिवसीय मैच में शून्य पर पवेलियन लौटे थे. घर में वह पहली बार टेस्ट मैच में शून्य पर लौटे.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi