S M L

भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज: कुंबले ने क्यों की बाएं हाथ से गेंदबाजी

ऑस्ट्रेलिया के 'सीक्रेट' का तोड़ ढूंढने के लिए कुंबले बने बाएं हाथ के गेंदबाज

Bhasha Updated On: Mar 10, 2017 06:57 PM IST

0
भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज: कुंबले ने क्यों की बाएं हाथ से गेंदबाजी

पूर्व महान लेग स्पिनर और भारतीय कोच अनिल कुंबले ने बाएं हाथ से गेंदबाजी करके ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज में स्टीव ओ'कीफ द्वारा पेश की गई चुनौती से निपटने में चेतेश्वर पुजारा की मदद की.

पुजारा पुणे टेस्ट में बाएं हाथ के स्पिनर ओ'कीफ और तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क की गेंदों पर आउट हुए थे. उन्होंने बेंगलुरू में दूसरी पारी में 92 रन की पारी खेलकर भारत के लिए जीत में अहम भूमिका अदा की जिससे दोनों टीमें बराबरी पर आ गई.

पुणे टेस्ट में विफल होने के बाद पुजारा ने अपने खेल पर काफी मेहनत की है. उन्होंने इसके लिए कुंबले और क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर की मदद मिली. पुणे टेस्ट में ओ'कीफ को खेलना मुश्किल साबित हुआ था. जिसमें उन्होंने 70 रन देकर 12 विकेट हासिल कर कैरियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया.

भारतीय बल्लेबाजों को जिस तरह की चुनौती का सामना करना पड़ेगा, उसकी तैयारी के लिए कुंबले ने अभ्यास के दौरान पुजारा को बाएं हाथ की स्पिन से गेंदबाजी की.

पुजारा ने 16 मार्च से यहां शुरू होने वाले तीसरे टेस्ट से पहले कहा, ‘उनके पास बाएं हाथ के स्पिनर हैं. इसलिए अनिल भाई उसे ही दोहराने की कोशिश कर रहे थे. वह क्रीज पर कोने से आकर दाएं हाथ की ओर कोण बना रहे थे. वहां से स्पिन करने की कोशिश कर रहे थे.’

पुजारा ने कहा, ‘इसलिए मैं उस कोण का आदी होने की कोशिश कर रहा था. श्रीधर भी ‘ओवर द स्टंप्स’ गेंदबाजी कर रहे थे, शार्ट गेंद फेंक रहे थे. यह काफी उपयोगी साबित हुआ, विशेषकर श्रीधर से क्योंकि वह सचमुच सटीक थे. अनिल ने भी अपना सर्वश्रेष्ठ करने की कोशिश की, हालांकि वह दाएं हाथ के गेंदबाज हैं. लेकिन उन्होंने बाएं हाथ से स्पिन गेंदबाजी करने की कोशिश की. अभ्यास में यह अच्छा था.’  यह महान स्पिनर पुजारा को परेशान करने में भी सफल रहा.

पुजारा ने कहा, ‘हां, उन्होंने परेशान किया. वह जानते थे कि कहां गेंदबाजी करनी है. उन्होंने गेंद खुरदरे क्षेत्र पर पिच कराई और मैं बाहर की ओर निकला और बचने में नाकाम रहा.’  स्टार्क का सामना करने के लिये उन्होंने क्या किया, जो पैर में फ्रैक्चर के कारण भारतीय दौरे से बाहर हो गए हैं.

पुजारा ने कहा, ‘स्टार्क ओवर द विकेट पर गेंदबाजी करता है और बल्लेबाज से गेंद दूर करने की कोशिश करता है. हम उसके इस कोण को खेलने के आदी होना चाहते थे.’ उन्होंने कहा, ‘मैं इस पर काम करना चाहता था. शरीर के करीब खेलना चाहता था और उसके कोण का आदी होना चाहता था.’

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
International Yoga Day 2018 पर सुनिए Natasha Noel की कविता, I Breathe

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi