S M L

Ind vs Aus, Sydney Test: भारत की जीत का राज जो बन चुकी है ऑस्ट्रेलिया की कमजोरी

भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में एडिलेड और मेलबर्न टेस्ट जीतकर 2-1 से अजेय बढ़त हासिल की है, सिडनी में चौथा मैच निर्णायक होगा

Updated On: Jan 02, 2019 06:06 PM IST

FP Staff

0
Ind vs Aus, Sydney Test: भारत की जीत का राज जो बन चुकी है ऑस्ट्रेलिया की कमजोरी

भारत के पास सिडनी टेस्ट जीतकर पहली बार ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीतकर इतिहास रचने का मौका है. भारत फिलहाल 2-1 से अजेय बढ़त हासिल कर चुका है. हालांकि सिडनी में रोहित शर्मा और इशांत शर्मा के चोटिल होने और अश्विन को लेकर चल रहे संशय के बाद भारत के लिए सबकुछ आसान नहीं होने वाला है. टिम पेन ने भी अपनी टीम में मार्नस लबुशेन को शामिल करके नया दांव खेला है. इस मैच का परिणाम मैच काफी हद तक टॉस के उपर भी निर्भर करेगा क्यों सिडनी के मैदान पर पहली और चौथी पारी का औसत स्कोर 145 ही है.

पहले बल्लेबाजी करना होगा फायदेमंद

सिडनी ग्राउंड पर टॉस जीतकर पहले फील्डिंग करने वाली टीम के मैच जीतने का प्रतिशत केवल 27 है वहीं पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम को 42 प्रतिशत जीत मिली है. ऐसे में कोहली स्पिनर की मदद करने वाली इस पिच पर टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करना चाहेंगे. भारत की बल्लेबाजी काफी हद तक विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे पर निर्भर होगी जिन्होंने अब तक सीरीज में 25 से ज्यादा की औसत से रन बनाए हैं. पुजारा इन खिलाड़ियों में सबसे अहम साबित हुए हैं. भारत ने साल 2018 में देश के बाहर चार टेस्ट मैचों में जीत हासिल की है और इन चारों मैचों में पुजारा ने 50 से ज्यादा रन बनाए हैं.

averahe score इसी सीरीज में भारतीय बल्लेबाजों के बीच (3386) 11 अर्धशतकीय साझेदारियां हुई हैं जिनमें से छह साझेदारियों पुजारा के साथ हुई हैं. पुजारा स्पिन के खिलाफ भी शानदार प्रदर्शन करते हैं जो उन्हें सिडनी टेस्ट में सबसे अहम बनाते हैं. ऑस्ट्रेलिया यहीं पर मात खा रहा है. तीन टेस्ट मैचों में ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज केवल छह अर्धशतकीय साझेदारी ही कर पाए हैं. हालांकि इस दौरान ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों (3467) ने ज्यादा गेंदों का सामना किया है.

ऑस्ट्रेलिया का मिडिल ऑर्डर भी एक कमजोरी के तौर पर उभरा है. भारत और ऑस्ट्रेलिया के मिडिल ऑर्डर बल्लेबाजों की औसत में बहुत ज्यादा अंतर है. भारत की एडिलेड और मेलबर्न की जीत में सबसे अहम रोल पुजारा के शतकों का ही है जो यह बताते हैं कि भारत का मिडिल ऑर्डर ऑस्ट्रेलिया से बेहतर है जहां अहम साझेदारियों भी हो रही हैं.

middle order सीरीज में भारत की जीत में सबसे अहम भूमिका तेंज गेंदबाजों की रही है. भारतीय तेज गेंदबाज विकेट, स्ट्राइक रेट औसत के मामले में ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज से बीस ही साबित हुए हैं. ऑस्ट्रेलिया को अगर सिडनी में जीत हासिल करनी है तो उसके लिए जरूरी है कि पैट कमिंस को हैजलवुड और स्टार्क का साथ मिले ताकी वह दोनों छोर से भारतीय बल्लेबाजों पर दबाव बना सके.

pacer सिडनी टेस्ट सीरीज के परिणाम तय करने वाला है. मेलबर्न की जीत के बाद भारत को 2-1 से अजेय बढ़त हासिल हुई है. ऑस्ट्रेलिया को सीरीज ड्रॉ कराने के लिए सिडनी में हर हाल में जीत हासिल करनी होगी. दोनों ही कप्तानों के करियर में यह सीरीज अहम है. जहां कोहली के लिए यह जीत उन्हें ऐतिहासिक कप्तान बना देगी वहीं पेन भी इस सीरीज में ड्रॉ के साथ खुद को साबित करना चाहते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi