S M L

India vs Australia, 2nd Test at Perth : ऑस्ट्रेलिया को उसी के हथियार से मात दे पाएगी कोहली की टीम!

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टेस्ट पर्थ में नए ऑप्टस स्टेडियम में खेला जाएगा

Updated On: Dec 13, 2018 05:22 PM IST

FP Staff

0
India vs Australia, 2nd Test at Perth : ऑस्ट्रेलिया को उसी के हथियार से मात दे पाएगी कोहली की टीम!

पिछले पांच दशकों से पर्थ की वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट एसोसिएशन (वाका) की पिच को सबसे तेज होने का तगमा हासिल है. जिस पर मेजबान टीम के तेज गेंदबाज बड़े से बड़े बल्लेबाजों का गुरूर चकनाचूर कर देते थे. लेकिन शुक्रवार से जब ये शहर चार टेस्ट की सीरीज के दूसरे मैच की मेजबानी करेगा तो मैदान वाका का नहीं होगा. स्वान नदी के उस पार नया नवेला स्टेडियम दोनों टीमों का स्वागत करेगा. माना जा रहा है कि नए ऑप्टस स्टेडियम की पिच में भी वाका की तरह काफी तेजी और उछाल है.

पहले पिच पर अधिक घास देखकर अधिकतर भारतीय टीमें चिंतित हो जाती थीं, लेकिन विराट कोहली की टीम जब खेलने के लिए उतरेगी तो उसका लक्ष्य ऑस्ट्रेलिया को उसी के जाल में फंसाकर चार मैचों की सीरीज में अपना विजय अभियान बरकरार रखना होगा. इस नए टेस्ट स्थल की पिच पर हरी घास देखकर भारतीय खेमा चिंतित नहीं हुआ, बल्कि वह इसको मौके के रूप में देख रहा था. कप्तान कोहली इसे देखकर रोमांचित हैं. भारत के पास तेज गेंदबाजी में सक्षम आक्रमण है और इसलिए कोहली ने पिच को देखकर कहा, ‘हम यहां की जीवंत पिच देखकर चिंतित होने के बजाय रोमांचित हैं.’

ये भी पढ़िए- India vs Australia Perth Test: कोहली की चुनौती- दम है तो विकेट पर घास बरकरार रखो!

क्यूरेटर ब्रेट सिपथोर्प ने उछाल वाली पिच तैयार करने की कोशिश की. ऑस्ट्रेलिया का यह दांव उस पर उलटा पड़ सकता है. भारत अब इस तरह की पिचों पर खेलने से नहीं घबराता और वह यहां 2-0 से बढ़त हासिल करने के इरादे से उतरेगा. भारत ने एडिलेड में पहला टेस्ट मैच 31 रन से जीता था.

अंतिम एकादश में बदलाव करना होगा भारत को

भारत को हर हाल में अपनी अंतिम एकादश में बदलाव करना होगा, क्योंकि उसके दो खिलाड़ी चोटिल होने के कारण बाहर हो गए हैं. भारत ने दूसरे टेस्ट मैच के लिए 13 सदस्यीय टीम का चयन किया जिसमें आर अश्विन और रोहित शर्मा नहीं हैं. अश्विन पेट की मांसपेशियों में खिंचाव और रोहित पीठ दर्द के कारण बाहर हुए हैं. रोहित दूसरे टेस्ट मैच से पूर्व दोनों दिन अभ्यास सत्र में भाग नहीं ले पाए थे. अश्विन ने भी बुधवार को वैकल्पिक अभ्यास में हिस्सा नहीं लिया. वह गुरुवार को वॉर्म अप के दौरान उपस्थित थे, लेकिन उन्होंने नेट्स पर बल्लेबाजी या गेंदबाजी नहीं की. इस बीच पृथ्वी शॉ चोट के कारण इस मैच में नहीं खेल पाएंगे और इस तरह से केएल राहुल और मुरली विजय को ही पारी का आगाज करना होगा.

चार तेज गेंदबाजों के साथ उतर सकता है भारत

अंतिम एकादश में अन्य दो स्थान के लिए हनुमा विहारी, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार और उमेश यादव को 13 सदस्यीय टीम में शामिल किया गया है. इससे विभिन्न संयोजन की संभावनाएं बन गई हैं. वैसे कोहली का इससे पहले भी केवल तेज गेंदबाजों के साथ उतरने का रिकॉर्ड रहा है. भारत 2012 में भी पर्थ में केवल तेज गेंदबाजों के साथ उतरा था. तब महेंद्र सिंह धोनी ने जहीर खान, उमेश यादव, इशांत शर्मा और आर विनयकुमार को वाका मैदान पर आजमाया था. वीरेंद्र सहवाग ने अपनी ऑफ स्पिन से 7.2 ओवर किए थे और कोहली भी इसका अनुसरण कर सकते हैं.

विहारी का दूसरे टेस्ट मैच में खेलना लगभग तय

रोहित के चोटिल होने से विहारी का दूसरे टेस्ट मैच में खेलना तय लग रहा था. उन्होंने ओवल में पदार्पण किया था जिसकी दूसरी पारी में 56 रन बनाए थे. विहारी अच्छे ऑफ स्पिनर भी हैं और टीम प्रबंधन उनका इस रूप में उपयोग करने से नहीं हिचकिचाएगा. ओवल में उन्होंने 10.3 ओवर किए थे. सिडनी में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया एकादश के खिलाफ अभ्यास मैच के दौरान भी विहारी ने 12 ओवर किए थे. विजय भी कुछ ओवर कर सकते हैं और ऐसे में भारतीय थिंक टैंक चोटिल अश्विन की जगह भुवनेश्वर कुमार को रखकर चार तेज गेंदबाजों के साथ उतर सकता है.

ये भी पढ़िए- Ind vs Aus : पर्थ पर टीम इंडिया का चांस है, बशर्ते ऑस्ट्रेलियाई पेसर रन बनाने दें

स्पिनर नाथन लायन को मिल सकता है फायदा

हाल के रिकॉर्ड पर गौर करें तो पश्चिम ऑस्ट्रेलिया ने न्यू साउथ वेल्स के खिलाफ नवंबर में यहा शैफील्ड शील्ड मैच खेला था. उस मैच में जो 40 विकेट गिरे उनमें से आठ विकेट स्पिनरों ने लिए थे. इनमें से सात विकेट अकेले नाथन लायन ने हासिल किए थे. जाहिर है कि ऑफ स्पिनर लायन ने यहां से मिल रही उछाल का फायदा उठाया था. अगर अश्विन फिट होते तो कोहली उनको टीम में रखने के बारे में सोच सकते थे. जडेजा टीम में हैं और उनके पास स्पिनर को रखने का विकल्प है, लेकिन इसकी संभावना थोड़ी कम हो गई है. भारतीय बल्लेबाजी क्रम में हालांकि खास बदलाव नहीं होगा. एडिलेड में गेंदबाजी करने वाले तीनों भारतीय तेज गेंदबाजों ने गुरुवार को अभ्यास सत्र में गेंदबाजी नहीं की. उन्होंने बल्लेबाजी का अभ्यास किया.

एरोन फिंच को उतारा जा सकता है मध्यक्रम में

ऑस्ट्रेलिया अपनी बल्लेबाजी लाइनअप में रणनीतिक बदलाव कर सकता है. एरोन फिंच को पहले टेस्ट की नाकामी के कारण आलोचना झेलनी पड़ रही है. बुधवार के अभ्यास सत्र को देखने के बाद लग रहा है कि उस्मान ख्वाजा या शॉन मार्श में से कोई एक पारी की शुरुआत करने उतर सकता है और फिंच को मध्यक्रम में उतारा जा सकता है. ऑलराउंडर मिचेल मार्श के इस मैच में खेलने की थोड़ी सी संभावना बची है, क्योंकि कप्तान टिम पेन ने खुद को फिट घोषित किया है. एडिलेड में उनके दाएं हाथ में चोट लग गई थी. ऑस्ट्रेलिया उसी गेंदबाजी आक्रमण के साथ उतर सकता है. पीटर सिडल अंतिम एकादश में जगह बनाने की दौड़ में नहीं हैं.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi