S M L

India vs Australia, 2nd T20I at Melbourne : हार से हिला टीम इंडिया का आत्मविश्वास, प्लेइंग इलेवन में हो सकता है बदलाव

विराट कोहली की टीम में गेंदबाजी तथा बल्लेबाजी संयोजन दोनों में बदलाव किए जा सकते हैं

Updated On: Nov 22, 2018 03:38 PM IST

FP Staff

0
India vs Australia, 2nd T20I at Melbourne : हार से हिला टीम इंडिया का आत्मविश्वास, प्लेइंग इलेवन में हो सकता है बदलाव

भारतीय टीम ने नवंबर 2017 से अब तक सातों टी-20 सीरीज जीती हैं. उसे आखिरी बार टी-20 सीरीज में जुलाई 2017 में वेस्टइंडीज ने हराया था. पिछले ऑस्ट्रेलिया दौरे पर भारत ने टी-20 सीरीज 3-0 से अपने नाम की थी लिहाजा तीन टी-20 मैचों की सीरीज में  उतरने से पहले खिलाड़ियों का आत्मविश्वास काफी बढ़ा हुआ था. लेकिन पहले मैच में मिली हार से भारतीय टीम स्तब्ध है.

वो शुक्रवार को मेलबर्न होने वाले दूसरे टी-20 मैच में वापसी के लिए टीम संयोजन में बदलाव पर विचार कर सकती है. फिलहाल ऑस्ट्रेलिया ने 1- 0 से बढ़त बना ली है. भारत को अगर लगातार आठवीं टी-20 सीरीज जीतनी है तो उसके खिलाड़ियों के अपना सब कुछ दांव पर लगाना होगा.

सीरीज जीतने के लिए विराट कोहली की टीम में गेंदबाजी तथा बल्लेबाजी संयोजन दोनों में बदलाव किए जा सकते हैं. केएल राहुल की खराब फॉर्म के मद्देनजर भारतीय बल्लेबाजी क्रम में परिवर्तन हो सकता है. इंग्लैंड के खिलाफ मैनचेस्टर में पहले टी-20 में नाबाद 101 रन बनाने के बाद से राहुल अगले छह मैच में 30 रन के पार भी नहीं जा सके हैं.

टीम प्रबंधन ने उन्हें तीसरे नंबर पर बरकरार रखा है जबकि कोहली खुद चौथे नंबर पर उतर रहे हैं. राहुल को लय हासिल करने की जरूरत है क्योंकि वह टेस्ट सीरीज में भारत के शीर्षक्रम का हिस्सा होंगे.

टीम प्रबंधन गेंदबाजी आक्रमण पर भी दोबारा विचार कर सकता है. हरी भरी पिच पर क्रुणाल पांडया ने चार ओवरों में 55 रन दे डाले और उन पर छह छक्के पड़े. एमसीजी की पिच भी ऐसी ही रहती है तो कोहली लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को उतार सकते हैं जिनका टी-20 क्रिकेट में उम्दा रिकॉर्ड है.

इतनी करीबी हार के बाद यह देखना होगा कि टीम प्रबंधन क्या बदलाव करता है. पांड्या को बाहर करने से एक बल्लेबाज कम हो जाएगा और कोहली यह जुआ नहीं खेलना चाहेंगे. पहले मैच से पूर्व कोहली ने कहा था कि गलतियों पर अंकुश लगाकर निर्णायक क्षणों में दबाव बनाए रखना जरूरी है.

ब्रिसबेन में भारतीय टीम फील्डिंग में भी अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर सकी. कोहली ने खुद दो बार गलती की. पहले ऑस्ट्रेलियाई कप्तान एरोन फिंच का कैच छोड़ा और बाद में डीप में फील्डिंग में चूक की. सीरीज में पांच दिन के भीतर तीन मैच होने के कारण कमजोरियों पर काम करने का समय काफी कम है.

फील्डिंग कोच आर श्रीधर एमसीजी पर होने वाले मैच से पहले खिलाड़ियों के साथ काम नहीं कर सके होंगे. ड्रेसिंग रूम में सैद्धांतिक तौर पर ही इसके बारे में बताया गया होगा. ऑस्ट्रेलिया में मैदान बड़े होने के कारण चौके लगाना काफी चुनौतीपूर्ण होता है.

एकमात्र स्पिनर के रूप में एडम जांपा को उतारना ऑस्ट्रेलिया के लिए फायदेमंद रहा. पहले मैच में मिली जीत से अब मेजबान टीम के हौसले बुलंद होंगे. इस सप्ताह मेलबर्न में तूफानी हवायें चलती रही हैं और इस मैच पर भी बारिश की गाज गिर सकती है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
Jab We Sat: ग्राउंड '0' से Rahul Kanwar की रिपोर्ट

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi