S M L

भारत-ऑस्ट्रेलिया, पहला टेस्ट: तीन दिन में खेल खत्म, 333 रन से हार

19 मैचों से अजेय भारतीय टीम का विजय रथ ऑस्ट्रेलिया ने रोका

Updated On: Feb 25, 2017 06:07 PM IST

FP Staff

0
भारत-ऑस्ट्रेलिया, पहला टेस्ट: तीन दिन में खेल खत्म, 333 रन से हार

2001 में जब ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत आई थी, तो उसके पास लगातार 18 जीतों का रिकॉर्ड था. वो विजय रथ रोकने का काम भारत ने किया था. एक बार फिर ऑस्ट्रेलियन टीम भारत आई. इस बार भारत लगातार 19 जीत के साथ विजय रथ पर सवार था. भारतीय अश्वमेधी घोड़े को रोकने में ऑस्ट्रेलिया को तीन दिन से भी कम समय लगा. 3 दिन में 333 रन से हार भारत को अरसे तक याद रहेगी.

भारत को काबू में करने का काम भी ऐसे हुआ, जो हमेशा उसकी ताकत रही है. यानी स्पिन. बाएं हाथ के स्पिनर स्टीव ओ’कीफ इस कदर घातक होंगे, ये शायद ही किसी ने सोचा होगा. पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया के 260 रन के मुकाबले 105 पर आउट हुए, तभी मैच के नतीजा लगभग तय हो गया था. लेकिन उम्मीद थी कि शायद कोई चमत्कार हो.

ऐसा कोई चमत्कार नहीं हुआ. ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 285 रन बनाए. भारत के सामने 441 रन का लक्ष्य था. भारतीय पारी महज 33.5 ओवर में ही ढेर हो गई. सिर्फ 107 रन पर आउट हुए. इसी के साथ चार मैचों की सीरीज में भारत को 1-0 की बढ़त मिल गई.

भारत का कमजोर प्रदर्शन चर्चा में रहेगा. ओ’कीफ के 12 विकेट चर्चा में रहेंगे. इसके साथ स्टीवन स्मिथ के 109 रन भी चर्चा में रहेंगे. उनके कैच छूटे, ये सही है. एक बार भारत के पास रिव्यू न होने की वजह से वो बचे. लेकिन इसके बावजूद स्मिथ के शतक को कम करके नहीं आंक सकते.

इसी के साथ भारत के लगातार 19 टेस्ट में अजेय रहने का क्रम भी छूट गया. मैन ऑफ द मैच ओ’कीफ बने, जिन्होंने दोनों पारियों में 35-35 रन देकर 6-6 विकेट लिए. भारतीय टीम दोनों पारियों में उस स्कोर तक भी नहीं पहुंच सकी, जो स्टीवन स्मिथ ने बनाया.

आईसीसी रैंकिंग में नंबर एक टीम हर विभाग मे फेल हुई. उनकी बैटिंग, बॉलिंग, फील्डिंग खराब रही. यहां तक कि डीआरएस में रेफरल लेने में उन्होंने गच्चा खाया. भारत के लिए लगातार स्टार रहे विराट कोहली ने एक जीरो सहित दोनों पारियों में मिलाकर 13 रन बनाए.

पहली पारी में आठ भारतीय बल्लेबाज दोहरे अंक तक नहीं पहुंच पाए थे. दूसरी पारी में सात बल्लेबाज दहाई तक नहीं पहुंचे. सिर्फ चेतेश्वर पुजारा ही थोड़ा संघर्ष कर पाए. उन्होंने 31 रन बनाए. पहली पारी की ही तरह भारतीय बल्लेबाज ओ’कीफ के सामने नहीं टिक पाए. इस बार तो नैथन लायन ने भी चार विकेट लिए. ऑस्ट्रेलियन स्पिनर्स ने दिखाया कि टर्निंग पिच पर कैसे गेंदबाजी करनी चाहिए.

Australia's Steve O'Keefe celebrates after the dismissal of India's Ajinkya Rahane on the second day of the first cricket Test match between India and Australia at The Maharashtra Cricket Association Stadium in Pune on February 24, 2017. ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / GETTYOUT / AFP PHOTO / Indranil MUKHERJEE / ----IMAGE RESTRICTED TO EDITORIAL USE - STRICTLY NO COMMERCIAL USE----- / GETTYOUT

स्टीव ओ'कीफ

पहली पारी में भारत ने 11 रन पर सात विकेट खोए थे. दूसरी में 18 रन के भीतर छह विकेट गंवाए. पहली पारी में सात विकेट करीब सात ओवर में निकल गए थे. दूसरी में दस ओवर्स में छह विकेट खोए.

भारत की दूसरी पारी कभी संभलती नहीं दिखाई दी. पहले विजय आउट हुए, फिर राहुल. कोहली और पुजारा के बीच 32 और पुजारा और रहाणे के बीच 30 रन की साझेदारी हुई. अगर इसे अच्छी साझेदारी मानते हों, तो मान लीजिए. इसके अलावा भारतीय पारी में बताने के लिए और कुछ नहीं है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi