S M L

India vs Afghanistan Test : क्रिकेट की दुनिया में रचा जाएगा नया इतिहास

बेंगलुरू के चिन्नास्वामी स्टेडियम में टेस्ट मैच खेलने वाली 12 वीं टीम बन जाएगी अफगानिस्तान

FP Staff Updated On: Jun 13, 2018 01:58 PM IST

0
India vs Afghanistan Test : क्रिकेट की दुनिया में रचा जाएगा नया इतिहास

खेलों की दुनिया में यूं तो हर मुकाबला हार-जीत के पैमाने रखा जाता है लेकिन गुरुवार को बेंगलुरू टीम इंडिया और अफगानिस्तान के बीच टेस्ट मैच शुरू होगा तो यह मुकाबला इतिहास के पन्नों में नतीजे की बजाय अपने होने की वजह से स्वर्ण अक्षरों में दर्ज हो जाएगा.

इंगलैंड की धरती पर शरू होने वाले क्रिकेट के इस खेल में 14 जून  एक ऐसा अध्याय जुड़ने जा रहा है जो इस खल को वाकई में ग्लोबल बना देगा. इससे पहले क्रिकेट में टेस्ट क्रिकेट खेलने का दर्जा अभी तक उन्हीं देशों को हासिल हुआ है जो या तो सीधे या फिर परोक्ष रूप से ब्रिटिश कभी ना कभी ब्रिटिश राज के गुलाम रहे हैं. लेकिन गुरूवार को जब अफगानिस्तान की टीम अपने पहले टेस्ट को खेलने के लिए मैदान पर उतरेगी तो वह टेस्ट खेलने वाली ऐसी टीम बन जाएगी जिसके देश में ब्रिटिश साम्राज्य का सूरज कभी उदय नहीं हुआ.

team indiaaa

गुरुवार को ही रूस में फुटबॉल के महाकुंभ यानी फीफा वर्ल्ड कप का ईआगाज हो रहा है लेकिन मेसी और क्रिस्टियानो रोनाल्डो के खेल से भी ज्यादा राशिद खान की गुगली खेल प्रेमियों की निगाहों में रहेगी.

टेस्ट क्रिकेट खेलने वाली 12 वीं टीम बनने वाली अफगानिस्तान की टीम में राशिद खान , मुजीब जादरान और मोहम्मद शहजाद जैसे खिलाड़ियों से इस ऐतिहसिक मुकाबले को यादगार बनाने की पूरी उम्मीद है.

वहीं दूसरी ओर नियमित कप्तान विराट कोहली तथा दो मुख्य तेज गेंदबाजों भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह की गैरहाजिरी में टीम इंडिया अजिंक्य रहाणे की कप्तानी में इस ऐतिहासिक मुकाबले शानदार अंजाम तक पहुंचाने में कोई कसर नहीं रखेगी.

राशिद खान पर होंगी निगाहें

पिछले एक साल के अनी फिरकी गेंदबाजी की दम पर क्रिकेट के छोटे फॉर्मेट में अपनी अलग पहतान बनाने वाले राशिध खान पर हर किसी की निगाहें होंगी. टी 20 क्रिकेट में अपने तार ओवर के स्पेल में बड़े से बड़े बल्लेबाजों की नाक में दम करने वाले राशिद खान टस्ट क्रिकेट में कितने कारगर साबित हो सकते हैं इसकी झलक बेंगलुरू के चिन्नास्वामी स्टेडियम में ही दिखाई देगी.

वहीं दूसरी ओर अफगानिस्तान के कोच फिल सिमंस पहले ही कह चुके हैं कि उनके खिलाड़ियों को मैदान पर उतरने तक पता नहीं चलेगा कि टेस्ट क्रिकेट असल में क्या है.

अब जबकि स्ट्राइक रेट का कोई दबाव नहीं होगा तब मुरली विजय और चेतेश्वर पुजारा अपने पांव जमाकर लंबी पारियां खेलने की कोशिश करेंगे. भारत के इन अनुभवी बल्लेबाजों को रोकना अफगानिस्तान के लिये आसान नहीं होगा.

बहरहाल टेस्ट क्रिकेट की नंबर वन टीम भारत और अपना पहला मुकाबला खेल रही अफगानिस्तान के बीच इस मुकाबले के नतीजे के लिओ ज्यादा कयास लगाने की जरूरत नहीं है लेकिन देखना यह होगा कि टेस्ट क्रिकेट की यह नई टीम आखिर कितनी दमदार है.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi