S M L

भारत-साउथ अफ्रीका तीसरा टेस्ट, तीसरा दिन : खतरनाक पिच पर टीम इंडिया मजबूत स्थिति में

भारत ने साउथ अफ्रीका को जीत के लिए 241 रन का लक्ष्य दिया, उसने एक विकेट गंवाकर 17 रन बनाए तभी खेल रोक दिया गया

FP Staff Updated On: Jan 27, 2018 09:55 AM IST

0
भारत-साउथ अफ्रीका तीसरा टेस्ट, तीसरा दिन : खतरनाक पिच पर टीम इंडिया मजबूत स्थिति में

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच जोहानसबर्ग में खेले जा रहे तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में तीसरे दिन का खेल रोमांचक मुकाम पर पहुंचने के बाद पिच की खराब स्थिति और बारिश के कारण समय से पहले समाप्त कर दिया गया. भारत ने शुक्रवार को दूसरी पारी में 247 रन बनाने के बाद साउथ अफ्रीका को जीत के लिए 241 रन का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य दिया.

दूसरी पारी के नौंवे ओवर में जसप्रीत बुमराह की गेंद साउथ अफ्रीका के सलामी बल्लेबाज डीन एल्गर के हेलमेट पर लगी, जिसके बाद अंपायरों ने खेल रोकने का फैसला किया. फिजियो पिच पर आए और एल्गर अपने माथे पर आइस-पैक लगाते दिख रहे थे. अंपायर इयान गोल्ड और अलीम डार पिच पर चर्चा कर रहे थे, तभी मैच रेफरी एंडी पाइक्रोफ्ट भी मैदान पर उनके पास पहुंच गए. इन्होंने दोनों टीमों के कप्तानों को बातचीत के लिए बुलाया और खिलाड़ियों को मैदान से बुला लिया जिसके बाद मैच शुरू नहीं हुआ.

मैच में क्या होगा, अभी नहीं कहा जा सकता, लेकिन भारतीयों की साहसिक बल्लेबाजी ने उन्हें मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया. इस 241 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए साउथ अफ्रीका ने 8.3 ओवर में एक विकेट गंवाकर 17 रन बना लिए. उन्होंने सलामी बल्लेबाज एडेन मार्करम (04) का विकेट खोया जो मोहम्मद शमी की गेंद पर विकेटकीपर को कैच देकर आउट हुए.

पहले दो टेस्ट में टीम से बाहर किये जाने के बाद वापसी करते हुए अजिंक्य रहाणे (48) ने शानदार बल्लेबाजी की. वह कहीं भी गेंद लगने से परेशान नहीं हुए और कप्तान विराट कोहली (41) के आउट होने के बाद उन्होंने भुवनेश्वर कुमार (33) के साथ सातवें विकेट के लिए 55 रन की अहम भागीदारी निभाई. रहाणे ने महज 68 गेंद में छह चौके की मदद से तेजी से रन जुटाए.

रहाणे से पहले सलामी बल्लेबाज मुरली विजय (25) और कोहली के हाथों में भी गेंद लगी. मैदानी अंपायर पिच के हालात के बारे में कई बार चर्चा करते दिखे जिसकी कमेंटेटरों ने लगातार आलोचना की. लेकिन उन्होंने कभी भी खेल नहीं रोका. रहाणे और भुवनेश्वर की साझेदारी के अलावा मोहम्मद शमी (27) ने अंत में काफी अच्छी बल्लेबाजी जिससे भारत की दूसरी पारी 247 रन पर सिमटी और साउथ अफ्रीका को जीत के लिए 241 रन का लक्ष्य मिला.

भारतीय कप्तान ने भी बल्लेबाजी जारी रखने की इच्छा दिखाई थी क्योंकि वह इस बात को जानते हैं कि उन्होंने जीत के लिए मजबूत स्कोर खड़ा कर दिया है. कोहली ने इस पिच पर शानदार खेल दिखाया और इस पारी से वह टेस्ट कप्तान के रूप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों की सूची में महेंद्र सिंह धोनी (60 टेस्ट में 3454 रन) को पछाड़ने में सफल रहे. लेकिन वह 50वें ओवर में कैगिसो रबाडा (59 रन देकर तीन विकेट) की अच्छी गेंद पर बोल्ड हो गए.

साउथ अफ्रीका की ओर से कैगिसो रबाडा, वर्नोन फिलेंडर और मोर्ने मोर्कल ने तीन-तीन सफलता हासिल की, जबकि लुंगी एंगिडी को एक विकेट मिला. तीन मैचों की सीरीज में 0-2 से पीछे चल रहे भारत ने अपनी पहली पारी में 187 रन बनाए थे और फिर साउथ अफ्रीका की पहली पारी 194  रनों पर सीमित कर दी.

 

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
गोल्डन गर्ल मनिका बत्रा और उनके कोच संदीप से खास बातचीत

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi