S M L

भारत-साउथ अफ्रीका पहला टेस्ट, चौथा दिन : दूसरी पारी में ढह गई भारतीय बल्लेबाजी, साउथ अफ्रीका 72 रन से जीता

भारत के सामने 208 रन का लक्ष्य था, लेकिन पूरी टीम 135 रन पर ढेर हो गई

Updated On: Jan 08, 2018 10:01 PM IST

FP Staff

0
भारत-साउथ अफ्रीका पहला टेस्ट, चौथा दिन : दूसरी पारी में ढह गई भारतीय बल्लेबाजी, साउथ अफ्रीका 72 रन से जीता

भारतीय गेंदबाजों ने टीम के लिए जीत का मंच सजाया था, लेकिन उसके बल्लेबाज नहीं चले. भारत की दूसरी पारी में साउथ अफ्रीका अपने मुख्य तेज गेंदबाज डेल स्टेन के बिना उतरा था, जो पहली पारी में गेंदबाजी करते समय चोटिल हो गए थे. लेकिन टीम इंडिया इसका फायदा उठाते हुए हालात के अनुसार प्रदर्शन नहीं कर सकी. नतीजा यह रहा कि वर्नोन फिलेंडर की अगुआई वाले आक्रमण के सामने चोटी के बल्लेबाजों के दूसरी पारी में भी निराशाजनक प्रदर्शन के कारण भारत को सोमवार को पहले टेस्ट मैच के चौथे दिन 72 रन से हार का सामना करना पड़ा. साउथ अफ्रीका ने इस तरह से तीन मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त बनाई. दूसरा टेस्ट मैच 13 जनवरी से सेंचुरियन में खेला जाएगा.

भारत के पास दक्षिण अफ्रीकी सरजमीं पर टेस्ट क्रिकेट में अपनी तीसरी जीत दर्ज करने का सुनहरा अवसर था, लेकिन टीम के नामी बल्लेबाजों ने लगातार दूसरी पारी में साउथ अफ्रीका आक्रमण के सामने घुटने टेक दिए. केपटाउन में भारत के सामने 208 रन का लक्ष्य था, लेकिन उसकी पूरी टीम 42.4 ओवर में 135 रन पर ढेर हो गई. फिलेंडर ने अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 46 रन देकर छह विकेट लिए. भारत की तरफ से आठवें नंबर के बल्लेबाज रविचंद्रन अश्विन ने सर्वाधिक 37 रन बनाए. फिलेंडर, मोर्ने मोर्केल (2/39) और कैगिसो रबादा (2/41) ने स्टेन की कमी नहीं खलने दी. उन्होंने अपनी तेजी और उछाल लेती गेंदों से भारतीय बल्लेबाजों को गलतियां करने के लिए मजबूर किया.

बल्लेबाजों की नाकामी से भारतीय गेंदबाजों का शानदार प्रदर्शन भी बेकार चला गया. मोहम्मद शमी (3/28) और जसप्रीत बुमराह (3/39) ने चौथे दिन पहले सत्र में कहर बरपाया, जिससे भारत ने 65 रन के अंदर दक्षिण अफ्रीका के बाकी बचे आठ विकेट निकालकर उसकी पूरी टीम को दूसरी पारी में 130 रन पर ढेर कर दिया. तीसरे दिन का खेल बारिश की भेंट चढ़ने के बाद चौथे दिन 200 रन बने और इस बीच 18 विकेट गिरे.

11 रन के अंदर चार विकेट गंवाए

शिखर धवन (16) और मुरली विजय (13) को शुरू से संघर्ष करना पड़ा. वे लगातार दूसरी पारी में अच्छी शुरुआत देने में नाकाम रहे. भारत ने नौ रन के अंदर दोनों सलामी बल्लेबाजों के अलावा भरोसेमंद चेतेश्वर पुजारा (04) का विकेट गंवा दिया. कप्तान विराट कोहली (28) और रोहित शर्मा (10) ने चौथे विकेट के लिए 32 रन जोड़कर कुछ उम्मीद बंधाई, लेकिन भारत ने फिर 11 रन के अंदर चार विकेट गंवा दिए

फिलेंडर ने झटके एक ओवर में तीन विकेट

पहली पारी के नायक पांड्या (01) ने इसके बाद रबाडा की गेंद पर स्लिप में कैच थमाया. ऋद्धिमान साहा (08) को चाय से ठीक पहले रबाडा ने एलबीडब्ल्यू आउट किया. अश्विन और भुवनेश्वर कुमार (नाबाद 13) ने इसके बाद आठवें विकेट के लिए 49 रन की साझेदारी करके भारतीय खेमे में चमत्कार की हल्की उम्मीद जगाई. इन दोनों ने मंझे हुए बल्लेबाजों की तरह कुछ अच्छे शॉट लगाए और 78 गेंद तक कोई विकेट नहीं गिरने दिया. फिलेंडर ने ऐसे समय में एक ओवर में तीन विकेट लेकर भारतीय पारी का अंत किया. उनकी पहली गेंद पर क्विटंन डिकॉक ने अश्विन का बेहतरीन कैच लिया. अपनी तीसरी और चौथी गेंद पर उन्होंने शमी (04) और बुमराह को स्लिप में कैच कराया. फिलेंडर को मैन ऑफ द मैच चुना गया.

शमी ने साउथ अफ्रीका को ढहाया

इससे पहले तीसरे दिन का खेल बारिश की भेंट चढ़ जाने के बाद साउथ अफ्रीका ने सुबह दो विकेट पर 65 रन से आगे खेलना शुरू किया और दूसरे ओवर से ही विकेटों का पतन शुरू हो गया. शमी ने हाशिम अमला (04) को गली में खड़े रोहित के हाथों कैच कराया, जिन्होंने नीचा कैच लिया. इसका फैसला करने के लिए तीसरे अंपायर की मदद ली गई. रीप्ले से बहुत स्पष्ट नहीं हो रहा था और आखिर में मैदानी अंपायर ने उन्हें आउट दे दिया. इसके चार ओवर बाद शमी ने नाइटवॉचमैन रबाडा (05) को दूसरी स्लिप में कैच कराया. कप्तान फाफ ड्यू प्लेसी (00) भी नहीं टिक पाए. बुमराह ने उन्हें विकेटकीपर साहा के हाथों कैच कराकर स्कोर पांच विकेट पर 82 रन कर दिया.

बुमराह भी चमके

बुमराह ने इसके बाद डिकॉक (08) को भी पवेलियन भेजकर स्कोर छह विकेट पर 92 रन कर दिया. एबी डिविलियर्स (35) ने एक छोर संभाले रखा और इस बीच दो चौके और दो छक्के लगाए. उन्हें हालांकि दूसरे छोर से कोई मदद नहीं मिली. शमी ने फिलेंडर (00) को एलबीडब्ल्यू आउट करके छह ओवर में 11 रन देकर तीन विकेट हासिल किए. दक्षिण अफ्रीका ने 35वें ओवर में 100 रन की संख्या पार की. महाराज (15) ने कुछ शॉट लगाए. इसके बाद भुवनेश्वर (2-33) गेंदबाजी के लिए आए और उन्होंने महाराज को विकेट के पीछे कैच कराया. साहा ने मैच का अपना दसवां कैच भुवनेश्वर की गेंद पर मोर्ने मोर्केल (02) का लिया. साहा ने बनाया दस कैच का रिकॉर्ड

साहा ने इस मैच में दस कैच लिए जो भारतीय रिकॉर्ड है. साहा ने एक मैच में सर्वाधिक शिकार का महेंद्र सिंह धोनी का भारतीय रिकॉर्ड तोड़ा, जिन्होंने अपने आखिरी टेस्ट मैच में मेलबर्न में 2014 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नौ शिकार किए थे, जिसमें आठ कैच और एक स्टंप शामिल है. बुमराह ने आखिर में डिविलियर्स को सीमा रेखा पर कैच कराया जो तेजी से रन बनाने के प्रयास में लंबा शॉट खेलना चाह रहे थे. डेल स्टेन टखने की चोट के बावजूद बल्लेबाजी के लिए उतरे और नाबाद रहे.

स्कोर - साउथ अफ्रीका (पहली पारी) 286 रन भारत (पहली पारी) 209 रन साउथ अफ्रीका (दूसरी पारी) 130 रन भारत (दूसरी पारी)- 135 रन

(एजेंसी इनपुट के साथ)

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi