S M L

भारत-इंग्‍लैंड टेस्ट: 8 साल बाद क्यों याद आए पार्थिव?

क्या ऋषभ पंत को दिया जाना चाहिए था मौका

Updated On: Nov 24, 2016 08:54 AM IST

FP Staff

0
भारत-इंग्‍लैंड टेस्ट: 8 साल बाद क्यों याद आए पार्थिव?

पार्थिव पटेल ने पिछला टेस्ट खेला था, तब साल था 2008. पहला टेस्ट खेला, तब साल था 2002. महेंद्र सिंह धोनी ने उस वक्त अपना पहला टेस्ट भी नहीं खेला था. धोनी अब रिटायर हो चुके हैं.

ऐसे में पार्थिव पटेल ने वापसी की है. यह कोई आम बात नहीं कि कोई आठ साल बाद टेस्ट क्रिकेट मे वापसी करे. सवाल यही है कि क्या पार्थिव को चुनकर सही फैसला किया गया है?

सबसे पहले हमें देखना होगा कि ऋद्धिमान साहा की जगह विकल्प क्या थे. पहला विकल्प नमन ओझा, जो हाल ही में चोट से उबरकर आए हैं. ऐसे में उन्हें लेना आसान नहीं था.

दूसरा नाम दिनेश कार्तिक, जिन्होंने सात रणजी मैचों में 574 रन बनाए हैं, 63.77 की औसत से. तीसरा नाम ऋषभ पंत का है, जो अंडर 19 क्रिकेट से उभरे और इस वक्त रणजी ट्रॉफी के छह मैचों में 874 रन बना चुके हैं.

इसमें एक तिहरा शतक भी शामिल है. शायद चयनकर्ता चाहते होंगे कि पंत कुछ समय और घरेलू क्रिकेट खेलें. ऐसे में दिनेश कार्तिक और पार्थिव पटेल में चुनाव करना था.

पार्थिव ने पांच रणजी मैचों में 415 रन 59.28 की औसत से बनाए हैं. ऐसे में कार्तिक और उनमें ज्यादा फर्क बल्लेबाजी के लिहाज से नहीं था. दोनों की उम्र में भी ज्यादा फर्क नहीं है. शायद कीपिंग में बेहतर प्रदर्शन और बाएं हाथ का बल्लेबाज होना पार्थिव के पक्ष में गया.

हमें याद रहता है कि 2002 में सौरव गांगुली की कप्तानी में पहली बार पार्थिव को चुना गया था. यह भी याद रखना चाहिए कि तब उनकी उम्र 17 साल थी. अभी वह महज 31 साल के हैं, जो विकेट कीपर के लिए बहुत ज्यादा नहीं है.

पिछली बार जब श्रीलंका के खिलाफ सीरीज के लिए उन्हें आठ साल पहले चुना गया था, तब सबको पता था कि धोनी की वापसी के साथ ही पार्थिव की विदाई हो जाएगी. क्या इस बार भी उन्हें महज साहा के फिट होने तक के लिए ही लिया गया है?

हमें याद रखना चाहिए कि साहा के लिए राजकोट टेस्ट कीपर के तौर पर बहुत अच्छा नहीं रहा था. बल्लेबाजी में भी चार पारियों में 49 रन ही रहे हैं. ऐसे में अच्छी कीपिंग के साथ कमाल की पारी पार्थिव का करियर बदल सकती है.

पिछले टेस्ट से अब तक उन्होंने 83 टेस्ट में भारतीय टीम को खेलते बाहर से देखा है. लेकिन वह कुछ समय टीम में बिताने की उम्मीद कर सकते हैं.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi