S M L

स्पिनर्स ने मैच पर बनाई पकड़, पहले बल्ले से, फिर गेंद से

भारत-इंग्लैंड, मोहाली टेस्ट : इंग्लैंड के चार विकेट गिरे, पारी की हार से बचने के लिए 56 रन की और जरूरत

Updated On: Nov 28, 2016 04:59 PM IST

Shailesh Chaturvedi Shailesh Chaturvedi

0
स्पिनर्स ने मैच पर बनाई पकड़, पहले बल्ले से, फिर गेंद से

भारतीय सरजमीं पर होने वाले किसी भी मैच में नजरें स्पिनर पर होती हैं. उम्मीद होती है कि पिच से मदद मिलेगी. स्पिनर्स विपक्षी टीम को ध्वस्त कर देंगे. मोहाली में भी यही हुआ. लेकिन गेंद से पहले बल्ले से स्पिनर्स ने इंग्लिश टीम को ध्वस्त करने में कामयाबी पा ली.

अश्विन, जयंत यादव और रवींद्र जडेजा, ये तीन नाम ऐसे थे, जिन्होंने तय कर दिया कि मोहाली टेस्ट के तीसरे दिन इंग्लैंड टीम किसी भी हालत मे वापसी नहीं करने वाली. पहले भारत ने 417 रन बनाकर 134 रन की बढ़त ली. उसके बाद शाम होते-होते इंग्लैंड के चार खिलाड़ियों को पैवेलियन भेजकर मैच का नतीजा लगभग साफ कर दिया. इंग्लैंड का स्कोर चार विकेट पर 78 है. जो रूट और गैरेथ बैटी बैटिंग कर रहे हैं. अब भी पारी की हार इंग्लैंड के लिए 56 रन दूर है.

भारतीय बल्लेबाजों ने की जमकर बल्लेबाजी

दूसरा दिन खत्म हुआ था, तो भारत इंग्लैंड की पहली पारी के 283 रन से 12 रन पीछे था. अगर सुबह जल्दी विकेट निकलते, तो मुकाबला पूरी तरह खुल सकता था. लेकिन स्पिनर्स ने इसकी नौबत नहीं आने दी. दूसरी शाम अश्विन और जडेजा बल्लेबाजी कर रहे थे. दोनों ने स्कोर को 300 के पार पहुंचाया. 97 रन की साझेदारी हुई. अश्विन किसी भी टॉप ऑर्डर बल्लेबाज से ज्यादा ठोस दिखाई दिए. आखिर वो 72 रन बनाकर आउट हुए.

Mohali: Indian batsman Ravindra Jadeja plays a shot on the third day of the third Test match between India and England in Mohali on Monday. PTI Photo by Vijay Verma(PTI11_28_2016_000035B)

90 रन की पारी के दौरान रवींद्र जडेजा.

इसके बाद भी इंग्लैंड की मुश्किलें कम नहीं हुईं. अश्विन गए, तो जयंत यादव आ गए, जो स्पेशलिस्ट बल्लेबाज ही दिखाई दे रहे हैं. जडेजा और जयंत यादव के बीच 80 रन की साझेदारी हुई. जडेजा ने अचानक आक्रामक रुख अपनाया. चार चौके एक ओवर में लगाए. उसके बाद छक्का लगाने की कोशिश में वो 90 रन पर आउट हो गए.

जयंत यादव ने जमाया करियर का पहला अर्ध शतक

जयंत यादव ने उमेश यादव के साथ भी उपयोगी रन जोड़े. जयंत आखिर 55 रन बनाकर आउट हुए. इन तीनों स्पिनर्स ने मिलकर 217 रन जोड़े. बाकी आठ बल्लेबाजों ने भारतीय पारी में 200 रन बनाए. इससे तीनों की अहमियत समझी जा सकती है.

इंग्लैंड की दूसरी पारी भी लड़खड़ाई

इसके बाद भी दिन भारतीय स्पिनर्स के नाम ही रहा. इंग्लैंड दूसरी पारी में 134 रन से पीछे रहते हुए बल्लेबाजी के लिए उतरा. कप्तान एलिस्टर कुक के साथ दूसरे ओपनर हमीद की जगह कुक थे. हमीद की उंगली में चोट है. जिस तरह पहली पारी में अंग्रेज बल्लेबाजों ने गलतियां की थीं, वो दूसरी पारी में भी जारी रहीं. बैट और पैड के बीच बड़े गैप से अश्विन की गेंद ने स्टंप ढूंढ लिया और कुक को पैवेलियन जाना पड़ा.

मोईन अली को लगा कि जिस हालत में इंग्लैंड है, वहां सबसे अच्छा तरीका है आक्रमण करना. लेकिन अश्विन पर आक्रमण उन्हें महंगा पड़ा. जयंत यादव को वो कैच दे बैठे. यानी यहां कैच के मामले में भी स्पिनर का साथ स्पिनर ने दिया. दिन का तीसरा विकेट पहली पारी के हीरो जॉनी बेयरस्टो का था था. पार्थिव पटेल ने जयंत यादव की गेंद पर बेहतरीन कैच लेकर उन्हें आउट किया. दिन खत्म होते-होते बेन स्टोक्स को रिव्यू के जरिए अश्विन ने एलबीडबल्यू कर दिया. यानी चार विकेट में तीन अश्विन और एक जयंत यादव के नाम है. भारत मंगलवार की सुबह इस उम्मीद के साथ मैदान पर उतरेगा कि मैच इसी दिन खत्म हो जाए.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
KUMBH: IT's MORE THAN A MELA

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi