S M L

भारत साउथ अफ्रीका, चौथा वनडे: साउथ अफ्रीका में सीरीज जीतने का भारत का इंतजार हुआ लंबा

चौथे वनडे में मेजबान टीम ने भारत को पांच विकेट से दी मात, काम ना आया शिखर धवन का स्पेशल शतक

Sumit Kumar Dubey Sumit Kumar Dubey Updated On: Feb 11, 2018 10:13 AM IST

0
भारत साउथ अफ्रीका, चौथा वनडे: साउथ अफ्रीका में सीरीज जीतने का भारत का इंतजार हुआ लंबा

साउथ अफ्रीका की धरती पर पहली वनडे सीरीज जीतने के भारतीय सपने को पूरा होने में अभी और वक्त लगेगा. जोहानसबर्ग के वांडरर्स में खेले गए सीरीज के चौथे मुकाबले में मेजबान टीम ने भारत को पांच विकेट से मात देते हुए सीरीज में अपना पहला मुकाबला जीता और सीरीज में जीत -हार के अंतर को 1-3 से कम किया.

बारिश बाधित इस मुकाबले में मेजबान टीम को जीत के लिए डकवर्थ/लुइस नियम के तहत 28 ओवर में 202 रन का टारगेट सेट किया गया था जो उसने पांच विकेट रहते हासिल कर लिया.

एक वक्त था जब लग रहा था कि भारतीय टीम इस मैच को भी जीतकर साउथ अफ्रीका की धरती पर इतिहास रच देगी लेकिन मिलर और क्लासन के बीच पांचवें विकेट के लिए हुई 72 रन की पार्टनरशिप ने मैच का रुख बदल कर रख दिया.

बहुत खर्चीले साबित हुए चहल-कुलदीप

इस सीरीज के पहले तीन मुकाबलों में मेजबान टीम के लिए मुसीबत बनी भारत के फिरकी गेंजदबाज चहल और कुलदीप की जोड़ी ने इस मैच में भी मिलकर तीन विकेट हासिल किए लेकिन उनकी इतनी ज्यादा पिटाई हो गई जो टीम इंडिया पर भारी पड़ी.

कुलदीप ने छह ओवर में 51 रन देकर दो विकेट हासिल किए जबकि चहल ने 5.3 ओवर में 68 रन खर्च करके एक विकेट हासिल किया.

धवन का स्पेशल शतक गया बेकार

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबजी करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही. जब टीम का स्कोर महज 20 रन ही था तब रोहित शर्मा बस पांच रन बनाकर रबाडा का शिकार बनकर पैवेलियन वापस लौट गए.

इसके बाद कप्तान कोहली और शिखर धवन के बीच दूसरे विकेट के लिए 158 रन की जोरदार साझेदारी हुई. कोहली 75 रन बनाकर आउट हुए जबकि अपने करियर का 100 वां वनडे खेल रहे धवन ने इस मौके पर जोरदार शतक जमाया. आउट होने से पहले वह अपनी 109 रन की पारी में11 चौके और दो छक्के जड़ चुके थे.

इन दोनों के आउट होने के बाद भारत की पारी थोड़ी धीमी पड़ गई . हालांकि धोनी ने आखिर तक उसमें जान डालने की कोशिश की और वह 43 गेंद पर 42 रन बनाकर नाबाद रहे. भारत ने 50 ओवर में सात विकेट पर 289 रन का स्कोर खड़ा किया. हालांकि  बारिश के चलते मेजबान टीम के टारगेट को छोटा कर दिया गया.

स्तन कैंसर के प्रति जागरुकता फैलाने और डोनेशन इकट्ठा करने के मकसद से इस वनडे को पिंक वनडे का नाम दिया गया था और मेजबान टीम के खिलाड़ी पिंक जर्सी में खेलने उतरे थे. इस तरह का यह कुल छठा मुकाबला था और साउथ अफ्रीका की टीम अब तक ऐसा कोई भी मुकाबला नहीं हारी है. हालांकि पिंक वनडे में हमेशा जोरदार प्रदर्शन करने वाले एबी डी विलियर्स की वापसी जोरदार नहीं रही और वह 18 गेदों पर 26 रन ही बना सके.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
सदियों में एक बार ही होता है कोई ‘अटल’ सा...

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi