S M L

भारत बनाम साउथ अफ्रीका: इस 'धीमी' पारी से वर्ल्ड रिकॉर्ड के करीब पहुंच गए पुजारा!

चेतेश्वर पुजारा ने जोहानसबर्ग टेस्ट में खाता खोलने के लिए ही 53 गेंदें खेल लीं, अनचाहा वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाते-बनाते चूके पुजारा

Updated On: Jan 24, 2018 09:22 PM IST

FP Staff

0
भारत बनाम साउथ अफ्रीका: इस 'धीमी' पारी से वर्ल्ड रिकॉर्ड के करीब पहुंच गए पुजारा!

जोहानसबर्ग में तीसरे टेस्ट में भी टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने वहीं पुरानी कहानी दोहरा दी जिसके लिए इस सीरीज में उनकी आलोचना हो रही है. रिकॉर्ड बुक में बड़े-बड़े कारनामे अपने नाम लिखाने वाली टीम इंडिया की बल्लेबाजी एक बार फिर से पटरी से उतर गई.

टीम इंडिया की यह हालत और भी ज्यादा बुरी हो सकती थी अगर चेतेश्वर पुजारा एक छोर पर खूंटा गाढ़ कर खड़े नहीं होते. महज 13 रन के स्कोर पर सलामी जोड़ी के वापस लौटने के बाद पुजारा ने कप्तान कोहली के साथ 84 रन की पार्टनरशिप की. लेकिन भारत के लिहाज से इस पार्टनरशिप से भी ज्यादा खास वह वक्त था जो पुजारा ने क्रीज पर बिताया.

इससे पहले इस सीरीज की चार पारियों में सस्ते में आउट हुए पुजारा इस पारी मानो विकेट पर टिककर खेलने की कसम खाकर आए थे. अपनी इसी कोशिश में पुजारा एक वक्त ऐसा रिकॉर्ड बनाने के करीब पहुंच गए जिसे शर्मनाक कहा जा सकता है.

दरअसल पुजारा ने इस पारी में खाता खोलने के लिए 53 गेंदें खेल लीं. भारत के किसी भी बल्लेबाज के लिए यह एक रिकॉर्ड है. हालांकि इस मामले में वह वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी करने से बच गए.

किसके नाम है 'वर्ल्ड रिकॉर्ड'

इग्लैंड के जॉन मरे ने 1962-63 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना खाता खोलने के लिए 79 गेंदें खेली थीं. दूसरे नंबर पर कीवी बल्लेबाज ज्यॉफ एलॉट हैं जिन्होंने 1999 में साउथ फ्रीकी के खिलाफ खाता खोलने के लिए 77 गेंदें खेल ली थी. तीसरे नंबर पर भारत के चेतेश्वर पुजारा का नाम लिख गया है. पुजारा आखिरकार अपना अर्द्धशतक लगाने में कामयाब रहे और 179 गेंदों पर 50 रन बनाकर आउट हुए.

पुजारा की इस धीमी पारी को अगर रिकॉर्ड बुक के चश्मे से देखेंगे तो यह बेहद खराब नजर आएगी लेकिन अगर इस मैच के हालात को मद्देनजर रखकर पुजारा की पारी का आकलन किया जाए तो इस पारी ने भारत के स्कोर को 187 रन तक पहुंचाने में अहम भूमिका अदा की.

0

अन्य बड़ी खबरें

वीडियो
#MeToo पर Neha Dhupia

क्रिकेट स्कोर्स और भी

Firstpost Hindi